EXIT POLL जो भी कहें, ‘आएगा तो मोदी ही’ : जानिए किस ज्योतिषी ने की यह भविष्यावणी ?

अहमदाबाद, 19 मई, 2019। लोकसभा चुनाव-2019 की मतदान प्रक्रिया रविवार शाम को समाप्त हो गई। अब सभी राजनीतिक पार्टियों और राजनेताओं के साथ-साथ मीडिया और आम जनता को 23 मई का बेसब्री से इंतजार है, जब चुनाव के परिणाम आएंगे और उन्हें पता चलेगा कि 2019 में किसकी सरकार बनेगी और कौन प्रधानमंत्री बनेगा ?

हालाँकि परिणाम तो जब आएगा तब आएगा, उससे पहले ही ब्रज के एक ज्योतिषाचार्य डॉ. अरविंद मिश्र ने भविष्यवाणी कर दी है। मिश्र के अनुसार वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ही 2019 में दोबारा प्रधानमंत्री बन रहे हैं और केन्द्र में भाजपा नीत एनडीए की सरकार वापसी कर रही है। मिश्र ने बताया कि मोदी और भाजपा दोनों की ही कुंडली में गजकेसरी राजयोग है, जिसके चलते इन दोनों के ही सितारे बुलंदियों पर हैं और चाहे कितने भी गठबंधन बन जाएँ, परंतु वह मोदी को पीएम बनने और भाजपा को सरकार रचने से नहीं रोक सकते।

आपको बता दें कि डॉ. अरविंद मिश्र वही ज्योतिषाचार्य हैं, जिन्होंने 2014 में भी भविष्यवाणी की थी और उस समय उनकी भविष्यवाणी सत्य सिद्ध हुई थी। इसीलिये इस बार भी यही उम्मीद की जा रही है कि उनकी भविष्यवाणी मिथ्या नहीं हो सकती। क्योंकि डॉ. मिश्र कुंडली की स्थिति का अवलोकन करके ही भविष्यवाणी करते हैं।

ज्योतिषाचार्य डॉ. अरविंद मिश्र का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कुंडली में 26 जनवरी 2016 से 26 अगस्त-2018 के बीच चंद्र में केतु का प्रत्यंतर था। इसी कारण उनके कुछ फैसलों ने जनता में गुस्सा पैदा किया था। इस दौरान उन्हें काफी आलोचनाओं और विरोध का भी सामना करना पड़ा और इसी समयावधि में उन्हें SC-ST एक्ट का भी विरोध झेलना पड़ा। इसके बाद 26 अगस्त-2018 से चंद्र में शुक्र का प्रत्यंतर शुरू हुआ। इसके परिणामस्वरूप लोगों के मन में उनके लिये नाराज़गी कम हुई और एक बार फिर से लोगों में उनके लिये विश्वास पैदा होने लगा। डॉ. मिश्र ने दावा किया कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भी मोदी को इसका लाभ मिला है।

ज्योतिषाचार्य ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कुंडली वृश्चिक लग्न की है और उनकी राशि भी वृश्चिक है। 11 अक्टूबर-2018 को गुरु उनके लग्न और राशि में प्रवेश कर चुके हैं। इसके कारण उनकी कुंडली में प्रबल गजकेसरी योग बना है, जो उन्हें दोबारा सत्ता में ला रहा है। डॉ. मिश्र ने कहा कि गजकेसरी योग एक प्रबल राजयोग है। गुरु की यह स्थिति एक बार फिर से मोदी का वर्चस्व बढ़ाएगी और इसके कारण 2019 में एक बार फिर मोदी ही देश के अगले प्रधानमंत्री बनेंगे।

हालाँकि ज्योतिषाचार्य ने यह स्वीकार किया कि इस बार की जीत 2014 जैसी शानदार तो नहीं होगी, कदाचित स्पष्ट बहुमत मिलने में भी मुश्किल होगी, परंतु प्रधानमंत्री तो नरेन्द्र मोदी ही बनेंगे। डॉ. मिश्र ने जोर देकर यह भी कहा कि चाहे जितने भी महा गठबंधन बन जाएँ, परंतु वह नरेन्द्र मोदी को पीएम बनने से नहीं रोक पाएँगे। ज्योतिषाचार्य ने अपनी भविष्यवाणी पर जैसी दृढ़ता दिखाई है, उससे अनुमान लगाया जा सकता है, उनकी भविष्यवाणी को नज़रअंदाज नहीं किया जा सकता।

ज्योतिषाचार्य ने भाजपा की कुंडली का भी जिक्र किया और बताया कि भाजपा का जन्म 6 अप्रैल-1980 को दिल्ली में हुआ। इसके जन्म का समय 11.40 मिनट है। इसे देखकर उन्होंने भाजपा की कुंडली का अध्ययन किया है। भाजपा की कुंडली मिथुन लग्न की है। भाजपा की कुंडली के तीसरे घर में मंगल, गुरु, शनि और राहू हैं और छठे घर में चंद्रमा है। नौवें घर में बुध और केतु हैं और दसवें घर में सूर्य हैं। बारहवें घर में शुक्र बिराजमान है। चंद्र में चंद्र 10 मार्च तक है, उसके बाद चंद्र में मंगल है, जो 10 अक्टूबर-2019 तक रहेगा। इसके चलते चंद्र में मंगल के कारण भाजपा की महादशा चल रही है। हालाँकि 7 मार्च को मिथुन राशि में राहु आ गया है और सप्तम घर में गोचर में शनि व केतु चल रहे हैं। गुरु वृश्चिक राशि में चल रहे हैं। इसके चलते भाजपा की कुंडली में भी गजकेसरी योग का निर्माण हुआ है और चूंकि यह प्रबल राजयोग है। इसलिये भाजपा को भी निर्विवाद रूप से सत्ता में आने से कोई नहीं रोक सकता है।

डॉ. मिश्र ने कहा कि यह योग भाजपा को सत्ता, मान और प्रतिष्ठा तो दिलाएगा, परंतु लग्न में राहु के आने से भाजपा के नेताओं में आपसी विवाद रहेगा, कदाचित एनडीए के नेताओं के साथ भी विवाद रहेगा। इससे उसकी ख्याति में गिरावट आएगी। परंतु संघर्ष की स्थिति में भी पार्टी सत्ता में वापसी कर रही है। डॉ. मिश्र ने यह भी कहा कि भाजपा नीत एनडीए को स्पष्ट बहुमत प्राप्त होने की संभावना भी कम ही है।

Leave a Reply

You may have missed