जानिए PM मोदी 26 अप्रैल को ऐसा क्या करेंगे, जिससे सफलता की गारंटी देने वाला ‘साध्य योग’ स्वयं पड़ जाएगा कसौटी में ?

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लोकसभा चुनाव 2019 उत्तर प्रदेश की वाराणसी लोकसभा सीट से लड़ेंगे और नामांकन पत्र भरने के लिए उन्होंने साध्य योग का चयन किया है। मोदी साध्य योग में नामांकन पत्र भर कर विरोधियों पर लक्ष्य साधेंगे। साथ ही मोदी ने अपनी नामांकन तिथि निर्धारित करते समय अपने भाग्यशाली अंक 8 का भी ध्यान रखा है।

आपके मन में प्रश्न उठ रहा होगा कि यह साध्य योग क्या होता है और मोदी वास्तव में किस दिन नामांकन पत्र दाखिल करने वाले हैं ? तो इसका उत्तर आपको बता ही देते हैं। पीएम मोदी आगामी 26 अप्रैल को वाराणसी लोकसभा सीट से नामांकन पत्र दाखिल करेंगे। उन्होंने वाराणसी के ज्योतिषियों की सलाह पर यह तिथि निर्धारित की है। मोदी जिस दिन और समय नामांकन पत्र दाखिल करेंगे, उस समय साध्य योग होगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस वर्ष 26 अप्रैल को अत्यंत शुभ साध्य योग है। यह योग अपने नाम के अनुसार फल भी देता है। 26 अप्रैल को उत्तरासाढ़ा नक्षत्र, सप्तमी तिथि और दिवस शुक्रवार भी लाभकारी है। साध्य योग व इस नक्षत्र में किए गए कार्य से अधिकार क्षेत्र हर हाल में बरकरार रहता है। इस दिन भद्रा काल नहीं है। इस तरह मोदी ने नामांकन के लिए साध्य योग का चयन कर स्वयं साध्य योग को कसौटी में डाल दिया है।

मोदी के लिए भाग्यशाली रहा है अंक 8

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के राजनीतिक जीवन में 8 अंक भाग्यशाली रहा है। मोदी का जन्म 1950 में सितम्बर की 17 तारीख को हुआ, जिससे उनका मूलांक 8 बनता है। मोदी की राशि वृश्चिक है और नामांकन तिथि 26 अप्रैल को सभी ग्रह इस राशि के अनुकूल हैं। चंद्रमा इस दिन वृश्चिक के तृतीय स्थान यानी पराक्रम भाव में होगा। इस कारण भी 26 अप्रैल विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। सिंह लग्न व नवांश भी फलदायी है। अंक ज्योतिष के अनुसार 26 तारीख का मूलांक 8 है। पीएम मोदी के लिए 8 मूलांक भाग्यशाली रहा है। जब वे 2001 में पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने, तब तारीख थी 7 अक्टूबर यानी 7/10, जिसका कुलांक 8 होता है। मोदी ने गुजरात में 13 वर्ष शासन किया। मोदी ने पहला चुनाव राजकोट 2 विधानसभा क्षेत्र से 2002 में 26 फरवरी को लड़ा, जिसका कुलांक 8 होता है। मोदी ने 2014 में प्रधानमंत्री पद की शपथ 26 मई को ली, जिसका मूलांक 8 होता है। उन्होंने नवम्बर-2016 में नोटबंदी का फैसला 8 तारीख को लिया। उन्होंने अपनी सरकार की प्रमुख योजनाओं और कार्यक्रमों का शुभारंभ करने के लिए विशेष रूप से 8, 17 और 26 तारीखों का ही चयन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed