ये हैं देश के सबसे सुरक्षित और स्वच्छ शहर : गुजरात से कितने ? जानने के लिए पढ़िए यह ख़बर

हमदाबाद, 14 जून 2019 (युवाप्रेस डॉट कॉम)। सामान्यतः बढ़ते अपराधों के कारण कुछ शहर नाहक ही बदनाम हो जाते हैं, परंतु आज हम यहाँ किसी शहर के नाम पर बदनामी का टीका लगाने वाली कोई बात नहीं करेंगे। हम उन शहरों की बात कर रहें हैं, जो रहने और घूमने-फिरने के लिहाज़ से सुरक्षित और साफ-सुथरे डेस्टिनेशन हैं। इनमें भी गुजरात के 3 शहर शामिल हैं। इनमें से दो शहर सुरक्षित शहरों की श्रेणी में आते हैं तो दो शहर स्वच्छ शहरों की श्रेणी में समाविष्ट हैं।

अहमदाबाद

गुजरात की आर्थिक राजधानी यानी अहमदाबाद देश का तीसरे क्रम का सबसे सुरक्षित शहर है। अहमदाबाद शहर पूर्व का मैनचेस्टर भी माना जाता है। सुरक्षा के लिहाज़ से यह शहर बहुत सुरक्षित है, जिसके कारण देश के सबसे सुरक्षित शहरों की श्रेणी में इसे तीसरे क्रम पर रखा गया है। अहमदाबाद मॉडर्न सिटी भी कहलाता है। रहने और घूमने-फिरने के लिये यह शहर सुरक्षा की दृष्टि से सुरक्षित माना जाता है।

सूरत

गुजरात की सिल्क सिटी और डायमंड सिटी के रूप में प्रख्यात सूरत शहर सुरक्षा की दृष्टि से देश का चौथे नंबर का सबसे सुरक्षित शहर है। यह शहर साड़ियों के व्यापार और हीरों के विश्व व्यापी व्यापार के कारण सिल्क सिटी और डायमंड सिटी यानी हीरों की नगरी के रूप में मशहूर है। यह शहर तेजी से विकास करने वाले शहरों में भी शुमार है। यहाँ के लोगों का रहन-सहन और शिक्षा आदि की स्थिति देश के अन्य शहरों की तुलना में काफी अच्छी है।

सूरत शहर सुरक्षा के मामले में तो देश का चौथे क्रम का सबसे सुरक्षित शहर है ही। सूरत स्वच्छता के पैमाने पर भी देश का चौथे क्रम का सबसे स्वच्छ शहर माना जाता है। सूरत के लोग साफ-सफाई का अच्छा ध्यान रखते हैं। समुद्र के किनारे बसा यह शहर औद्योगिक शहर भी है, हालाँकि फैक्ट्रियों के कारण कुछ इलाकों में प्रदूषण है, परंतु फिर भी यहाँ घूमने-फिरने के लिये एक से बढ़कर एक अच्छी जगहें हैं।

वड़ोदरा

अहमदाबाद और सूरत जहाँ देश के सर्वाधिक सुरक्षित शहरों में शुमार हैं, वहीं सूरत के बाद वड़ोदरा भी देश के स्वच्छ शहरों की श्रेणी में 10वें स्थान पर आता है। गुजरात में यह शहर बरोड़ा के नाम से मशहूर है। इस शहर की महानगरपालिका और यहाँ के नागरिक साफ-सफाई के मामले में काफी जागरुक हैं। यही कारण है कि यह शहर देश के सबसे स्वच्छ शहरों की श्रेणी में 10वें क्रम पर है। जहाँ तक बात सैलानियों की है तो घूमने-फिरने के मामले में भी वड़ोदरा काफी आगे है।

चेन्नई

देश के 5 सबसे सुरक्षित शहरों की बात करें तो गुजरात के अहमदाबाद और सूरत के बाद तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई का नाम आता है, जो देश का पाँचवां सबसे सुरक्षित शहर है। चेन्नई को संस्कृति, अर्थव्यवस्था, व्यवसाय और शिक्षा का बेहतरीन केन्द्र माना जाता है। इसके अलावा चेन्नई आईटी और बीपीओ सर्विस के निर्यात का हब भी माना जाता है। यह शहर दक्षिण भारत की धर्मनगरी के रूप में भी पहचाना जाता है।

मुंबई

देश की आर्थिक राजधानी के नाम से मशहूर मुंबई सुरक्षा की दृष्टि से देश का दूसरे नंबर का सबसे सुरक्षित शहर है। 26-11 के हमले के बाद इस शहर में सुरक्षा की दृष्टि से बहुत सारे बदलाव किये गये हैं। इसलिये यह देश का ही नहीं बल्कि विश्व का भी चौथे क्रम का सबसे सुरक्षित शहर बन गया है। यह दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला शहर भी है। व्यापार की संभावना और रहन-सहन की अच्छी सुविधाओं के कारण मुंबई देश का सुरक्षित महानगर बन गया है।

पुणे

पुणे महाराष्ट्र की सांस्कृतिक राजधानी के रूप में पहचाना जाता है। पुणे सुरक्षा की दृष्टि से तो देश का बेहतरीन शहर है ही। यह शहर पुणे में शिक्षा और नौकरी की अपार संभावनाओं के कारण देश भर के युवाओं का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। वर्तमान समय में देश के इस सुरक्षित शहर में रहने के लिहाज़ से बेहतर सुविधाएँ उपलब्ध हैं।

स्वच्छ शहर

प्रति वर्ष होने वाले स्वच्छता सर्वेक्षण में गुजरात के वड़ोदरा और सूरत शहर के अलावा देश के जो शहर शामिल हैं। उनमें मध्य प्रदेश का इंदौर, चंड़ीगढ़ कर्णाटक का मैसूर, देश की राजधानी दिल्ली, तमिलनाड़ु का तिरुचिरापल्ली, नवी मुंबई, ओडिशा का विशाखापट्टनम और आंध्र प्रदेश का तिरूपति शहर शामिल है।

Leave a Reply

You may have missed