IND VS PAK : 27 साल पहले सचिन ने रखी नींव पर बन चुकी इमारत, कोहली भी लिखेंगे इबारत ?

रिपोर्ट : विनीत दुबे

अहमदाबाद, 14 जून 2019 (युवाप्रेस डॉट कॉम)। इंटरनेशनल क्रिकेट कौंसिल (ICC) की 12वीं क्रिकेट वर्ल्ड कप टूर्नामेंट इंग्लैंड और वैल्स में खेली जा रही है। इस टूर्नामेंट शुक्रवार तक 19 मैच खेले गये हैं और रविवार को 21वाँ मुकाबला मैनचेस्टर के मैदान में खेला जाएगा जो क्रिकेट विश्व कप के इतिहास का सबसे रोमांचक मुकाबला होगा। क्योंकि यह मुकाबला भारत और पाकिस्तान के बीच खेला जाएगा। क्रिकेट जगत में इन दो देशों का मुकाबला हमेशा ही सबसे बड़ा और सबसे कड़ा मुकाबला कहलाता है, जो किसी जंग से कम नहीं होता है। हालाँकि जंग की तरह ही क्रिकेट की जंग में भी पाकिस्तान भारत से कभी जीत नहीं पाया है। क्रिकेट वर्ल्ड कप के पिछले 27 वर्ष के इतिहास में भारत और पाकिस्तान का 6 बार आमना सामना हुआ है, जिसमें हर बार पाकिस्तान को भारत से पटखनी खानी पड़ी है। आइये नज़र डालते हैं इन दोनों के बीच हुए मुकाबलों पर…

वर्ल्ड कप-1992

आईसीसी की वर्ल्ड कप टूर्नामेंट 1975 से शुरू हुई, जिसमें पहला और वर्ष 1979 का दूसरा वर्ल्ड कप वेस्टइंडीज ने जीता और 1983 में तीसरा वर्ल्ड कप भारत ने जीता। इसके बाद 1987 का चौथा वर्ल्डकप ऑस्ट्रेलिया ने जीता। इन टूर्नामेंट में भारत और पाकिस्तान का कोई आमना-सामना नहीं हुआ। वर्ल्ड कप प्रतियोगिता शुरू होने के 17 साल बाद भारत-पाकिस्तान कट्टर प्रतिद्वंद्वी पहली बार 1992 के छठी वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में पहली बार एक-दूसरे के सामने आए। इस मैच में क्रिकेट के भगवान कहलाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर की नाबाद 54 रन की पारी की मदद से पाकिस्तान के सामने 217 रन का लक्ष्य रखा था, जिसके जवाब में पाकिस्तान की पूरी टीम 173 रन ही बना सकी और भारत की 43 रनों से जीत हुई।

वर्ल्ड कप-1996

1996 की वर्ल्ड कप टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में भारत और पाकिस्तान की टीमें फिर एक बार आमने-सामने आईं। भारत ने घरेलू एम. चिन्नास्वामी क्रिकेट स्टेडियम में ओपनर नवजोत सिंह सिद्धू की 93 रनों की पारी से मजबूत शुरुआत करने के बाद फिनीशर अजय जाड़ेजा के ताबड़तोड़ 45 रनों की आतिशी पारी की मदद से पाकिस्तान के समक्ष 287 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा किया था। जवाब में पाकिस्तान के खिलाड़ी सईद अनवर और आमिर सोहैल ने अपने देश के लिये अच्छी शुरुआत की और मध्य क्रम में जावेद मियांदाद और सलीम मलिक ने भी अच्छी पारियाँ खेली। हालाँकि भारत की स्पिन जोड़ी अनिल कुंबले और वेंकटपति राजू की स्पिन गेंदबाजी के सामने पाकिस्तान की टीम जीत का आँकड़ा नहीं छू पाई। भारत इस मैच में 39 रनों से जीत गया।

वर्ल्ड कप-1999

तीसरी बार दोनों टीमें 1999 के वर्ल्ड कप में आमने-सामने आईँ। इस मैच में भी भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 6 विकेट पर 227 रन बनाये, जिसमें सचिन के 45, राहुल द्रविड़ के 61 और कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन के 59 रनों का योगदान था। विश्व कप के मुकाबलों में भारत के सामने पता नहीं क्यों पाकिस्तान के हाथ-पाँव फूल जाते हैं। इस मैच में भी पाकिस्तान की पूरी टीम 45.3 ओवर में 180 रन ही बना पाई और भारत 47 रनों से जीत गया। इस मैच में भारत के लिये तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने 5 और जवागल श्रीनाथ ने 3 विकेट झटके थे।

वर्ल्ड कप-2003

2003 की वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में भारत और पाकिस्तान के बीच लगातार चौथा मुकाबला हुआ। इस मैच में पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सईद अनवर की 101 रन की शतकीय पारी की मदद से भारत के सामने 273 रनों का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया था। जवाब में लक्ष्य का पीछा करने के लिये मैदान पर उतरी भारतीय टीम के ओपनर सचिन तेंडुलकर के 98 और वीरेंद्र सहवाग के 21 रनों की पारी से भारत को अच्छी शुरुआत मिली। इसके बाद राहुल द्रविड़ के नाबाद 44 और फिनीशर युवराज सिंह के नाबाद 50 रनों की मदद से भारत ने 26 गेंद बाकी रहते इस मुकाबले को भी 6 विकेट से जीत लिया।

वर्ल्ड कप-2011

इसके बाद 2011 की क्रिकेट वर्ल्ड कप टूर्नामेंट इन दोनों टीमों का मुकाबला सेमी फाइनल में हुआ। इस मुकाबले में भी सचिन तेंडुलकर भारत के लिये संकटमोचक बनकर उभरे। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 260 रनों का लक्ष्य रखा, जिसमें सचिन तेंडुलकर ने 85 रनों की शानदार पारी खेली। जवाब में पाकिस्तान के कप्तान मिस्बाह उल हक ने 56 रन की जुझारू पारी जरूर खेली, परंतु कोई और बल्लेबाज उनका साथ नहीं दे पाया, जिससे कोई लंबी पार्टनरशिप नहीं हो सकी और एक के बाद एक पाकिस्तान के विकेट गिरते गये, जिससे पाकिस्तान की पूरी पारी 231 रन पर ही सिमट गई और भारत ने यह मुकाबला 29 रन से जीत लिया।

वर्ल्ड कप-2015

11वीं वर्ल्ड कप टूर्नामेंट 2015 में आयोजित हुई, जिसमें छठी बार भारत और पाकिस्तान के बीच ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड मैदान पर मुकाबला हुआ। इस मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए विराट कोहली के 107 रनों की शतकीय पारी और सुरेश रैना के 74 तथा शिखर धवन के 73 रनों की अर्ध शतकीय पारियों की मदद से पाकिस्तान को 301 रन का विशाल लक्ष्य दिया। इसके जवाब में पूरी पाकिस्तानी टीम 224 रन पर ढेर हो गई और भारत 76 रन के बड़े अंतर से मैच जीत गया। इस मैच के हीरो रहे विराट कोहली को मैन ऑफ दी मैच घोषित किया गया था।

वर्ल्ड कप-2019

अब 12वीं वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में इंग्लैंड के मैनचेस्टर के मैदान पर 16 जून रविवार को यह दोनों टीमें सातवीँ बार आमने-सामने होंगी। इस मैच में यदि मौसम विलेन नहीं बना तो एक बार फिर क्रिकेट प्रेमियों को दोनों टीमों के बीच कड़ा और रोमांचक मुकाबला देखने को मिल सकता है।

Leave a Reply

You may have missed