आश्चर्यजनक, परंतु सत्य : देश में 1 नहीं, 211 नरेन्द्र मोदी !

हर मामले में मोदी से पीछे रहने वाले राहुल इस मामले में मोदी से निकल गए आगे, पर शाह ने दिया पछाड़

रिपोर्ट : विनीत दुबे

जी हाँ ! आपने शीर्षक में जो भी पढ़ा है, वह बिल्कुल सत्य है। नरेन्द्र मोदी देश भर में 211 जगहों पर मतदान कर सकते हैं और राहुल गांधी भाजपा को वोट दे सकते हैं। इससे भी अधिक चौंकाने वाली बात तो यह है कि इस चुनाव में जवाहरलाल नेहरू भी मतदान करने वाले हैं।

दरअसल हम बात कर रहे हैं चुनाव आयोग की उस मतदाता सूची की, जिसमें केवल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ही अकेले मतदाता नहीं हैं, जिनका नाम नरेन्द्र मोदी है। वास्तव में इस मतदाता सूची में नरेन्द्र मोदी नाम के 211 मतदाता दर्ज हैं। इसलिये नरेन्द्र मोदी 211 मतदान केन्द्रों पर मतदान करेंगे, इनमें से 5 चरणों में मतदान सम्पन्न हो चुका है, अर्थात् कई नरेन्द्र मोदी तो मतदान कर भी चुके हैं।

देश में 783 राहुल गांधी

इसी तरह मतदाता सूची में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नाम के 783 मतदाता दर्ज हैं। इनमें से कई राहुल गांधी कांग्रेस के, तो कई राहुल गांधी भाजपा समर्थक होंगे, जो भाजपा को वोट दे सकते हैं। इतना ही नहीं, चुनाव आयोग की वोटर हेल्पलाइन ऐप के अनुसार आज़ाद भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के नाम वाले भी 76 मतदाता इस सूची में दर्ज हैं, जो लोकसभा चुनाव 2019 में मतदान करेंगे।

शाह-मायावती-अखिलेश की भरमार

चुनाव आयोग की वोटर हेल्पलाइन ऐप के मुताबिक पूरे देश में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह नाम के 3,482 मतदाता हैं। वहीं बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती के नाम वाले 27,285 वोटर हैं। ऐप के अनुसार समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नाम वाले 12,935 मतदाता भी सूची में दर्ज हैं। उत्तर प्रदेश के एक और पूर्व मुख्यमंत्री तथा वर्तमान में केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के नाम वाले 2,329 वोटर लोकसभा चुनाव 2019 में मतदान करेंगे।

कितनी ममता देश में ?

ऐप के अनुसार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बैनर्जी के नाम वाली 101 महिला मतदाता भी मतदान सूची का हिस्सा हैं। भोपाल की भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर तो अपने नाम वाली एक मतदाता से मिल भी चुकी हैं, यह प्रज्ञा सिंह ठाकुर भी चुनाव में उम्मीदवारी करने वाली थी, परंतु साध्वी प्रज्ञा सिंह ने ही उन्हें समझा-बुझाकर चुनाव लड़ने से रोक दिया। हालाँकि साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के नाम वाली पूरे देश में 207 महिला मतदाता दर्ज हैं।

पप्पू-फेंकू भी मैदान में

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 में पप्पू और फेंकू भी मतदान करने वाले हैं। पप्पू नाम के सर्वाधिक पौने पाँच लाख मतदाता सूचीबद्ध हैं, जबकि फेंकू नाम के मात्र 15,248 मतदाता लोकतांत्रिक पर्व मतदान में भाग लेने वाले हैं। उल्लेखनीय है कि गुजरात विधानसभा के 2017 में हुए चुनाव से पहले चुनाव आयोग ने इलेक्ट्रोनिक विज्ञापनों में पप्पू शब्द के उपयोग पर रोक लगा दी थी, क्योंकि भारतीय राजनीति में जबसे राहुल गांधी कांग्रेस के महासचिव और बाद में कांग्रेस के अध्यक्ष बने तब से ही पप्पू और फेंकू जैसे शब्द बार-बार उभरते रहे हैं। चुनाव आयोग ने इस शब्द को अपमानजनक बताते हुए इस शब्द के चुनावी प्रचार में उपयोग पर प्रतिबंध लगाया था। हालाँकि जिनके नाम ही पप्पू हैं और जो मतदाता भी हैं, वह वोट तो करेंगे ही ना।

लड़ाकू मतदाताओं को जानते हैं ?

रोचक तथ्य तो यह है कि मिराज, मिग, सुखोई भारत के लड़ाकू विमान हैं, परंतु इस नाम के मतदाता भी चुनाव आयोग की मतदाता सूची में दर्ज हैं। इसलिये मिराज, मिग और सुखोई भी मतदान करने वाले हैं। पूरे देश में मिग नाम के 18,500, मिराज नाम के 17,762 और 63 सुखोई मतदाता हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed