सज्जनार ‘THE SINGHAM’ : देखिए कैसे हैदराबाद पुलिस पर बरस रहे प्रसंशा के फूल…

रिपोर्ट : तारिणी मोदी

अहमदाबाद 6 दिसंबर, 2019 (युवाPRESS)। सज्जनार द सिंघम यानी हैदराबाद (साइबराबाद) पुलिस आयुक्त वी. सी. सज्जनार के नेतृत्व वाली पुलिस की टीम ने वो कारनाम कर दिखाया है, जो सामान्यत: फिल्मों मे देखा जाता रहा है। हैदराबाद की पीड़िता के आरोपियों को जिस प्रकार पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया, उस पर प्रश्न उठाने वालों की संख्या छोटी नहीं है, परंतु सज्जनार और उनकी हैदराबाद पुलिस की प्रशंसा पूरा देश कर रहा है और उनकी संख्या बहुत बड़ी है। यहाँ तक कि फिल्म सिंघम की तर्ज पर लोग हैदराबाद पुलिस आयुक्त सज्जनार को रीयल लाइफ का सिंघम बता रहे हैं, तो आम जनता भी हैदराबाद पुलिस के एनकाउंटर पर जश्न मना रही है।

हैदराबाद पुलिस ने महिला पशु चिकित्सक के साथ की गई बर्बरता के आरोपियों को उसी जगह मुठभेड़ में मार गिराया, जहाँ उन्होंने अपनी दरिंदगी दिखाई थी। इसके बाद तो घटनास्थल पर लोग उमड़ पड़े। लोगों ने हैदराबाद पुलिस के जवानों पर फूलों की बरसात की और उनके सम्मान में ज़िंदाबाद के नारे भी लगाए। हमारे देश में पुलिस बल को अक्सर लोग अकर्मण्यता और घृणा की नज़रों से देखा जाता है, परंतु आज इसी पुलिस बल की चौतरफा तारीफ हो रही है। 28 नवंबर, 2019 को एक ऐसा भयानक दिन, जब भारत की एक बेटी और सरकारी महिला पशु चिकित्सक को तार-तार कर दिया गया था। हैदराबाद पुलिस ने घटना के नौवें दिन ही पीड़िता के साथ मानो ‘न्याय’ कर दिया। जैसे ही लोगों को पता चला कि पीड़िता के सभी आरोपियों का एनकाउंटर हो गया है, लोग अपना सारा आवश्यक कार्य छोड़ घटनास्थल पर जा पहुँचे। जब लोगों ने देखा कि वास्तव में पीड़िता के आरोपी अपने कर्मों की सजा पा चुके हैं, तो मौक़े पर मौजूद भीड़ ने वहाँ उपस्थित पुलिस कर्मियों पर फूलों की वर्षा कर दी।

दरअसल हुआ ये कि पुलिस सभी चारों आरोपियों को रिकंस्ट्रक्शन के लिए उसी स्थान पर लेकर गई थी, जहाँ इन चारों आरोपियों ने दुष्कर्म के बाद पीड़िता को जला दिया था। पुलिस का दावा है कि आरोपियों को रिकंस्ट्रक्शन के लिए घटनास्थल पर ले जाया गया, परंतु इससे पहले की पुलिस कुछ जाँच कर पाती, आरोपियों पुलिस का हथियार लेकर भागने की कोशिश की। आरोपियों को पकड़ने के लिए जवाबी कार्यवाही के तहत पुसिल ने सभी आरोपियों पर फायर कर दी और जिसके चलते उन सब की मौत हो गई। एनकाउंटर की ख़बर जैसे ही तेलंगाना के लोगों को पता चली, तो लोग सैलाब की तरह घटनास्थल पर उमड़ पड़े और ‘त्वरित न्याय’ करने वाले सभी पुलिस आधिकारियों-कर्मचारियों पर फूल बरसाने लगे। इतना ही नहीं, लोगों ने ACP जिंदाबाद और DCP जिंदाबाद का उद्घोष भी किया, वहीं पुलिस एनकाउंटर पर खुशी जताते हुए पीड़िता की बहन ने पुलिस की इस कार्रवाई को एक उदाहरण बताया है।

यह एक ऐसी घटना है जिसकी कल्पना शायद ही किसी ने की होगी। आरोपियों को उनके कर्मों का दण्ड समय से पूर्व और अपराध सिद्ध होने से पूर्व ही मिल जाने से जहाँ लोग ख़ुश हैं, वहीं पुलिस की इस कार्रवाई को लेकर मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने सवाल भी उठाए हैं। दूसरी तरफ तेलंगाना के विधि मंत्री इंद्रकरण रेड्डी ने तो यहाँ तक कह दिया कि ये भगवान का न्याय है। पीड़िता को इस प्रकार मिले न्याय का पूरा देश समर्थ कर रहा है। पीड़िता के पिता और बहन ने भी अपनी खुशी ज़ाहिर करते हुए सरकार को बधाई दी है। एनकाउंटर की ख़बर के बाद से ही ट्विटर पर एक के बाद एक ट्वीट की झड़ी-सी लग गई है, जिसमें लोग हैदराबाद पुलिस को समर्थन दे रहे हैं।

You may have missed