भारत है इस्लाम से भी पुराना, कश्मीर ही नहीं, पूरा पाकिस्तान भी हिन्दुओं का : जानिए किसने कही इतनी बड़ी बात ?

अहमदाबाद, 12 अगस्त, 2019 (युवाPRESS)। कट्टरपंथी और उन्मादी लोग कुछ भी कहें, परंतु इससे सच नहीं बदल जाता और सत्य यही है कि भारत कश्मीर और पाकिस्तान से भी बहुत पुराना है। इससे भी बड़ी बात तो यह है कि भारत इस्लाम के उदय से भी सदियों पुराना है। सत्य को हर कोई सुन भी नहीं सकता और हर कोई कह भी नहीं सकता। यही कारण है कि सत्य कहने वाले और स्वीकार करने वाले संख्या में बहुत कम हैं। अब एक पर्शिया मौलाना इमाम मोहम्मद तवाहिदी ने यह जो बात कही है, वह शत-प्रतिशत सही है, परंतु सवाल तो यह है कि इसे कितने लोग स्वीकार करेंगे ? और स्वीकार करेंगे भी या नहीं ?

कौन हैं इमाम मोहम्मद तवाहिदी और उन्होंने क्या कहा ?

इमाम मोहम्मद तवाहिदी ईरानी मूल के मौलाना हैं। उनका जन्म ईरान में हुआ था, परंतु वह ऑस्ट्रेलिया में बस गये हैं और वहाँ के एक सुप्रसिद्ध व्यक्ति हैं। इमाम मोहम्मद तवाहिदी कट्टरपंथी इस्लाम के सख्त विरोधी हैं और इस्लाम की कड़ी आलोचनाएँ करने के लिये सुप्रसिद्ध हैं। दिसंबर-2017 में उन्होंने ट्वीट करके कहा था कि यदि वो भारत आए तो कट्टरपंथी मुल्ला इमरजेंसी छुट्टी लेकर मक्का चले जाएँगे। तवाहिदी का इमाम मोहम्मद तवाहिदी फाउंडेशन भी है और वह इस्लाम पर प्रवचन देने के लिये दुनिया भर में भ्रमण करते हैं। उनके बयान अधिकांश मुस्लिम धर्मगुरुओं को रास नहीं आते हैं। इसी कारण तवाहिदी आलोचनाओं का शिकार होते रहते हैं। कुछ समय पहले मेलबर्न में उन पर हमला भी हुआ था। दो मुस्लिम युवकों ने उनकी कार पर हमला किया था और उन पर लात-घूसे बरसाए थे। इसके बाद तवाहिदी ने कहा था कि ऑस्ट्रेलिया धार्मिक कट्टरवादियों के लिये स्वर्ग बनता जा रहा है।

शरिया कानून अपनाने वाले इस्लामिक देशों की करते हैं आलोचना

इससे पहले तवाहिदी मुस्लिम महिलाओं के हिजाब पहनने की भी आलोचना कर चुके हैं। कई मंचों पर उन्हें शरिया कानून अपनाने वाले मुस्लिम देशों की आलोचना करते हुए भी देखा गया है। खास कर इंडोनेशिया में प्रेम करने वाले गैर शादी-शुदा जोड़ों को खुले आम कोड़े मारने की परंपरा का वह कड़ा विरोध करते आए हैं। इसके बाद जून-2018 में उनका एक वीडियो सामने आया था, जिसमें उन्होंने इस्लाम धर्म की कई धार्मिक पुस्तकों के हवाले से अपना बयान जारी किया था। इस बयान में उन्होंने कहा था कि इस्लामिक आतंकवाद की जड़ें इस्लामिक धार्मिक किताबों से ही शुरू होती हैं। इन किताबों के कारण ही मुस्लिम युवा आतंकवाद की दिशा में जाकर तबाह होते हैं। उस समय एक भारतीय अभिनेत्री ने उनसे भारत आने की अपील की थी और कहा था कि हमारे देश को आपके जैसे शिक्षकों की आवश्यकता है। इमाम तवाहिदी भारत में खासी चर्चा बटोरते आए हैं। इससे पहले उन्होंने ट्वीट करके भारत आने की इच्छा जताई थी।

तवाहिदी ने कहा था हिंदू लोग सुंदर हैं और उनका धर्म भी सुंदर है

जून-2018 में इमाम मोहम्मद तवाहिदी ने कहा था कि हिंदू सुंदर हैं और हिंदू धर्म दुनिया में सबसे अधिक पवित्र है। उन्होंने ट्वीट करके लिखा था कि धर्म शास्त्र के हिसाब से हिंदू धर्म एक अत्यंत पवित्र धर्म है। मेरे विचार से हिंदू धर्म अन्य धर्मों की तुलना में ईश्वर के साथ भावनात्मक रूप से जोड़ता है। हिंदू लोग सुंदर हैं और उनका धर्म भी पवित्र है। ऐसा नहीं है कि उन्होंने पहली बार हिंदू धर्म की प्रशंसा की है, वह कई बार ऐसा कर चुके हैं, जिससे वह भारत में काफी सुर्खियाँ बटोरते आए हैं। हालाँकि वह हिंदू धर्म की प्रशंसा से अधिक इस्लामिक कट्टरपंथ की आलोचनाओं के लिये सुप्रसिद्ध हैं।

अब भारत, कश्मीर और पाकिस्तान पर तवाहिदी का नया ट्वीट

अब ऐसे समय जब भारत ने कश्मीर से धारा 370 खत्म कर दी है और इसे लेकर पाकिस्तान में बौखलाहट का माहौल है, तब एक बार फिर तवाहिदी ने इस्लामिक कट्टरपंथियों को कड़ा संदेश देने वाला ट्वीट किया है। उन्होंने 11 अगस्त-2019 को किये नये ट्वीट में कहा है कि भारत इस्लाम से भी पुराना है। इस्लाम का उदय 6वीं शताब्दी में हुआ, जबकि भारत का इतिहास हजारों साल पुराना है।

उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान का उदय तो 1947 में हुआ। कश्मीर क्या पाकिस्तान भी हिंदुओं का है। उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान के मुसलमान हिंदू से मुस्लिम बने हैं। उनके इस बयान से इस्लामिक धर्मगुरुओं में एक बार फिर से हलचल मच गई है।

You may have missed