रिपोर्ट : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद, 29 जुलाई, 2019 (युवाPRESS)। उपरोक्त तसवीर में दिखाई दे रहा केवल 37 वर्षीय युवक कभी एक मामूली क्लास टीचर हुआ करता था। दो लाख रुपए से कोचिंग क्लास शुरू करने वाला यह युवक केवल 8 वर्ष के अल्प कार्यकाल और अथक तकनीकी परिश्रम से अब देश का नया अरबपति बन गया है।

जी हाँ। इनका नाम है बायजू रवीन्द्रन। बायजू नाम पढ़ते ही आपको अनुमान हो आया होगा कि हम ऑनलाइन एजुकेशन का काम कर रही BYJU’S एप की बात कर रहे हैं। बायजू के संस्थापक और मुख्य कार्यवाहक अधिकारी (FOUNDER AND CEO) रवीन्द्रन एक समय टीचर थे, परंतु आज उनकी कंपनी थिंक एण्ड लर्न लगभग 6 लाख बिलियन डॉलर की कंपनी बन गई है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार रवीन्द्रन की कंपनी थिंक एण्ड लर्न ने जुलाई महीने के आरंभ में 150 मिलियन डॉलर की फंडिंग जुटाई थी। कंपनी के पास 21 प्रतिशत से अधिक शेयर हैं। रवीन्द्र ने चार साल पहले ही 2005 में लर्निंग एप बायजू लॉन्च की थी, जिसके हाल में 24 लाख पेड सबस्क्राइबर्स हैं और यूज़र्स की संख्या तेजी से बढ़ रही है।

क्लासरूम टीचर से यूँ बने सेलेब्रिटी टीचर

दक्षिण भारत के एक समुद्र तटवर्ती गाँव में जन्मे रवीन्द्रन के माता-पिता स्कूल टीचर थे, रवीन्द्रन का मन स्कूल में नहीं लगता था। वे अक्सर फुटबॉल खेलने चले जाते थे और घर में पढ़ाई करते थे। पढ़ाई पूरी करने के बाद रवीन्द्रन इंजीनियर बने और परीक्षा की तैयारी में अन्य विद्यार्थियों की सहायता करने लगे। उनके क्लासेज़ में विद्यार्थी इतने बढ़ गए कि उन्होंने स्टेडियम में एक साथ हजारों विद्यार्थियों को पढ़ाना शुरू किया। इस तरह बायजू रवीन्द्रन एक क्लासरूम टीचर से सेलेब्रिटी टीचर बन गए।

तेजी से बढ़ रही है बायजू एप

रवीन्द्रन ने एक बार कहा था कि वे देश की शिक्षा व्यवस्था के लिए ऐसा काम करना चाहते हैं, जो डिज़्नी ने मनोरंजन के लिए किया है। उन्होंने 2015 में महज 2 लाख रुपए खर्च करके ऑनलाइन लर्निंग एप बायजू लॉन्च की, जिसमें डिज़्नी के सिंबा और अन्ना कैरेक्टर को भी शामिल किया। इस एप के जरिए बच्चे सीखना शुरू करें, उससे पहले सिंबा उन्हें आकर्षित करेगा। रवीन्द्रन कहते हैं कि ऑनलाइन लर्निंग में बायजू तेजी से बढ़ रहा है। इसका राजस्व दुगुने से भी अधिक होने की आशा है। मार्च-2020 तक इसका राजस्व 3,000 करोड़ रुपए पहुँच सकता है। ऑनलाइन लर्निंग इण्डस्ट्री में बायजू के कदम रखने के बाद कंपनी ने फेसबुक के फाउंडर मार्क ज़करबर्ग तक का ध्यान खींचा था। 2016 में मार्क ज़करबर्ग फाउंडेशन (CZI) तथा चार अन्य कैपिटल वेंचर से बायजू को 50 मिलियन डॉलर यानी 333 करोड़ रुपए का फंड मिला था।

You may have missed