VIRAL VIDEO : जब दूरदर्शन न्यूज़ की इस एंकर ने रोते-रोते सुनाई इंदिरा गांधी की हत्या की ख़बर

रिपोर्ट : विनीत दुबे

अहमदाबाद, 31 अक्टूबर, 2019 (युवाPRESS)। 31 अक्टूबर को जहाँ अखंड भारत के निर्माता सरदार वल्लभभाई पटेल की 144वीं जन्म जयंती है, वहीं इसी दिन भूतपूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 35वीं पुण्यतिथि भी है। इसी दिन उनके अंगरक्षक ने गोली मार कर उनकी हत्या कर दी थी। इस घटना से पूरे देश में हड़कंप मच गया था और उस समय के सरकारी टीवी चैनल दूरदर्शन पर जब यह ख़बर पढ़ी जा रही थी तो इस ख़बर को पढ़ने वाली न्यूज़ एंकर की आँखों से भी आँसुओं की धारा बहने लगी थी।

घर पर ही हुई थी इंदिरा गांधी की हत्या

हम बात कर रहे हैं 31 अक्टूबर-1984 के दिन की, जब सुबह उनके इंटरव्यू के लिये बाहर से एक टीम आई थी। वे आइरिश फिल्म निर्देशक पीटर उस्तीनोव को मुलाकात का समय दे चुकी थी, जो उन पर डॉक्युमेंट्री फिल्म बनाना चाहते थे। घटना के चश्मदीद तत्कालीन एसीपी दिनेश चंद्र भट्ट के अनुसार उन लोगों ने इंदिरा गांधी के निवास स्थान 1 सफदरजंग रोड से 1 अकबर रोड पर इंटरव्यू तय किया था। सुबह 8 बजे इंदिरा गांधी के निजी सचिव आरके धवन इंदिरा गांधी के निवास पर पहुँच गये थे, तब कमरे में वे मेकअप करवा रही थी। घड़ी में नौ बजे थे, इंदिरा गांधी अकबर रोड की तरफ चल पड़ीं। यहीं पर पेंट्री के पास हेड कॉन्स्टेबल नारायण सिंह तैनात था। उसकी ड्यूटी आईसोलेशन कैडर में होती थी। वह साढ़े सात से 8.45 बजे तक पोर्च में ड्यूटी करने के बाद कुछ मिनट पहले ही पेंट्री के पास आकर खड़ा हुआ था। इंदिरा गांधी को आते हुए देख कर उसने घड़ी पर नज़र डाली तो 9.05 बजे थे। आरके धवन और एसीपी भट्ट आदि उनके पीछे चल रहे थे। उनके बीच दूरी लगभग तीन से चार फीट की थी। इंदिरा गांधी अपने उस गेट से लगभग 11 फीट की दूरी तक पहुँच गई थी जो सफदरजंग रोड को अकबर रोड से जोड़ता है। नारायण सिंह ने देखा कि गेट के पास ही सब इंस्पेक्टर बेअंत सिंह तैनात था और उसके ठीक बगल में बने संतरी बूथ पर कॉन्स्टेबल सतवंत सिंह स्टेनगन के साथ मुस्तैद खड़ा था। जैसे ही इंदिरा गांधी संतरी बूथ के पास पहुँचीं तो उन्होंने बेअंत और सतवंत को हाथ जोड़ कर नमस्ते कहा। इसी समय बेअंत सिंह ने 38 बोर की सरकारी रिवॉल्वर से उन पर पहली गोली दाग दी। यह देख कर सब भौचक्के रह गये। सेकण्ड के अंतर में ही उसने दो और गोलियाँ उनके पेट में उतार दीं। 3 गोलियों ने इंदिरा गांधी को ज़मीन पर झुका दिया। उनके मुख से अंतिम शब्द निकले- ये क्या कर रहे हो। बेअंत सिंह ने क्या जवाब दिया यह किसी ने नहीं सुन पाया। कोई कुछ समझ पाता, उससे पहले ही संतरी बूथ पर खड़े सतवंत की स्टेनगन भी इंदिरा गांधी की तरफ घूम गई और ज़मीन पर गिरती हुई इंदिरा गांधी पर सतवंत सिंह ने एक के बाद एक गोलियाँ दागनी शुरू कर दी। उसने पूरी मैगजीन इंदिरा गांधी पर खाली कर दी। स्टेनगन की 30 गोलियों ने उनका शरीर छलनी कर दिया। इसके बाद दोनों ने धवन की ओर देखते हुए कहा – हमें जो करना था वो हमने कर दिया। अब तुम जो करना चाहो वो करो। तब वहाँ मौजूद सभी लोगों को एक झटके में होश आया और उन्होंने दोनों को धर दबोचा। इसके साथ ही इंदिरा गांधी को अस्पताल पहुँचाया गया, जहाँ दोपहर 2.23 बजे उन्हें मृत घोषित किया गया।

दूरदर्शन की न्यूज़ एंकर ने रोते हुए पढ़ी थी ख़बर

उनकी हत्या की ख़बर दूरदर्शन पर जिस एंकर ने पढ़ी थी, उसका नाम था सलमा सुलतान। इंदिरा गांधी की हत्या की ख़बर ने पूरे देश को स्तब्ध कर दिया था, पूरा देश शोकमग्न हो गया था। ख़बर पढ़ने वाली एंकर की आँखें भी ख़बर पढ़ते हुए डबडबा गईं थी और उसकी आँखों से अस्रुधारा बह रही थी। अब इंदिरा गांधी की 35वीं पुण्यतिथि पर इस एंकर का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो को कांग्रेस नेता खुशबू सुंदर ने रीट्वीट किया है। खुशबू सुंदर बॉलीवुड और साउथ फिल्मों की अभिनेत्री भी हैं। वीडियो में खुद सलमा सुलतान उस समय के वाकये के बारे में बताती हैं कि उन्होंने उस समय उस ख़बर को पढ़ा था। इस ख़बर ने पूरे देश को हिला कर रख दिया था। इस घटना के बाद देश में विशेष कर दिल्ली में खूब बवाल भी मचा था। सलमा सुलतान के अनुसार उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि इस न्यूज़ को वो कैसे पढ़ें। क्योंकि ख़बर सुन कर उनके आँसू रुकने का नाम नहीं ले रहे थे, परंतु उसी हालत में उन्हें कैमरे का सामना करना पड़ा था।

You may have missed