क्या है ब्रिक्स, जिसके 11वें शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिये ब्राज़ील गये हैं पीएम मोदी ?

रिपोर्ट : विनीत दुबे

अहमदाबाद, 13 नवंबर, 2019 (युवाPRESS)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ब्रिक्स देशों के 11वें शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिये दो दिन के दौरे पर ब्राज़ील गये हैं, जहाँ ब्राज़ील की राजधानी ब्रासीलिया में उतरने पर बुधवार को उनका भव्य स्वागत किया गया। प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी बयान के अनुसार पीएम मोदी छठी बार ब्रिक्स के शिखर सम्मेलन में शिरकत करने वाले हैं। पहली बार उन्होंने वर्ष 2014 में ब्राज़ील में ही फोर्टालेजा में आयोजित हुए शिखर सम्मेलन में भाग लिया था। पीएम मोदी के साथ देश के उद्योगपतियों का एक बड़ा प्रतिनिधि मंडल भी गया है। यह प्रतिनिधि मंडल ब्रिक्स देशों के बिज़नेस फोरम में शिरकत करेगा, जिसमें सभी 5 ब्रिक्स देशों के व्यावसायिक प्रतिनिधि मंडल भाग लेंगे।

क्या है ब्रिक्स और क्या है इसका महत्व ?

ब्रिक्स दुनिया की तेजी से उभरती 5 राष्ट्रीय अर्थव्यवस्थाओं का एक संघ है, जिसमें 5 देश ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं। इन पाँचों देशों के प्रथमाक्षरों को लेकर ब्रिक्स शब्द का निर्माण हुआ है। ब्राज़ील का बी, रूस का आर, भारत का आई, चीन का सी और दक्षिण अफ्रीका का एस मिला कर (BRICS) बना है। दक्षिण अफ्रीका इसमें 2010 में शामिल हुआ, इससे पहले इस संघ का नाम ब्रिक था। रूस को छोड़ कर ब्रिक्स के सभी सदस्य देश विकासशील या नव औद्योगीकृत देश हैं, जिनकी अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ रही है। इन 5 देशों में दुनिया की कुल जनसंख्या की 42 प्रतिशत जनसंख्या रहती है। इस प्रकार यह 5 देश दुनिया की सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का 23 प्रतिशत प्रतिनिधित्व करते हैं। विश्व व्यापार में भी ये ब्रिक्स देश 17 प्रतिशत हिस्सेदारी रखते हैं।

उन्नत भविष्य के लिये आर्थिक विकास के लिये होगी चर्चा

इस 11वें सम्मेलन का इस बार का विषय ‘अभिनव भविष्य के लिये आर्थिक वृद्धि’ है, इससे संकेत मिलता है कि इस सम्मेलन में ब्रिक्स देश मिलकर आर्थिक वृद्धि पर जोर देने वाले हैं। इसके लिये पीएम मोदी रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से अलग-अलग द्विपक्षीय वार्ता करेंगे तथा ब्रिक्स बिज़नेस फोरम के मुख्य सत्र और समापन समारोह में भी शिरकत करेंगे। सम्मेलन में वर्तमान तथा भावी चुनौतियों और अवसरों के बारे में बातचीत होने की संभावना है। इसके बाद ब्रिक्स का पूर्ण अधिवेशन होगा, जिसमें ब्रिक्स के सभी नेताओं की ओर से आपस में आर्थिक विकास के लिये सहयोग बढ़ाने पर बातचीत होगी। पीएम मोदी ब्रिक्स बिज़नेस कौंसिल के नेताओं के साथ भी बैठक में भाग लेंगे। इसमें ब्राज़ीलियन ब्रिक्स बिज़नेस कौंसिल के अध्यक्ष व न्यू डेवलपमेंट बैंक के अध्यक्ष अपनी-अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करने वाले हैं। इस बैठक में व्यापार और निवेश प्रमोशन एजेंसियों के बीच मेमोरेंडम ऑफ अण्डरटेकिंग (MOU) पर हस्ताक्षर होंगे। सम्मेलन समाप्त होने पर सभी नेता एक संयुक्त घोषणा भी जारी करेंगे।

You may have missed