रतन टाटा ने 17 साल के लड़के के स्टार्टअप में किया बड़ा निवेश

Written by

मशहूर उद्योगपति रतन टाटा ने दो साल पुरानी अर्जुन देशपांडे के स्टार्टअप ‘जेनरिक आधार’ में निवेश किया। इसके फाउंडर अर्जुन 17 साल के हैं। हालांकि टाटा ने इसमें कितना निवेश किया है इसकी जानकारी नहीं है।

क्या है अर्जुन का स्टार्टअप

जेनरिक आधार’ का मुख्य काम खुदरा कारोबार है। वह मैन्युफैक्चरर्स से दवा लाकर रिटेलर्स को बेचती है। जेनरिक आधार ने फिलहाल मुंबई, पुणे, बेंगलुरू और ओडिशा के 30 रिटेलर्स के साथ टाई-अप किया है। वह WHO-GMP फसिलिटी से दवा खरीदती है सस्ती दरों पर इन्हें बेचती है। कंपनी की तरफ से कहा गया कि आने वाले दिनों में वह गुजरात, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, नई दिल्ली, गोवा और राजस्थान जैसे राज्यों में 1000 फार्मेसी के साथ पार्टनरशिप करेगी और सस्ती दवा बेचेगी

16 साल उम्र में शुरू की था स्टार्टअप
अर्जुन देशपांडे जब केवल 16 साल के थे, तभी उन्होंने इस कंपनी की शुरुआत की थी। उनका स्टार्टअप बिल्कुल नए फार्मेसी-एग्रीगेटर बिजनस मॉडल को फॉलो करता है। इस कंपनी ने मैन्युफैक्चरर्स को डायरेक्ट सोर्स बनाया है और रिटेल फार्मेसी तक जेनेरिक दवाओं को बेचती है। ऐसे में रिटेलर्स की कमाई 20 फीसदी तक बढ़ गई है।

क्या है अर्जुन का मिशन
अर्जुन देशपांडे ने कहा कि हमारा मिशन है बुजुर्गों और पेंशनभोगियों को जरूरत की दवाई कम से कम कीमत में उपलब्ध हो सके। एक सर्वे के मुताबिक देश की 60 फीसदी आबादी तक जरूरी दवाई की पहुंच इसलिए नहीं है, क्योंकि वह बहुत महंगी है। मैं इसके जरिए कीमत को घटाना चाहता हूं।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares