अब ATM यानी ऑल टाइम मददगार : जानिए बैंक जाए बिना रुपये देने के अलावा और क्या-क्या करेगा काम ?

आम तौर पर बैंकों से दिये जाने वाले ऑटोमेटिक टेलर मशीन यानी ATM का प्रयोग पैसे निकालने या अपने एकाउंट में बैलेंस की जाँच करने के लिये किया जाता है, परंतु अब आप इन एटीएम कार्ड के माध्यम से कई तरह के दूसरे काम भी निपटा सकते हैं, जिनके लिये आपको अभी तक बैंकों में लंबी कतारों में खड़े रहना पड़ता था।

दरअसल बैंकों ने अपनी सेवाओं को और सरल व सहज बनाने की दिशा में कदम उठाये हैं, जिनके तहत ग्राहकों को एटीएम के माध्यम से दी जाने वाली सुविधाओं में भी बढ़ोतरी की है, ताकि ग्राहकों को फिक्स डिपोजिट, टैक्स डिपोजिट, फंड ट्रांसफर जैसे कामों के लिये भी अपने बैंकों की ब्रांच तक न जाना पड़े। आइये जानते हैं कि अब कौन-कौन से काम आप एटीएम के माध्यम से निपटा सकते हैं।

फिक्स्ड डिपोज़िट सुविधा

अब ग्राहकों को फिक्स्ड डिपोज़िट के लिये अपने बैंक के ब्रांच में जाने की जरूरत नहीं है। एटीएम से सीधे ही ग्राहक फिक्स्ड डिपोजिट कर सकते हैं। इसके लिये एटीएम पर जाकर उसके मेन्यू में दिये गये स्टेप्स को फॉलो करना होता है। इसमें ग्राहक डिपोज़िट की अवधि और रकम चुनने के बाद कन्फर्म के ऑप्शन में जाकर क्लिक करेगा तो उसके एकाउंट से उतनी रकम निश्चित अवधि के लिये फिक्स्ड डिपोज़िट में तब्दील कर दी जाएगी।

टैक्स का भुगतान कर सकते हैं

देश के कई बड़े बैंक एटीएम के माध्यम से आयकर का भुगतान करने की सुविधा देते हैं। इनमें एडवांस्ड टैक्स, सेल्फ एसेसमेंट टैक्स और रेगुलर एसेसमेंट के बाद चुकाया जाने वाला टैक्स भी शामिल है। एटीएम के माध्यम से टैक्स भरपाई करने के लिये ग्राहक को बैंक की वेबसाइट या ब्रांच में जाकर एक बार इस सुविधा के लिये रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा। इसके बाद ग्राहक एटीएम की मदद से रेग्युलर अपना टैक्स भरपाई कर सकते हैं।

कैश डिपोज़िट की सुविधा

कई बड़े सरकारी और निजी बैंकों ने अब एटीएम के साथ संलग्न कैश डिपोज़िट मशीन भी लगा दिये हैं, जिनके माध्यम से अब ग्राहक एटीएम के माध्यम से ही कैश भी जमा करवा सकते हैं। एक बार में 49,900 रुपये तक जमा करवाये जा सकते हैं। इन मशीनों में दो हजार, पाँच सौ, सौ रुपये तथा पचास रुपये के नोट जमा करवाये जा सकते हैं।

बीमा पॉलिसी का प्रीमियम भर सकते हैं

एटीएम के माध्यम से अब बीमा पॉलिसी का प्रीमियम भरने की सुविधा भी उपलब्ध हो गई है। भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) एचडीएफसी (HDFC) तथा एसबीआई (SBI) जैसी बीमा कंपनियों ने बैंकों से समझौते किये हैं, जिससे इनके ग्राहक एटीएम के माध्यम से प्रीमियम की भरपाई कर सकते हैं। इसके लिये ग्राहक को एटीएम के बिल पे सेक्शन में जाकर अपनी बीमा कंपनी का सिलेक्शन करना होता है। इसके बाद पॉलिसी नंबर एंटर करें और जन्म दिन, मोबाइल नंबर तथा प्रीमियम की रकम की डिटेल भरकर कन्फर्म करने से प्रीमियम का भुगतान हो जाएगा।

लोन के लिये अप्लाई कर सकते हैं

छोटी रकम के पर्सनल लोन के लिये ग्राहक एटीएम से ही अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिये फोन बैंकिंग या बैंक की ब्रांच तक जाने की आवश्यकता नहीं है। कई निजी बैंक एटीएम के माध्यम से अपने ग्राहकों को प्री-एप्रुव्ड पर्सनल लोन ऑफर करते हैं। इस रकम को एटीएम के माध्यम से निकाल सकते हैं। दरअसल लोन की रकम की गणना एडवांस एनालिटिक्स के जरिये की जाती है। इसके लिये ग्राहक के ट्रांजेक्शन डिटेल, अकाउंट बैलेंस, वेतन की रकम, क्रेडिट-डेबिट कार्ड के री-पेमेंट आदि का रिकॉर्ड देखा जाता है।

कैश ट्रांसफर की सुविधा

एटीएम की मदद से ग्राहक एक खाते से दूसरे खाते में रकम ट्रांसफर भी कर सकते हैं। इसके लिये ग्राहक को एक बार ऑनलाइन या ब्रांच में जाकर उस खाते को रजिस्टर्ड करवाना होता है, जिसमें रकम ट्रांसफर करनी है। एक बार में एटीएम से 40,000 रुपये तक ट्रांसफर किये जा सकते हैं, जबकि एक दिन में कई बार रकम ट्रांसफर की जा सकती है।

बिलों के भुगतान की सुविधा

एटीएम के माध्यम से ग्राहक अपने टेलीफोन, बिजली, रसोई गैस या अन्य बिलों का भुगतान भी कर सकते हैं। हालाँकि इसके लिये ग्राहक को एक बार अपने बैंक की वेबसाइट पर जाकर खुद को रजिस्टर्ड करवाना होगा।

रेल टिकट बुकिंग की सुविधा

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया (SBI) की ओऱ से रेल टिकट बुकिंग की सुविधा भी उपलब्ध कराई जा रही है। एसबीआई के रेलवे की बिल्डिंग में उपलब्ध कई एटीएम के माध्यम से रेल टिकट बुकिंग की सुविधा भी दी जा रही है। हालाँकि यह सुविधा केवल लंबी दूरी के आरक्षित टिकटों के लिये ही दी जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed