सपने PM बनने के, पर GK इतना कमज़ोर कि अपने ही CM के नाम याद नहीं, देश के 31 CM को कैसे याद रख पाएँगे ?

अहमदाबाद, 17 मई, 2019। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कभी अपने बयानों से तो कभी अपनी अजीबो-गरीब हरकतों के कारण सोशल मीडिया का हिस्सा बने रहते हैं। वैसे तो राहुल गांधी खुद भी सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आरोप लगाना हो या उनसे सवाल पूछने हों तो अपने Tweeter Handle का ही अधिक उपयोग करते हैं, परंतु आजकल वह एक बार फिर सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल हो रहे हैं।

‘हाँ, मैं PM बनूँगा’

वास्तव में राहुल गांधी इतने वर्षों से राजनीति में सक्रिय रहने के बावजूद परिपक्वता के मामले में कई नेताओं से पीछे हैं और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ तो उनकी कोई स्पर्धा ही नहीं है। जनरल नॉलेज (GK) का ही प्रश्न ले लीजिए। यदि पूछा जाए कि देश में कितने राज्य हैं और कितने राज्यों में कितने मुख्यमंत्री हैं और उनके नाम क्या हैं ? स्कूल-कॉलेज और स्पर्धात्मक परीक्षा की तैयारी करने वाले हर विद्यार्थी को यह अच्छी तरह याद होगा, परंतु देश का प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे राहुल को देश के 31 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के नाम तो क्या, अपने ही प्रयासों से छह महीने पहले बनवाए गए अपनी ही पार्टी के मुख्यमंत्रियों के नाम याद नहीं रहते। यद्यपि राहुल गांधी ने पहली बार एक साल पहले मई-2018 में बेंगलुरू में पहली बार कहा था कि यदि कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनी, तो वे प्रधानमंत्री बनना चाहेंगे, परंतु उसके बाद एक वर्ष का समय बीत गया और चुनाव परिणाम आने को हैं, परंतु राजनीतिक हालात ऐसे बन चुके हैं कि राहुल अब इस सपने के बारे में कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं।

दरअसल 14 मई को मध्य प्रदेश के नीमच में कांग्रेस की एक चुनावी रैली आयोजित हुई, जिसे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने संबोधित किया। अपने भाषण की शुरुआत करने के साथ ही राहुल गांधी ने गड़बड़झाला शुरू कर दिया। वह मंच पर उपस्थित कांग्रेस नेताओं का नाम लेने के दौरान मध्य प्रदेश के ही मुख्यमंत्री का नाम भूल गये और मध्य प्रदेश के चीफ मिनिस्टर भूपेल बघेलजी, छत्तीसगढ़ के चीफ मिनिस्टर हुकुम सिंह कराड़ाजी…बोल गये।

इन दोनों ही राज्यों में पिछले साल ही कांग्रेस को सत्ता मिली है और खुद राहुल गांधी ने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के नामों पर मुहर लगाई थी। कमलनाथ को मध्य प्रदेश का और भूपेश बघेल को छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री बनाया था, परंतु यहाँ भाषण में वे अपने ही मुख्यमंत्रियों का नाम लेने में झोल कर गये, जिससे इस भाषण की एक क्लिप हाथ में आने पर एक भाजपा कार्यकर्ता ने इस क्लिप को काटकर सोशल मीडिया पर ट्रोल कर दिया। इसके बाद राहुल गांधी एक बार फिर सोशल मीडिया पर मज़ाक बन गये।

इतना बड़ा देश कैसे चलाएँगे ?

कुछ लोगों ने तो यहाँ तक कहा कि जब उन्हें अपने ही कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के नाम याद नहीं तो वह इतना बड़ा देश कैसे चलाएंगे ? क्या उन्हें प्रधानमंत्री बनाना चाहिये ? एक ट्वीटर यूज़र ने इस क्लिप को शेयर करते हुए लिखा ‘सर, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री कौन है ? क्या आप बताएंगे। भारत यह जानना चाहता है कि आपको कितनी नॉलेज है। आप भारत देश का नेतृत्व कर सकते हैं ? कृपया मुझे बताइये कि कमलनाथ कौन हैं ?’

ऐसा पहली बार नहीं हुआ कि जब राहुल गांधी का सोशल मीडिया पर मज़ाक बन रहा है। राहुल गांधी तो सोशल मीडिया के एक ऐसे अभिन्न भाग बन गये हैं कि उन पर कमेंट न करें तो यूजर्स को अधूरा-अधूरा फील होता है। इससे पहले चाहे संसद में आंख मारने वाली हरकत हो या हेलीकॉप्टर दुर्घटना में बचने के बाद कैलास मानसरोवर की यात्रा करने का संकल्प लेने की बात हो, राहुल गांधी बार-बार सोशल मीडिया पर चमकते रहे हैं। 2017 से पहले तो वह पप्पू के नाम से सोशल मीडिया पर चर्चा के केन्द्र रहते थे, परंतु 2017 में गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले एक विज्ञापन में उन्हें पप्पू के नाम से संबोधित किये जाने पर चुनाव आयोग ने इस संबोधन को अपमानजनक बताकर उन्हें पप्पू कहने पर रोक लगा दी। इससे उन्हें इस नाम से संबोधित करना तो बंद हो गया, परंतु खुद राहुल गांधी ने अपने बयानों और हरकतों में गड़बड़झाला करने पर रोक नहीं लगाई, जिसकी वजह से वह बार-बार सोशल मीडिया पर ट्रोल होते रहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed