BUDGET 2019 : मध्यम वर्ग को मोटी राहत : होम लोन के ब्याज पर अब मिलेगी 3.5 लाख की टैक्स छूट

अहमदाबाद, 5 जुलाई 2019 (YUVAPRESS)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली नई एनडीए सरकार ने मध्यम वर्ग को बड़ी राहत देने का ऐलान किया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नई सरकार का पहला वार्षिक बही खाता पेश करते हुए 45 लाख रुपये का मकान खरीदने पर होम लोन में मिलने वाली 2 लाख रुपये की आयकर छूट को बढ़ाकर 3.5 लाख रुपये करने की घोषणा की है। यह छूट उन लोगों को मिलेगी जो 31 मार्च-2020 तक घर खरीदेंगे।

होम लोन के ब्याज में मिलने वाली टैक्स छूट बढ़ी

2019-20 का वार्षिक बही खाता पेश करते हुए केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मध्यम वर्ग के टैक्स छूट की घोषणा की है। उन्होंने 45 लाख रुपये तक की कीमत वाला मकान खरीदने पर होम लोन के ब्याज में मिलने वाली 2 लाख रुपये की टैक्स छूट को बढ़ाकर 3.5 लाख रुपये करने की घोषणा की। इस प्रकार उन्होंने टैक्स छूट डेढ़ लाख रुपये बढ़ाई है। उल्लेखनीय है कि होम लोन की मासिक किश्त (EMI) में मूल धन और ब्याज दोनों शामिल होते हैं। यदि आप होम लोन की ईएमआई की डीटेल देखें तो पता चलेगा कि प्रारंभिक वर्षों में ब्याज की हिस्सेदारी अधिक होती है और मूलधन की हिस्सेदारी कम होती है। अर्थात् होम लोन की मासिक किश्त के रूप में बैंक को जितनी रकम दी जाती है, उसमें मूल धन वाले हिस्से पर आयकर कानून के सेक्शन 80C के तहत टैक्स बचाया जा सकता है। इसी प्रकार आयकर कानून के सेक्शन 24 के तहत आयकर में छूट का लाभ लिया जा सकता है।

सेक्शन 80C के अंतर्गत होम लोन के मूलधन की रकम की अदायगी पर वार्षिक 1.5 लाख रुपये तक की टैक्स छूट मिलती है। साथ ही पहले सेक्शन 24 में ब्याज के भुगतान पर 2 लाख रुपये तक की रियायत मिलती थी। इसे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने डेढ़ लाख रुपये बढ़ाकर 3.5 लाख रुपये कर दिया है।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत लोन लेने वालों को भी ब्याज दर में सब्सिडी का लाभ दिया जाता है। इस योजना के तहत होम लोन की ब्याज दर में मिलने वाली 2.6 लाख रुपये तक की सब्सिडी को कुछ और समय के लिये बढ़ा दिया गया है।

Leave a Reply

You may have missed