‘गंदी नाली का कीड़ा’ से लेकर ‘जल्लाद’ तक : अब तक 80 गालियाँ, पर छलनी नहीं हुई 56 इंच की छाती : यहाँ देखिए ‘गाली’ और ‘गैंग’ की पूरी LIST !

रिपोर्ट : कन्हैया कोष्टी

6 अक्टूबर, 2001 तक नरेन्द्र मोदी केवल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के स्वयंसेवक और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सामान्य कार्यकर्त व् नेता थे। संघ और पार्टी संगठन का काम करने वाले नरेन्द्र मोदी 7 अक्टूबर, 2001 को गुजरात के मुख्यमंत्री बने और उन्होंने अपनी चुनावी राजनीति और अपने शाससकीय उत्तरदायित्व का शुभारंभ किया। 26 फरवरी, 2002 को मोदी पहली बार चुनाव लड़ कर विधायक भी बन गए, परंतु अगले ही दिन 27 फरवरी, 2002 को गोधरा कांड हुआ और इसके बाद पूरे गुजरात में साम्प्रदायिक दंगे भड़क उठे। बस, फिर क्या था। धर्मनिरपेक्षता की राजनीति करने वाले राजनीतिक दलों ने भाजपा को घेरा। राजनीतिक विरोध करते-करते ये राजनीतिक दल धीरे-धीरे मोदी विरोध पर आ गए।

भारतीय राजनीति में भाजपा-शिवसेना सहित चंद इक्का-दुक्का पार्टियों के अलावा सभी राजनीतिक दल अपने आपको धर्मनिरपेक्ष सिद्ध करने में ऐसे जुट गए कि उन्हें यही लगने लगा कि मोदी की आलोचना करना ही सच्ची धर्मनिरपेक्षता है। ये लोग 2004 में कुछ हद स्वयं को सही साबित करने में भी सफल हुए, जब देश ने 6 वर्षों तक बढ़िया काम करने वाली वाजपेयी सरकार को पदच्युत कर दिया। इस हार का ठीकरा तत्कालीन राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग-NDA) में शामिल कई दलों ने मोदी पर फोड़ कर स्वयं को धर्मनिरपेक्ष साबित करने के लिए एनडीए से नाता तोड़ लिया।

मौत का सौदागर कह कर सोनिया ने दी गाली नंबर 1

यद्यपि मोदी ने गुजरात विधानसभा चुनाव 2007 जीत कर सभी विरोधियों की बोलती बंद कर दी, परंतु जब गुजरात में शांति, समृद्धि, विकास का रास्ता अपना कर मोदी ने एक नया मॉडल प्रस्तुत करना शुरू किया, तो धर्मनिरपेक्ष दलों की टोली बदज़ुबानी पर उतर आई और गुजरात विधानसभा चुनाव 2007 में तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने नरेन्द्र मोदी को मौत का सौदागर कह कर गाली गैंग की नींव राखी। इसके बाद इस गैंग ने मोदी के विरुद्ध गालियों की बरसात शुरू कर दी। हालाँकि मोदी अक्सर कहते रहे हैं कि वे अपने ऊपर पड़ने वाले हर पत्थर को सीढ़ी बना लेते हैं और आज उसी सीढ़ी पर चढ़ कर वे देश और विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता बने और सर्वोच्च पद प्राप्त कर प्रधानमंत्री भी बन गए।

मोदी का कद बढ़ा और विरोधियों का कदाचार

गुजरात के विकास की भारत सहित पूरे विश्व में प्रशंसा के साथ ही मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी का राष्ट्रीय राजनीति में कद बढ़ने लगा और इसके साथ ही विरोधियों के कदाचार का प्रारंभ हुआ। गुजरात विधानसभा चुनाव 2007 से लेकर लोकसभा चुनाव 2019 में आज की तारीख यानी 9 मई, 2019 तक मोदी के विरुद्ध दी गई गालियों की संख्या 80 पर पहुँच गई है। इस प्रकार 2007 में मौत के सौदागर से शुरू हुआ गाली का सिलसिला से 2019 तक यानी 12 वर्षों से जारी है। इन 12 वर्षों में मोदी जहाँ एक साधारण कार्यकर्ता से 56 इंच की छाती वाले प्रधानमंत्री पद तक पहुँच गए, वहीं मोदी विरोध के नाम पर बने गाली गैंग अब तक 80 गालियाँ दे चुका है और इस गाली गैंग में नए-नए नाम जुड़ते ही जा रहे हैं। आइए अब आपको बताते हैं मोदी को दी गई अब तक की 80 गालियाँ और गाली देने वाले नेता और दल का नाम।

गाली नंबर 1

2009 : कांग्रेस नेता बी. के. हरिप्रसाद ने नरेन्द्र मोदी को गंदी नाली का कीड़ा बताया।

गाली नंबर 2

17 अगस्त, 2013 : कांग्रेस नेता ग़ुलाम नबी आज़ाद ने नरेन्द्र मोदी को गंगू तेली बताया।

गाली नंबर 3

14 जुलाई, 2013 : कांग्रेस नेता बेनी प्रसाद वर्मा ने नरेन्द्र मोदी को पागल कुत्ता कहा।

गाली नंबर 4

13 जून, 2013 : कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने नरेन्द्र मोदी को भस्मासुर कहा।

गाली नंबर 5

8 जून, 2013 : कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने नरेन्द्र मोदी को बंदर कहा।

गाली नंबर 6

7 जून, 2013 : कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने नरेन्द्र मोदी को नमोनिटिस वायरस कहा।

गाली नंबर 7

7 जून, 2013 : कांग्रेस नेता शांताराम नाइक ने नरेन्द्र मोदी को हिटलर, पोल पोट कहा।

गाली नंबर 8

2009 : कांग्रेस नेता रिज़वान उस्मानी ने नरेन्द्र मोदी को बदतमीज़, नालायक बेटा कहा।

गाली नंबर 9

नवम्बर-2012 : कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया ने नरेन्द्र मोदी को असफल पति कहा।

गाली नंबर 10

मार्च-2012 : कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने नरेन्द्र मोदी को दाउद इब्राहीम कहा।

गाली नंबर 11

अक्टूबर-2012 : कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया ने नरेन्द्र मोदी को बंदर, रैबीज़़ से पीड़ित बताया।

गाली नंबर 12

नवम्बर-2012 : कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने नरेन्द्र मोदी को लहू पुरुष, असत्य का सौदागर बताया।

गाली नंबर 13

13 जून, 2012 : कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने नरेन्द्र मोदी को रावण कहा।

गाली नंबर 14

3 मार्च, 2013 : कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने नरेन्द्र मोदी को साँप, बिच्छू और गंदा आदमी कहा।

गाली नंबर 15

2007 : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने नरेन्द्र मोदी को मौत का सौदागर कहा।

गाली नंबर 16

1 फरवरी, 2014 : कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने नरेन्द्र मोदी को ज़हर की खेती करने वाला कहा।

गाली नंबर 17

28 मार्च, 2014 : कांग्रेस नेता इमरान मसूद ने कहा, ‘मोदी के टुकड़े-टुकड़े कर देंगे’।

गाली नंबर 18

16 मई, 2016 : कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने नरेन्द्र मोदी को मोस्ट स्टुपिड पीएम करार दिया।

गाली नंबर 19

6 अक्टूबर, 2016 : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नरेन्द्र मोदी को जवानों के खून का दलाल बताया।

गाली नंबर 20

16 सितम्बर, 2016 : कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने नरेन्द्र मोदी को ग़द्दाफी, मुसोलिनी, हिटलर कहा।

गाली नंबर 21

8 सितम्बर, 2017 : कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने नरेन्द्र मोदी के विरुद्ध अपमानजनक ट्वीट किया।

गाली नंबर 22

17 सितम्बर, 2017 : कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने नरेन्द्र मोदी और उनके समर्थकों को ‘..तिया’ कहा।

गाली नंबर 23

21 नवम्बर, 2017 : युवा कांग्रेस सामयिक ने नरेन्द्र मोदी के विरुद्ध विवादास्पद ट्वीट किया।

गाली नंबर 24

27 नवम्बर, 2017 : कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने नरेन्द्र मोदी को मानसिक बीमार बताया।

गाली नंबर 25

7 दिसम्बर, 2017 : कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने नरेन्द्र मोदी को नीच किस्म का आदमी कहा।

गाली नंबर 26

9 दिसम्बर, 2017 : कांग्रेस नेता सलमान निज़ामी ने नरेन्द्र मोदी से पूछा, ‘पिता कौन ? दादा कौन ?’

गाली नंबर 27

13 दिसम्बर, 2017 : कांग्रेस नेता संजय. निरुपम ने नरेन्द्र मोदी को निकम्मा कहा।

गाली नंबर 28

19 दिसम्बर, 2017 : दलित राजनीति करने वाले और कांग्रेस-वामपंथियों के समर्थक जिग्नेश मेवाणी ने नरेन्द्र मोदी को मानसिक बूढ़ा कहा।

गाली नंबर 29

4 फरवरी, 2018 : कांग्रेस नेता दिव्या स्पंदना ने नरेन्द्र मोदी को नशेड़ी कहा।

गाली नंबर 30

19 फरवरी, 2018 : कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर ने नरेन्द्र मोदी के लिए साला मोदी शब्द प्रयोग किया।

गाली नंबर 31

26 जून, 2018 : कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने नरेन्द्र मोदी को औरंगज़ेब से भी क्रूर तानाशाह बताया।

गाली नंबर 32

12 सितम्बर, 2018 : कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने नरेन्द्र मोदी को अनपढ़-गँवार कहा।

गाली नंबर 33

20 सितम्बर, 2018 : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने चौकीदार चोर का नारा देकर नरेन्द्र मोदी को चोर कहा।

गाली नंबर 34

25 अक्टूबर, 2018 : जिग्नेश मेवाणी ने नरेन्द्र मोदी को नमक हराम कहा।

गाली नंबर 35

4 नवम्बर, 2018 : कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खडगे ने नरेन्द्र मोदी को हिटलर कहा।

गाली नंबर 36

9 नवम्बर, 2018 : संजय निरुपम ने कहा, ‘मोदी से बुरा कुछ है ही नहीं’।

गाली नंबर 37

22 नवम्बर, 2018 : कांग्रेस नेता राज बब्बर ने कहा, ‘डॉलर मोदी की माँ जितना गिरा’।

गाली नंबर 38

25 नवम्बर, 2018 : जिग्नेश मेवाणी ने नरेन्द्र मोदी को नालायक बेटा कहा।

गाली नंबर 39

26 नवम्बर, 2018 : कांग्रेस नेता इरफान अंसारी ने नरेन्द्र मोदी के लिए साला मोदी शब्द प्रयोग किया।

गाली नंबर 40

3 दिसम्बर, 2018 : कांग्रेस नेता महेन्द्रजीत मालवीय ने नरेन्द्र मोदी की माँ को अपशब्द कहे।

गाली नंबर 41

7 दिसम्बर, 2018 : रणदीप सुरजेवाला ने नरेन्द्र मोदी को मोहम्मद बिन तुग़लक कहा।

गाली नंबर 42

26 दिसम्बर, 2018 : कांग्रेस नेता श्यामसुंदर सिंह धीरज ने नरेन्द्र मोदी को चोर, नटवरलाल कहा।

गाली नंबर 43

25 जनवरी, 2019 : राशिद अल्वी ने नरेन्द्र मोदी को नाकारा बेटा कहा, जो खुद महलों में रहता है और माँ छोटे से मकान में रहती है।

गाली नंबर 44

9 मार्च, 2019 : कांग्रेस नेता विजयाशांति ने नरेन्द्र मोदी को आतंकवादी कहा।

गाली नंबर 45

16 मार्च, 2019 : कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने नरेन्द्र मोदी की मसूद अज़हर, ओसामा बिन लादेन, दाउद इब्राहीम, आईएसआई से तुलना की।

गाली नंबर 46

18 मार्च, 2019 : कांग्रेस नेता बी. नारायण राव ने नरेन्द्र मोदी को नामर्द कहा।

गाली नंबर 47

9 अप्रैल, 2019 : अर्जुन मोढवाडिया ने नरेन्द्र मोदी को गधा कहा।

गाली नंबर 48

5 मई, 2019 : कांग्रेस नेता दीन दयाल बैरवा ने नरेन्द्र मोदी को हिन्दू आतंकवादी कहा।

गाली नंबर 49

6 मई, 2019 : नवजोत सिंह सिद्धू ने नरेन्द्र मोदी को दर्शनीय घोड़ा कहा।

गाली नंबर 50

7 मई, 2019 : संजय निरुपम ने नरेन्द्र मोदी को औरंगज़ेब का आधुनिक अवतार कहा।

गाली नंबर 51

7 मई, 2019 : कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने नरेन्द्र मोदी की तुलना दुर्योधन से की।

गाली नंबर 52

2012 : कांग्रेस नेता हुसैन दालवई ने नरेन्द्र मोदी को सरदार पटेल के सामने चूहा मात्र बताया।

गाली नंबर 53

नवम्बर-2012 : कांग्रेस नेता सोमा गांडा पटेल ने नरेन्द्र मोदी को घाँची कहा।

गाली नंबर 54

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने नरेन्द्र मोदी की तसवीर के साथ ट्वीट करते हुए मोदी के हवाले से लिखा, ‘मेरी 2 उपलब्धियाँ : 1-भक्तों को …तिया बनाया, 2 – …तूयिों को भक्त बनाया’।

गाली नंबर 55

2012 : जिग्नेश मेवाणी ने नरेन्द्र मोदी के बारे में कहा, ‘नरेन्द्र मोदी मानसिक तौर पर बूढ़े हो चले हैं, उन्हें रिटायर हो जाना चाहिए। हिमालय जाकर हड्डियाँ गलाना चाहिए। बहुत बोरिंग है ये आदमी।’

गाली नंबर 56

25 नवम्बर, 2018 : कांग्रेस नेता विलासराव मुत्तेमवार ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का बाप कौन है, इसके बारे में कोई नहीं जानता।’

गाली नंबर 57

10 जनवरी, 2019 : कांग्रेस नेता सुशील कुमार शिंदे ने नरेन्द्र मोदी को हिटलर बताया।

गाली नंबर 58

12 दिसम्बर, 2014 : आरजेडी नेता लालू यादव ने नरेन्द्र मोदी को ख़ून का सौदागर कहा।

गाली नंबर 59

15 दिसम्बर, 2015 : AAP नेता अरविंद केजरीवाल ने नरेन्द्र मोदी को कायर और मनोरोगी कहा।

गाली नंबर 60

13 दिसम्बर, 2016 : AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने नरेन्द्र मोदी को ज़ालिम कहा।

गाली नंबर 61

7 जनवरी, 2017 : टीपू सुल्तान मस्जिद के शाही इमाम सैयद नुरूर रहमानी बरकती ने नरेन्द्र मोदी के विरुद्ध फतवा जारी किया।

गाली नंबर 62

11 जनवरी, 2017 : TMC नेता कल्याण बनर्जी ने नरेन्द्र मोदी को चूहे का बच्चा कहा।

गाली नंबर 63

21 फरवरी, 2017 : लालू यादव ने नरेन्द्र मोदी को हिजड़ा कहा।

गाली नंबर 64

7 फरवरी, 2017 : बसपा नेता सतीशचंद्र मिश्रा ने नरेन्द्र मोदी को यमराज कहा।

गाली नंबर 65

5 फरवरी, 2017 : सपा नेता आज़म खान ने नरेन्द्र मोदी को सबसे बड़ा रावण कहा।

गाली नंबर 66

3 मार्च, 2017 : अरविंद केजरीवाल ने नरेन्द्र मोदी को बेशर्म तानाशाह कहा।

गाली नंबर 67

21 नवम्बर, 2017 : आरजेडी नेता राबडी देवी ने कहा कि नरेन्द्र मोदी का हाथ और गला काटेंगे।

गाली नंबर 68

27 नवम्बर, 2017 : आरजेडी नेता तेज प्रताप यादव ने कहा कि नरेन्द्र मोदी की खाल उधेड़वा देंगे।

गाली नंबर 69

22 अप्रैल, 2018 : वामपंथी नेता सीताराम येचुरी ने नरेन्द्र मोदी को दुर्योधन कहा।

गाली नंबर 70

17 सितम्बर, 2018 : NCP नेता माज़िद मेनन ने नरेन्द्र मोदी को धोबी का कुत्ता कहा।

गाली नंबर 71

3 मार्च, 2018 : TDP नेता यनमाला रामकृष्णुडू ने नरेन्द्र मोदी को एनाकोंडा कहा।

गाली नंबर 72

4 नव्बर, 2018 : AAP नेता मनीष सिसोदिया ने नरेन्द्र मोदी को ख़िसियानी बिल्ली कहा।

गाली नंबर 73

25 नवम्बर, 2018 : वामपंथी नेता कन्हैया कुमार ने नरेन्द्र मोदी को नालायक कहा।

गाली नंबर 74

27 दिसम्बर, 2018 : DMK नेता एम. के. स्टालिन ने नरेन्द्र मोदी को राजनीतिक दलाल कहा।

गाली नंबर 75

28 दिसम्बर, 2018 : सपा नेता अबु आज़मी ने नरेन्द्र मोदी को अनपढ़ और गधा कहा।

गाली नंबर 76

13 अप्रैल, 2019 : AIUDF नेता बदरुद्दीन अज़मल ने नरेन्द्र मोदी को चाय-पकौड़े बेचने वाला कहा।

गाली नंबर 77

7 मई, 2019 : आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने नरेन्द्र मोदी को मानसिक रूप से असंतुलित बताया।

गाली नंबर 78

7 मई, 2019 : TMC नेता ममता बैनर्जी ने नरेन्द्र मोदी को दंगाई बताया।

गाली नंबर 79

7 मई, 2019 : राबडी देवी ने नरेन्द्र मोदी को जल्लाद कहा।

गाली नंबर 80

16 सितम्बर, 2017 : कांग्रेस की करीबी मानी जाने वालीं पत्रकार मृणाल ने नरेन्द्र मोदी के जन्म दिवस की पूर्व संध्या पर गधे की तसवीर के साथ ट्वीट कर लिखा, ‘वैशाखनंदन’। उल्लेखनीय है कि वैशाखनंदन का अर्थ गधा होता है।

Leave a Reply

You may have missed