विश्व पर्यावरण दिवस पर ले धरती को बचाने का संकल्प

Written by

लॉकडाउन ने जीवन को धीमा कर दिया है लेकिन इसने प्रकृति को ठीक से देखने का मौका दिया है हर साल 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। विश्व पर्यावरण दिवस मनाए जाने का उद्देश्य पर्यावरण के प्रति लोगों में जागरुकता फैलाना है। विश्व पर्यावरण दिवस को आप प्राकृति मां के प्रति अपनी कृतज्ञता प्रकट करने का दिन कह सकते हैं। दुनियाभर के कई देशों में लोगों की संख्या काफी अधिक हो गई है और साथ प्रदूषण में भी काफी इजाफा हुआ है। भूमि, जल, वायु प्रदूषण के स्तर में वृद्धि हुई है और इसी वजह से विश्व पर्यावरण दिवस की शुरुआत की गई ताकि लोगों को इसके प्रति जागरूक किया जा सके।

पर्यावरण को सुधारने हेतु यह दिवस महत्वपूर्ण है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा संचालित विश्व पर्यावरण दिवस दुनिया का सबसे बड़ा वार्षिक आयोजन है। इसका मुख्य उद्देश्य हमारी प्रकृति की रक्षा के लिए जागरूकता बढ़ाना और दिन-प्रतिदिन बढ़ रहे विभिन्न पर्यावरणीय मुद्दों को देखना है।इसका मकसद पृथ्वी और मानव विकास पर जीवन का समर्थन करने वाले आवश्यक बुनियादी ढांचे को प्रदान करने पर ध्यान दिया जाए।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर एक ट्वीट में कहा, ‘#विश्‍व पर्यावरण दिवस पर हम अपनी धरती की समृद्ध जैव विविधता को संरक्षि‍त करने का अपना संकल्‍प दोहराते हैं। आइए, हम सभी सामूहिक रूप से यथासंभव ठोस प्रयास कर पृथ्‍वी पर अपने साथ फल-फूल रही वनस्पतियों और जीवों की सुरक्षा सुनिश्चित करें। अथक प्रयासों से हम इस धरती को आने वाली पीढ़ियों के लिए बेहतर स्थान बना सकते हैं।’

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares