जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुआ वड़ोदरा का वीर

अहमदाबाद, 22 जुलाई 2019 (युवाPRESS)। जम्मू-कश्मीर के उधमपुर जिले में सोमवार सुबह आतंकवादियों के साथ हुई एक मुठभेड़ में भारतीय सेना का एक नौजवान शहीद हो गया। शहीद हुए जवान का नाम आरिफ खान पठान है, जो वड़ोदरा का निवासी था। 24 वर्षीय आरिफ खान 3 साल पहले ही भारतीय सेना में शामिल हुआ था। आरिफ ने देश के लिये शहीद होकर वड़ोदरा और गुजरात का गौरव बढ़ाया है। हालाँकि आरिफ के परिवारजनों को जब अपने बेटे के शहीद होने की सूचना मिली तो उन पर वज्राघात हुआ। परिवार में मातम छा गया है।

3 साल पहले ही सेना में भर्ती हुआ था मोहम्मद आरिफ खान पठान

वड़ोदरा शहर के नवा यार्ड क्षेत्र में रोशनपुरा निवासी मोहम्मद आरिफ खान पठान के पिता रेलवे में नौकरी करते हैं। आरिफ खान पठान ने 3 साल पहले ही भारतीय सेना जॉइन की थी। 3 साल से वह जम्मू-कश्मीर में ही पोस्टेड था। पिछली ईद को आरिफ छुट्टी लेकर घर आया था और अपने परिवार तथा रिश्तेदारों के साथ ईद का त्यौहार मनाया था। आरिफ पठान भारतीय सेना में 18 राइफल्स बटालियन का हिस्सा था और जम्मू के उधमपुर जिले में अखरूट सेक्टर में तैनात था। सोमवार सुबह आतंकवादियों की ओर से की गई फायरिंग में आरिफ को 5 से 6 गोलियाँ लगी, जिससे वह शहीद हो गया।

वड़ोदरा में होगा वीर शहीद का अंतिम संस्कार

शहीद के परिवार को सोमवार सुबह फोन करके घटना की सूचना दी गई। इसके साथ ही परिवार में मातम छा गया। परिवार को सांत्वना देने के लिये बड़ी संख्या में लोग शहीद जवान के घर पहुँच रहे हैं। भारतीय सेना की ओर से शहीद आरिफ पठान का पार्थिव शरीर ससम्मान वड़ोदरा लाने की प्रक्रिया शुरू की गई है। वड़ोदरा में पूरे सैन्य सम्मान के साथ शहीद जवान आरिफ पठान का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

You may have missed