‘एक रुपये की कीमत आप क्या जानो रमेश बाबू’ : जानिए कहाँ मिलता है 1 रुपये का 340 रुपये दाम ?

रिपोर्ट : विनीत दुबे

अहमदाबाद, 13 जुलाई 2019 (YUVAPRESS)। अगर कोई बहुत पैसे उड़ाता है यानी खर्च करता है तो लोग कहते हैं कि उसे पैसों की कीमत नहीं मालूम, परंतु क्या आपको पता है कुछ देशों में भारत के एक रुपये की कीमत क्या है ? आप इन देशों में कम पैसे लगाकर बड़ा बिज़नेस कर सकते हैं। कम पैसों में इन देशों की विदेश यात्रा भी कर सकते हैं और इन देशों से सस्ते दामों में बहुत सारी विदेशी आइटमें भी खरीद कर ला सकते हैं। आइए जानते हैं कि किस देश में भारत के एक रुपये की क्या कीमत है ?

वियतनाम : एक रुपया = 339.71 वियतनामी डोंग

वियतनाम की मुद्रा का नाम डोंग है और यह भारतीय रुपये की तुलना में बहुत कमजोर है। इस देश में भारत का एक रुपया 339.71 वियतनामी डोंग के बराबर है। यहाँ 10 रुपये में 3,400 डोंग और 100 रुपये में 34,000 डोंग की वस्तु खरीद सकते हैं। वियतनाम एक छोटा परंतु शांतिप्रिय और प्राकृतिक सौंदर्य से सजा सुंदर देश है। इसलिये यदि आपका विदेश घूमने का विचार है तो कम पैसों में इस देश की यात्रा की जा सकती है।

इण्डोनेशिया : एक रुपया = 207.00 इण्डोनेशियन रुपया

इण्डोनेशिया की मुद्रा का नाम भी रुपया है। यहाँ की मुद्रा भी भारतीय रुपये से बहुत अधिक कमजोर है। यहाँ एक भारतीय रुपये का मूल्य 207 इण्डोनेशियन रुपये है। इसलिये यह द्वीपीय देश भी घूमने-फिरने के लिये भारतीयों के लिहाज से सस्ता और अच्छा डेस्टिनेशन है। यहाँ का साफ और नीले रंग का पानी ध्यान खींचता है। यहाँ की जलवायु उष्ण कटबंधीय यानी गर्म प्रकृति की है। भारतीयों को यहाँ का वीजा भी मुफ्त में मिल जाता है। इसलिये सस्ती विदेश यात्रा के इच्छुक भारतीय इस खूबसूरत देश की सैर का आनंद ले सकते हैं।

पैराग्वे : एक रुपया = 81.69 पैरागुएआन गुआरानी

पैराग्वे दक्षिण अमेरिकी देश है। इसकी मुद्रा गुआरानी है। इस देश की मुद्रा भी भारतीय मुद्रा से कमजोर है। यहाँ भारत के एक रुपये का मूल्य 81.69 पैरागुएआन गुआरानी है। जो लोग ब्राजील और अर्जेंटीना जैसे देशों की विदेश यात्रा करते हैं वह पड़ोस में स्थित पैराग्वे जाना भी पसंद करते हैं। पैराग्वे में प्रकृति का सौंदर्य तो है ही, परंतु अब यहाँ विदेशी पर्यटकों को लुभाने के लिये भौतिक सुविधाओं का भी विकास हुआ है। इसलिये यहाँ प्रकृति और भौतिकवाद का मिश्रण देखने को मिलता है। उल्लेखनीय है कि इस देश में एक भी दरगाह नहीं है।

कंबोडिया : एक रुपया = 58 कंबोडियन रियाल

कंबोडिया की मुद्रा रियाल है और यह भी भारतीय रुपये की तुलना में कमजोर है। इसलिये भारतीय नागरिक कम पैसों में कंबोडिया की विदेश यात्रा का मज़ा ले सकते हैं। कंबोडिया विशाल पत्थरों से बने अंगकोर मंदिरों के लिये प्रख्यात है। यहाँ की आबादी बुद्धिष्ट है। यहाँ रॉयल पैलेस, राष्ट्रीय संग्रहालय तथा पुरातात्विक खंडहर आकर्षण का केन्द्र हैं। पश्चिमी देशों के पर्यटकों के लिये कंबोडिया एक लोकप्रिय स्थल है। भारतीय पर्यटकों में भी इसकी लोकप्रियता तेजी से बढ़ रही है।

दक्षिण कोरिया : एक रुपया = 16.09 कोरियाई वॉन

अधिकांश भारतीय दक्षिण कोरियाई कंपनी सेमसंग के मोबाइल इस्तेमाल करते हैं। दक्षिण कोरिया बौद्ध मंदिरों, प्राकृतिक हरियाली और चेर के पेड़ों के लिये जाना जाता है। यहाँ उष्ण कटिबंधीय द्वीप तथा हाई-टेक शहर भी देखने को मिलते हैं। दक्षिण कोरिया मन भावन दृश्यों और परिदृश्यों से पर्यटकों को आकर्षित करता है वहीं इसका पड़ोसी देश उत्तर कोरिया ऐसी जगह है जहाँ कोई भी जाना पसंद नहीं करता है।

चिली : एक रुपया = 9.54 चिली पैसो

चिली ज्वालामुखी की चोटियों के लिये प्रसिद्ध है। इसके अलावा चिली में खेत, नदियाँ और घाटियाँ भी आकर्षण का केन्द्र हैं। चिली की पर्वत श्रृंखलाएँ भी दर्शनीय है और यहाँ के जंगलों की ट्रेकिंग अलग ही सुखद आनंद का अनुभव कराती है।

कोस्टा-रिका : एक रुपया = 8.05 बृहदान्त्र

यह मध्य अमेरिकी देश है जो सुंदर समुद्र तटों के लिये जाना जाता है। इस देश की मुद्रा का नाम बृहदान्त्र है। यह देश विदेशी पर्यटकों को बहुत आकर्षित करता है। यहाँ भी ज्वालामुखी, जंगल और वन्यजीव पर्यटकों का ध्यानाकर्षित करते हैं। यहाँ की जलवायु उष्ण कटिबंधीय है, जो पर्यटकों को काफी पसंद आती है।

हंगरी : एक रुपया = 4.05 हंगेरियन फ़ॉरिंट

हंगरी की राजधानी बुद्धापेस्ट दुनिया के सबसे रोमांटिक शहरों में से एक है। हंगरी भी एक ऐसा देश है जहाँ दरगाह देखने को नहीं मिलती है। यह देश अपनी वास्तुकला और संस्कृति के लिये काफी लोकप्रिय है, जो रोमन और तुर्की तथा अन्य संस्कृतियों से प्रभावित है। यहाँ महलों तथा पार्कों में जाने का अपना ही अलग मज़ा है।इसके अलावा श्रीलंका, नेपाल, आइसलैंड, जापान और पाकिस्तान भी ऐसे देशों में शुमार हैं, जिनकी मुद्रा भारतीय रुपये की तुलना में कमजोर है और सस्ती है।

You may have missed