EXIT POLLS : सब पर भारी मोदी का ‘राष्ट्रवाद’, महाराष्ट्र-हरियाणा में भाजपा की प्रचंड बहुमत से वापसी के संकेत

*नहीं चले कमज़ोर विपक्ष के अर्थ व्यवस्था, बेरोजगारी जैसे मुद्दे

विश्लेषण : विनीत दुबे

अहमदाबाद, 21 अक्टूबर, 2019 (युवाPRESS)। महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभाओं के लिये सोमवार को वोटिंग हुई। चुनाव के परिणाम 24 अक्टूबर को आएँगे। उससे पहले अलग-अलग मीडिया समूहों की ओर से जारी किये गये EXIT POLL के परिणामों में दोनों ही राज्यों में भाजपा और उसके गठबंधन एनडीए को प्रचंड बहुमत मिलता दिखाई दे रहा है। एग्ज़िट पोल के परिणामों के अनुसार दोनों ही राज्यों में फिर से बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए की सरकार बनती नज़र आ रही है। इन परिणामों से लगता है कि मतदाताओं ने पीएम मोदी के राष्ट्रवाद को स्वीकार किया है, जबकि कांग्रेस और एनसीपी समेत विपक्ष के कमज़ोर अर्थ व्यवस्था और बेरोजगारी जैसे मुद्दों को सिरे से नकार दिया है।

महाराष्ट्र में फडणवीस, हरियाणा में खट्टर की फिर सरकार

महाराष्ट्र में विधानसभा की सभी 288 सीटों और हरियाणा में विधानसभा की सभी 90 सीटों के लिये सोमवार को मतदान हुआ। इसमें महाराष्ट्र में 55.33 प्रतिशत और हरियाणा में 61.62 प्रतिशत मतदान हुआ। 2014 की तुलना में महाराष्ट्र में 3 प्रतिशत कम मतदान हुआ। इसी प्रकार हरियाणा में 2014 में 76.6 प्रतिशत मतदान हुआ था। जो लगभग 15 प्रतिशत कम है। इन सबके बावजूद एग्ज़िट पोल के नतीजों में दोनों ही राज्यों में बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकारों की वापसी हो रही है। मतलब कि हरियाणा में मनोहरलाल खट्टर और महाराष्ट्र में देवेन्द्र फडणवीस को दूसरी पारी शुरू करने के संकेत मिल रहे हैं। अलग-अलग एग्ज़िट पोल में महाराष्ट्र में 288 में से अकेले बीजेपी को 100 से 125 सीटें और उसके एनडीए गठबंधन को 160 से 195 सीटों के साथ प्रचंड बहुमत मिलता दिखाई दे रहा है, जबकि कांग्रेस और शरद पवार की एनसीपी के गठबंधन को 100 सीटें भी मिलती दिखाई नहीं दे रही हैं।

एग्ज़िट पोल के नतीजों में कांग्रेस-एनसीपी को जोरदार झटका

इसी प्रकार एग्ज़िट पोल के अनुसार हरियाणा में भाजपा को अकेले दम पर 90 में से 70 से अधिक सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं, जबकि कांग्रेस 8 से 10 सीटें ही मिलती दिखाई दे रही हैं। इस प्रकार चुनाव नतीजों से पहले ही कांग्रेस को एग्ज़िट पोल के नतीजों में बड़ा झटका लगा है। आज तक एक्सिस माई इण्डिया के एग्ज़िट पोल के परिणाम कहते हैं कि महाराष्ट्र में देवेन्द्र फडणवीस की दूसरी बार सरकार बन रही है। क्योंकि यहाँ बीजेपी को अकेले दम पर 109 से 124 सीटें मिलती दिख रही हैं और वह राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बन कर सामने आ रही है। जबकि उसकी सहयोगी शिवसेना को अकेले दम पर 57 से 70 सीटें मिल सकती हैं। इस प्रकार दोनों के गठबंधन को राज्य में 166 से 194 सीटें मिल सकती हैं। दूसरी ओर इस एग्ज़िट पोल में कांग्रेस व एनसीपी के गठबंधन को राज्य में फिर एक बार पराजय का मुँह देखना पड़ सकता है। क्योंकि दोनों पार्टियाँ मिल कर भी 100 के आँकड़े तक भी पहुँचती नहीं दिख रही हैं। जबकि आज तक एक्सिस माई इण्डिया का हरियाणा पर कोई एग्ज़िट पोल जारी नहीं हुआ है, हरियाणा का एग्ज़िट पोल मंगलवार शाम को आएगा। हरियाणा पर अन्य समूहों के एग्ज़िट पोल पर नज़र डालें तो रिपब्लिक-जन की बात एग्ज़िट पोल में भाजपा को 52 से 63 और कांग्रेस को 15 से 19 सीटें मिल सकती हैं। दुष्यंत चौटाला की पार्टी जेजेपी को भी 5 से 9 सीटें मिल सकती हैं। जबकि इनेलो की स्थिति डाँवाडोल बताई जा रही है और उसे शून्य से 1 सीट मिलने का अनुमान लगाया गया है। यहाँ अन्य पार्टियों को 7 से 9 सीटें मिलने का अनुमान व्यक्त किया गया है।

एबीपी-सी वोटर के एग्ज़िट पोल में हरियाणा में बीजेपी के खाते में 72 और कांग्रेस के खाते में 8 सीटें मिलती दिख रही हैं। अन्य के खाते में 10 सीटें जा सकती हैं। सीएनएन-न्यूज़18 इप्सोस एग्ज़िट पोल के अनुसार हरियाणा में भाजपा को 75 सीटों पर जीत मिल सकती है। कांग्रेस के खाते में 15 व इनेलो को शून्य सीट मिलने का अनुमान दर्शाया गया है। इस प्रकार लगभग सभी एग्ज़िट पोल में दोनों ही राज्यों में बीजेपी को स्पष्ट बहुमत मिलता दिखाई दे रहा है। हरियाणा में सरकार बनाने के लिये बहुमत का आँकड़ा 46 सीटों का है, जहाँ कांग्रेस 15 से 19 के बीच सिमटती दिख रही है।

एग्ज़िट पोल के परिणामों से भाजपा गद्गद्

भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने एग्ज़िट पोल के नतीजों पर प्रतिक्रिया देते हुए महाराष्ट्र के बारे में कहा कि नरेन्द्र और देवेन्द्र की जोड़ी के काम पर जनता ने मुहर लगाई है। उन्होंने कहा कि सीटों की वास्तविक संख्या तो 24 तारीख को पता चलेगी, परंतु हमें दो तिहाई सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं। बीजेपी शिवसेना का गठबंधन राज्य में 1990 से चल रहा है और यह इतिहास का सबसे लंबा गठबंधन है। उन्होंने यह भी कहा कि कश्मीर, धारा 370, एनआरसी भले ही राष्ट्रीय मुद्दे हैं, परंतु हर चुनाव में ये मुद्दे हावी रहते हैं, क्योंकि राज्य भी उनसे अलग नहीं हैं। राष्ट्रवाद के लिहाज से महाराष्ट्र का इतिहास काफी मजबूत है।

बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने भी कहा कि धारा 370 और राष्ट्रवाद क्यों विधानसभा चुनाव के मुद्दे नहीं हो सकते, यह हमारे जीवन से जुड़े विषय हैं। लोग एक विषय पर नहीं, बल्कि सरकार के कामकाज पर वोट करते हैं और भाजपा ने देश में एक नई राजनीति शुरू की है। देश में आज लोग जात-पात से ऊपर उठ कर वोट डाल रहे हैं।

यहाँ देखिये अलग-अलग समूहों के एग्ज़िट पोल के आँकड़े

सीएनएन-न्यूज़18 एग्ज़िट पोल

हरियाणा

भाजपा+ : 75

कांग्रेस+ : 10

टाइम्स नाऊ एग्ज़िट पोल

हरियाणा

भाजपा+: 71

कांग्रेस+: 11

अन्यः 08

एबीपी-सी वोटर एग्ज़िट पोल

हरियाणा

भाजपा+: 72

कांग्रेस+: 08

अन्यः 10

रिपब्लिक-जन की बात एग्ज़िट पोल

हरियाणा

भाजपा+: 52-63

कांग्रेस+: 15-19

जेजेपीः 5-9

अन्यः 7-9

टीवी-9-सिसेरो एग्ज़िट पोल

हरियाणा

भाजपा+: 69

कांग्रेस+: 11

अन्यः 10

You may have missed