दो दिन में 29,000 करोड़ बढ़ी मुकेश अंबाणी की संपत्ति : यहाँ जानिए कैसे ?

रिपोर्ट : विनीत दुबे

अहमदाबाद, 16 अगस्त, 2019 (युवाPRESS)। रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबाणी की सम्पत्ति में मात्र दो दिन में लगभग 29,000 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है। एशिया के सबसे धनी व्यक्ति मुकेश अंबाणी ने ईयर-टू-डेट के आधार पर 5.57 बिलियन डॉलर की कमाई की है, जिसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज़ (RIL) का शेयर लगभग 15 प्रतिशत है। ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के अनुसार मुकेश अंबाणी अब 49.9 बिलियन की कुल सम्पत्ति के साथ दुनिया के सबसे अधिक अमीरों की सूची में 13वें स्थान पर हैं।

कैसे बढ़ी मुकेश अंबाणी की सम्पत्ति ?

मुकेश अंबाणी की सम्पत्ति सोमवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज़ की 42वीं वार्षिक सामान्य सभा के बाद बढ़ी है। इस सभा में मुकेश अंबाणी ने कुछ बड़ी घोषणाएँ की थी, जिन्हें शेयर बाजार ने सकारात्मक रूप में लिया। वैसे तो शेयर बाजार में गिरावट का दौर चल रहा है, परंतु रिलायंस के शेयरों में उछाल आ गया। इसका फायदा कंपनी को मिला, जिसके कारण मात्र दो दिन में ही कंपनी के शेयरों में 11 प्रतिशत की बढ़ोतरी हो गई और मुकेश अंबाणी की संपत्ति में 28,684 करोड़ रुपये का इजाफा हो गया। कंपनी के शेयर बुधवार को कारोबार के अंत में 1,288.30 रुपये के स्तर पर पहुँच गये थे, जो कि एजीएम (AGM) की बैठक से पहले शुक्रवार को 1,162 रुपये के स्तर पर थे।

एजीएम में क्या किये गये थे ऐलान ?

इस सभा में मुकेश अंबाणी ने ऐलान किया था कि अगले डेढ़ वर्ष में वह कंपनी को कर्ज से मुक्त कर देंगे। इसके लिये उन्होंने सभा में योजना प्रस्तुत करते हुए बताया था कि कंपनी अपने तेल और रसायन के कारोबार में सऊदी अरब की कंपनी सऊदी अरामको तथा ईंधन के खुदरा कारोबार में ब्रिटेन की कंपनी बीपी को कुछ हिस्सेदारी देकर धन एकत्र करेगी। उन्होंने कहा कि उन्हें इसी साल सऊदी अरामको तथा बीपी के साथ डील पूरी हो जाने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि सऊदी अरामको रिलायंस इंडस्ट्रीज़ में 75 अरब डॉलर का निवेश करेगी, जो कि देश में सबसे बड़ा विदेशी निवेश होगा। सऊदी तेल कंपनी अरामको को रिलायंस इंडस्ट्रीज़ 20 प्रतिशत शेयर बेचेगी। इस डील के बाद कंपनी को 1.15 लाख करोड़ रुपये का निवेश मिलने की उम्मीद है। सभा में मुकेश अंबाणी ने यह भी ऐलान किया कि मात्र 3 साल पुरानी रिलायंस जियो दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी और भारत की सबसे बड़ी टेलीकॉम ऑपरेटर कंपनी के रूप में उभरी है। उन्होंने कहा कि रिलायंस जियो हर महीने एक करोड़ नये ग्राहक जोड़ रही है। ऑप्टिक फाइबर तथा इन्फ्रास्ट्रक्चर में जियो ने अभी तक 3.5 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया है। उन्होंने कहा कि अगले महीने 5 सितंबर को जियो भारत में अपने 3 साल पूरे करेगी। कंपनी को शुरू करने का विज़न डिजिटल लाइफ कनेक्टिविटी था। जियो के माध्यम से रेवेन्यू के लिये इंटरनेट ऑफ थिंग्स, होम ब्रॉडबैंड सर्विस, एन्टरप्राइजेज़ सर्विस और ब्रॉडबैंड फॉर स्मॉल एंड मीडियम बिज़नेस पर फोकस किया जाएगा। इंटरनेट ऑफ थिंग्स प्लेटफॉर्म 1 जनवरी-2020 से उपलब्ध होगा, जबकि जियो गीगा फाइबर नेटवर्क को अगले 12 महीने में पूरा किये जाने की उम्मीद है।

जियो गीगा फाइबर प्लान की महत्वपूर्ण घोषणा

मुकेश अंबाणी की बड़ी घोषणाओं में जियो गीगा फाइबर की कॉमर्शियल लॉन्चिंग भी शामिल थी। अंबाणी के अनुसार 5 सितंबर से पूरे देश में जियो गीगा फाइबर की कॉमर्शियल सेवाएँ शुरू हो जाएँगी। इसकी खासियतों के बारे में उन्होंने बताया कि जियो अपने प्रीमियम गीगा फाइबर ग्राहकों के लिये बॉलीवुड फिल्मों का फर्स्ट डे फर्स्ट शो दिखाने की सेवा लेकर आएगी। इस सेवा के जरिए कंपनी प्रीमियम गीगा फाइबर ग्राहकों को नई फिल्म को रिलीज़ के दिन ही दिखा देगी और ग्राहकों को थियेटर में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। कंपनी इस सर्विस को 2020 के मध्य तक लॉन्च करेगी। इस प्लान के लिये ग्राहकों को 700 रुपये से 10,000 रुपये तक प्रति माह खर्च करने होंगे। यह खर्च प्लान के अनुसार होगा। ग्राहक को डेटा या वॉयस में से किसी एक के लिये ही पैसा खर्च करना होगा। जियो गीगा फाइबर की कम से कम स्पीड 100 एमबीपीएस होगी जो अधिकतम 1 जीबीपीएस तक जाएगी।

You may have missed