कभी कछुए के लिए कुछ किया है ? नहीं किया, तो इस VIDEO को देखिए

Written by

अब कछुए की चाल नहीं चलता, सरपट भागता है यह कछुआ


अहमदाबाद, 24 जून-2019 (युवाप्रेस डॉट कॉम)। इंसान ही नहीं, पशु-पक्षी भी विकलांग हो सकते हैं, परंतु भाग-दौड़ से भरी आधुनिक जीवन शैली में इंसान दिन प्रति दिन स्वार्थी और स्वकेन्द्रित होता जा रहा है। व्यक्ति की अपनी ही इतनी परेशानियाँ हैं कि उसके पास दूसरों के दुःख तकलीफें देखने या उन्हें दूर करने का समय ही नहीं मिलता है। हालाँकि सभी लोग ऐसे नहीं हैं, आज भी कुछ लोग ऐसे हैं जो दूसरों के दुःख तकलीफें देखकर पिघल जाते हैं और उनके जीवन के कष्टों को दूर करने का प्रयास भी करते हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया है अमेरिका में।

विकलांग कछुए को गोद लेकर उठाई जिम्मेदारी


संयुक्त राज्य अमेरिका (USA) की ल्यूसियाना स्टेट यूनिवर्सिटी के वेटरीनरी टीचिंग के छात्रों और डॉक्टरों ने मिलकर एक विकलांग कछुए के लिये जो किया है, उसे देख-सुनकर आपके हृदय में भी उनके लिये सम्मान की भावना जागृत हो जाएगी। एक 15 साल की उम्र का Pedro नामक कछुआ विकलांग है, जिसके पीछे वाले दोनों पैरों ने काम करना बंद कर दिया था। इसलिये यह कछुआ चलने-फिरने के लिये असमर्थ हो गया था।
आधुनिक समय में जब लोग अपने सगे माता-पिता को भी बीमार और लाचार हो जाने पर उनकी सेवा करने के स्थान पर उन्हें बेसहारा छोड़ देते हैं और उनसे अलग रहने चले जाते हैं या माता-पिता का त्याग ही कर देते हैं। ऐसे समय में अमेरिका की Sandra Traylor ने इस विकलांग और लाचार कछुए को गोद लेकर एक सराहनीय कदम उठाया, जो अन्य लोगों के लिये एक मिसाल बन गया है। इसके बाद सेंड्रा ने इस विकलांग कछुए को चलने-फिरने के योग्य बनाने की दिशा में प्रयास शुरू किये तो ल्यूसियाना स्टेट यूनिवर्सिटी के छात्र और डॉक्टर्स उनकी मदद के लिये आगे आए।

ल्यूसियाना स्टेट यूनिवर्सिटी के छात्रों-डॉक्टरों का सराहनीय कदम


सेंड्रा के अनुसार पहले इस कछुए के तीन पैर काम करते थे, जिससे वह थोड़ा-बहुत चल लेता था, परंतु धीरे-धीरे पीछे का दूसरा पैर भी चला गया, जिससे वह चलने-फिरने में असमर्थ हो गया था, परंतु एलएसयू के छात्रों और डॉक्टरों ने न सिर्फ इस कछुए का उपचार किया, बल्कि वह चल फिर सके, इसके लिये एक विशेष व्हील चेयर बनाई। यह व्हील चेयर कछुए के पीछे के भाग में उसके पिछले पैरों के स्थान पर फिट कर दी है, जिससे कछुआ आगे के पैरों के सहारे और पीछे व्हील चेयर की मदद से अब न सिर्फ चल सकता है बल्कि अन्य स्वस्थ कछुओं की तुलना में सरपट भाग सकता है। अब उसे चलने में कोई दिक्कत पेश नहीं आती है।
आजकल पेड्रो नामक यह कछुआ सोशल मीडिया पर काफी छाया हुआ है और उसे चलने-फिरने के योग्य बनाने वाले उसके मालिक, अस्पताल के डॉक्टर्स, स्टूडेंट्स आदि पूरी टीम की लोग जमकर प्रशंसा कर रहे हैं।
आप भी देखिये इस वीडियो में…कैसे सरपट भागता है पेड्रो नामक कछुआ। उसे चलता-फिरता करके पेड्रो की माता सेंड्रा औऱ एलएसयू के छात्र तथा डॉक्टर्स भी अब खुश हैं। इन सभी के इस सराहनीय कदम की चहुँओर प्रशंसा हो रही है।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares