‘चोर-चोर’ का शोर सुनते ही हनुमंता ने लगाई दौड़, पुलिस ने किया सम्मान

Written by

रिपोर्ट : तारिणी मोदी

अहमदाबाद 14 दिसंबर, 2019 (युवाPRESS)। अक्सर अपराध करने वाला ये भूल जाता है कि उसके दुष्कर्मों का परिणाम भी दु:खद ही होता है। ऐसा ही कुछ हुआ एक मोटर साइकिल सवार चोर के साथ। बेंगलुरू के इस चोर ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि एक ड्राइवर उसके लिए परेशानी का सबब बन जाएगा। हमेशा की तरह यह चोर बाइक पर सवार होकर निकला और एक व्यक्ति के गले से चेन खींच कर भागा। तभी ‘चोर, चोर’ का शोर सुन एक ऑटो ड्राइवर ने बड़ी ही दिलेरी के साथ इस चोर को धर दबोचा और पुसिल के हवाले कर दिया।

दरअसल पकड़ा गया चोर बेंगलुरु का एक कुख्यात चेन स्नेचर है और काफी दिनों से बेंगलुरू पुलिस उसकी तलाश में थी। जिस समय वह चेन खींच कर भाग रहा था, उसी समय हनुमंता नाम का एक ऑटो ड्राइवर वहीं अपने ऑटो के साथ खड़ा था। ‘चोर, चोर’ की आवाज़ सुन कर हनुमंता ने तनिक भी देर न करते हुए अपना ऑटो चेन खींच कर भाग रहे चोर की बाइक के पीछे दौड़ा दिया। यह देख एक और व्यक्ति ने अपनी बाइक से चोर का पीछा करना शुरू कर दिया। दो-दो लोगों के पीछा करने से गबराया चोर आगे जाकर बाइक से गिर गया और सड़क से अलग मार्ग पर पैदल भागने लगा। हनुमंता भी उसके पीछे दौड़े, तभी पीछे आ रहे बाइक वाले ने हनुमंता को बाइक पर बैठाया और दोनों ने मिल कर चोर को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया।

हनुमंता की दिलेरी और बहादुरी को देख कर बेंगलुरू पुलिस ने उन्हें 10,000 रुपये के पुरस्कार से सम्मानित भी किया। आज के समय में हनुमंता उन सभी लोगों के लिए प्रेरणा हैं, जो यह सोच कर कुछ नहीं बोलते कि क्या चोरी हमारी हुई है ? साथ ही ऐसे लोगों के लिए भी जो अपने आस-पास हो रहे अपराध को देख कर भी अनदेखा कर देते हैं, जिससे न केवल अपराधियों का मनोबल बढ़ता है, अपितु अपराध भी खुले आम हो रहे हैं। यदि अपराध को समाप्त करना है तो हनुमंता की तरह हर व्यक्ति को जागरुग होना होगा, तभी हमारा समाज एक आदर्श समाज बन पाएगा।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares