जानें, Income tax savings के 9 स्मार्ट तरीके

Written by
Know all about 9 Income tax saving investment tips. Tax benefits under Section 80C is 1.5 lakhs.

1 फरवरी को वित्तमंत्री (Finance Minister) अरुण जेटली बजट पेश करेंगे। Individual taxpayers को उम्मीद है कि Financial Year 2018-19 में Tax slabs में बदलाव किए जाएंगे। वर्तमान में 2.5 लाख तक Tax free income  है। 2.5 लाख से 5 लाख के बीच 5 percent , 5 लाख से 10 लाख के बीच 20 percent और 10 लाख से ज्यादा इनकम पर 30 percent Income tax भरना पड़ता है।

Financial Year शुरू होते ही सभी Employees को Income Tax Return (ITR) फाइल करना पड़ता है। सभी की कोशिश होती है कि ज्यादा से ज्यादा Investment दिखाकर वे कम से कम टैक्स भरें। ऐसे में Yuvapress.com आपको Income Tax बचाने के तरीके बता रह है। अगर आपने इन जगहों पर निवेश किया है तो आपको Tax saving करने में मदद मिलेगी।

Income Tax Act के Section 80C के तहत आप अलग-अलग तरीके से 1.5 लाख रुपए तक Investment दिखाकर टैक्स बचा सकते हैं।

Eligible expenses for deduction under section 80 C

  1. Home Loan Installment की रकम को आप 80 C में दिखा सकते हैं।
  2. EMI (Home Loan Instalment) के अलावा Registration charges and stamp duty भी 80C में कवर किया जाता है।
  3. 2 बच्चों की Tuition fees को भी 80C में दिखाया जा सकता है।
  4. EPF (Employees Provident Fund) and Life insurance premium भी 80C में कवर होता है।

 Life Insurance का मकसद Income tax बचाना नहीं होता है। Life insurance आपके द्वारा लिए जा रहे रिस्क को कवर करता है। इसका मकसद ये भी नहीं है कि आप अपनी जान जोखिम में डालें।

Sukanya Samriddhi Scheme में अगर आप इंवेस्ट करते हैं तो यह भी 80 C के अंतर्गत आता है।

अगर आपकी बेटी 10 साल से छोटी है तो Sukanya Samriddhi Scheme का आप फायदा उठा सकते हैं। इस योजना में निवेश करने पर आपको 8.1 percent का टैक्स फ्री रिटर्न मिलता है।

What is Sukanya Samriddhi Scheme ?

क्या है सुकन्या समृद्धि योजना ?

10 साल की उम्र तक की किसी भी लड़की के नाम पर इस योजना के तहत बैंक अकाउंट खुलवाए जा सकते हैं। एक Parents अपनी दो बेटियों के लिए भी इस योजना के तहत Bank account खुलवा सकते हैं। बैंक अकाउंट किसी भी Government banks, Co-operatives और Post office में खुलवाए जा सकते हैं। Account holder जब तक 21 साल की नहीं हो जाती है तब तक Account close नहीं किए जा सकते हैं। Account close नहीं होने की स्थिति में Available balance पर योजना का लाभ मिलता रहेगा।

Return और Withdrawal टैक्स फ्री

Account holder के 18 साल पूरा होने के बाद ही उस अकाउंट से आधे पैसे निकाले जा सकते हैं। Account opening के लिए Initial amount 1000 रुपए है। हर महीने जमा की जाने वाली राशि 100 रुपए के मल्टीपल में होनी चाहिए। एक साल में अधिकतम( Maximum) 1.5 लाख रुपए तक जमा की जा सकती है। Account opening day के 14 साल बाद तक उस अकाउंट में पैसे जमा किए जा सकते हैं। 14 साल के बाद उस अकाउंट पर पैसे जमा नहीं किए जा सकते हैं। इस योजना की सबसे बड़ी खासियत है कि Return और Withdrawal टैक्स फ्री होता है।

EPF में ऐसे निवेश कर पाएं बेहतर और Tax free return

नियम के मुताबिक Basic salary का 12 फीसदी EPF के तौर पर काटा जाता है। आप चाहें तो अपनी पूरी Basic salary EPF के रूप में जमा कर सकते हैं। इसके अलावा DA (Dearness Allowance) भी EPF अकाउंट में जमा करवाया जा सकता है। अगर आप 12 फीसदी से ज्यादा बेसिक सैलरी EPF के लिए डालते हैं तो your EPF becomes your VPF (Voluntary Provident Fund). सेविंग के लिहाज से VPF बेहतर और सुरक्षित ऑप्शन है क्योंकि Voluntary Provident Fund पर 8.4 फीसदी का Tax free return मिलता है। VPF का फायदा 80C के रूप में उठाया जा सकता है।

Public Provident Fund के जरिए भी Tax free return

Voluntary Provident Fund के अलावा PPF (Public Provident Fund) में भी इंवेस्ट कर 80C का फायदा उठाया जा सकता है। Public Provident Fund एक Long term investment plan है जिसपर आपको 7.6 फीसदी का रिटर्न मिलता है। Maturity होने के बाद आपको जो रकम मिलेगी वह भी Tax free होगी।

National Pension System में निवेश भी टैक्स फ्री

NPS (National Pension System) में भी इंवेस्ट कर आप 80C के तहत Tax benefits का लाभ उठा सकते हैं। National Pension System एक Retirement planning investment scheme है। अगर आप इसमें इंवेस्ट करते हैं तो Employee and Employer दोनों को 80 CCD के तहत टैक्स में छूट मिलती है। अगर आपने 80C के तहत पहले ही 1.5 लाख की लिमिट को पूरा कर लिया है तो Income Tax Act के Section 80CCD (1B) के तहत आप अलग से 50 हजार के इनकम पर Tax saving का लाभ उठा सकते हैं। NPS के मैच्योर होने पर 40 फीसदी रकम Tax free होता है जबकि 60 फीसदी रकम आपके प्लान पर निर्भर करता है। अगर आपने NPS के annuity plan में इंवेस्ट किया होगा तो वह टैक्स फ्री होगा।

ELSS (Equity linked Saving Scheme)

According to investment experts, Equity linked Saving Scheme is the best tax saving investment option that you can go for. इस स्कीम का lock-in period केवल 3 साल के लिए होता है। रिटर्न मार्केट पर निर्भर करता है। ऐसे में आप अगर छोटे रिस्क के लिए तैयार है तों ELSS में इंवेस्टमेंट किया जा सकता है। ELSS में Investment, Capital gain और Dividend टैक्स फ्री होता है।

80 C का मिलेगा फायदा लेकिन रिटर्न Taxabla

कुल मिलाकर 80 C के तहत बहुत सारे इंवेस्टमेंट कवर होते हैं जिसका फायदा टैक्स रिटर्न में होता है। अगर आपने 5 साल के लिए Post office time deposits किया है, बैंक में पांच साल के लिए fixed deposits किया है, National Savings Certificate में इंवेस्ट किया है, Specified Government Bonds में इंवेस्ट किया है तो आप उस इंवेस्टमेंट का फायदा  80 C के तहत उठा सकते हैं। हालांकि इन सभी योजनाओं में जो Interest return मिलता है वह taxable होता है।

Article Categories:
Indian Business · News · Startups & Business

Leave a Reply

Shares