दुनिया के विचित्र रेस्टोरेंट्स : कहीँ FREE DINNER, कहीं SECRET ENTRY, तो कहीं श… बोलना मना है !

रिपोर्ट : विनीत दुबे

अहमदाबाद, 12 जुलाई 2019 (युवाPRESS)। एक समय था जब भारत में भोजन और पानी बेचना पाप माना जाता था। उस समय भूखे को भोजन कराना सेवा धर्म कहलाता था, परंतु वर्तमान समय में खान-पान एक व्यवसाय का रूप ले चुका है, जो पैसा कमाने का साधन बन चुका है। सरकार भी टैक्स के रूप में होटल-रेस्टोरेंट से पैसा कमा रही है। इस कारण से खान-पान काफी महँगा भी हो गया है, परंतु खान-पान के शौकीन लोग भी होटल-रेस्टोरेंट के आधुनिक कल्चर का लाभ उठाने में पीछे नहीं रहते हैं। हालाँकि जब लोग वीकेंड में होटल-रेस्टोरेंट में रात्रि भोजन (DINNER) करने के लिये निकलते हैं तो सस्ता होटल या रेस्टोरेंट तलाश करते हैं। आज हम आपको दुनिया के कुछ अजीबो-गरीब रेस्टोरेंट के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

अहमदाबाद में है मुफ्त में DINNER कराने वाला रेस्टोरेंट

गुजरात की आर्थिक राजधानी अहमदाबाद के नवरंगपुरा क्षेत्र में सी. जी. रोड पर स्थित सेवा कैफे एक ऐसा रेस्टोरेंट है, जहाँ आपको भरपेट स्वादिष्ट भोजन कराया जाता है और कोई बिल नहीं दिया जाता है। यह रेस्टोरेंट लोगों की वीकेंड में होटल-रेस्टोरेंट में खाने-पीने की रुचि को देखते हुए हर सप्ताह में 4 दिन यानी गुरुवार से रविवार तक हर शाम 7 से रात 10 बजे तक खुला रहता है। इस सेवा कैफे रेस्टोरेंट का उद्देश्य 3 घण्टे में कम से कम 50 लोगों को भोजन कराना है। यह रेस्टोरेंट शहर में लगभग 12-13 वर्षों से चल रहा है। मानव सदन, ग्रामश्री और स्वच्छ सेवा आदि NGO मिलकर इस सेवा कैफे रेस्टोरेंट को चलाते हैं और इन एनजीओ के स्वयंसेवक ही भोजन पकाने तथा परोसने का काम करते हैं। भरपेट भोजन करने के बाद यदि ग्राहक खुद चाहे तो गिफ्ट के तौर पर जितना पैसा देना चाहे उतना दे सकता है। इस प्रकार यह रेस्टोरेंट गिफ्ट इकॉनॉमी मॉडल पर काम करता है और डिनर करने वाले लोगों को कोई बिल नहीं देता है। इस सेवा कैफे के संचालक के अनुसार इस रेस्टोरेंट को विविध एनजीओ के स्वयंसेवक मिलकर चलाते हैं और भोजन कराने के बदले में स्वयंसेवक ग्राहकों से बिल के पैसे लेने के बजाय गिफ्ट इकॉनॉमी मॉडल को आगे बढ़ाने की शुभ भावना पर जोर देते हैं। अगर आप भी बिना बिल पे किये भरपेट स्वादिष्ट भोजन करना चाहते हैं तो इस रेस्टोरेंट का लाभ उठा सकते हैं।

अमेरिका के इस रेस्टोरेंट में जंगल से होकर जाना होगा

यदि आप ट्रैकिंग और एडवेंचर ट्रैवलिंग के शौकीन हैं तो आपके लिये अमेरिका में स्थित दी यर्ट रेस्टोरेंट एक अच्छी जगह हो सकती है। इस रेस्टोरेंट में भोजन करने के लिये लोगों को घने जंगल से होकर जाना होता है, जिससे उनका ट्रेकिंग और एडवेंचर ट्रैवलिंग का शौक भी पूरा होता है। इस रेस्टोरेंट में एक साथ 24 लोग बैठकर भोजन कर सकते हैं।

ओपेक डार्क डाइनिंग रेस्टोरेंट में अंधेरे में खाने का मज़ा

डार्क डाइनिंग रेस्टोरेंट की शुरुआत वैसे तो यूरोप में हुई, परंतु अब यह अमेरिका में भी उपलब्ध है। ओपेक नामक डार्क डाइनिंग रेस्टोरेंट में आप अंधेरे में खाने का लुत्फ उठा सकते हैं। इस तरह का रेस्टोरेंट शुरू करने का उद्देश्य यह है कि लोग उन चीजों पर अधिक ध्यान दे सकें, जिन्हें वह सामान्य स्थिति में अनदेखा कर देते हैं।

चीन के इस रेस्टोरेंट में गुप्त ढंग से जाना पड़ता है

आपको जानकर हैरानी होगी कि चीन की राजधानी शंघाई में एक रहस्यमयी बिल्डिंग है, जिसके बारे में किसी को भी पता नहीं है। इस बिल्डिंग में एक रेस्टोरेंट भी है, जिसमें हर रोज शाम को लोग खाना खाने भी जाते हैं, परंतु उन्हें यह पता नहीं होता है कि वह कहाँ भोजन कर रहे हैं। दरअसल इस रेस्टोरेंट में प्रति दिन 10 मेहमानों के लिये 20 कोर्स मेनू होता है, जो लोग इस रेस्टोरेंट में जाना चाहते हैं उन्हें एक निश्चित स्थान पर बुलाया जाता है और यहाँ से उन्हें गुप्त ढंग से रेस्टोरेंट में ले जाया जाता है। यहाँ डाइनिंग हॉल में किसी तरह की कोई सजावट देखने को नहीं मिलती है। इस रेस्टोरेंट में खाने के लिये लोगों को चार महीने पहले से बुकिंग करवानी पड़ती है। इस रेस्टोरेंट को अल्ट्रावायलेट नाम दिया गया है।

इस रेस्टोरेंट में बोलना है मना, इशारों से देना होता है ऑर्डर

चीन के ग्वांगझू में दुनिया की तीसरे नंबर की सबसे बड़ी फूड चेन स्टारबक्स ने एक अजीबो-गरीब रेस्टोरेंट शुरू किया है। इस रेस्टोरेंट में आपको बोलने की इजाजत नहीं है, यहाँ आपको मात्र इशारों से ही खाने का ऑर्डर देना पड़ता है। अपने स्वभाव के हिसाब से ही इसे साइलेंट कैफे नाम दिया गया है। यह चीन का इस तरह का पहला रेस्टोरेंट भी है। आप हाथों के इशारे से मेनू कार्ड के नंबर को बताएंगे तो आपका ऑर्डर आपके टेबल पर आ जाएगा। अगर कोई बात आप कर्मचारियों को इशारे से नहीं समझा पा रहे हैं तो आप नोटपैड पर लिखकर भी दे सकते हैं। वैसे आपकी सुविधा के लिये रेस्टोरेंट की दीवारों पर सांकेतिक भाषा के चिह्न और इंडिकेटर बने हुए हैं।

बर्फ से प्यार है तो दुबई के चिलआउट आइस लाउंज में कीजिये भोजन

यदि आपको बर्फ पसंद आती है तो यह रेस्टोरेंट आपके लिये बेहतरीन जगह हो सकती है। यहाँ फर्नीचर से लेकर सजावट तक सब चीजें बर्फ से बनी हैं। हालाँकि कुर्सी पर एक्रेलिक पैड्स लगाए गये हैं, ताकि आप बर्फ की सीट पर बैठ सकें। यदि आपको बहुत अधिक ठंड लगती है तो ठंड से बचने के लिये आपको भेड़ की खाल से बनी जैकेट मिल जाती है।

You may have missed