कोर्ट का फैसला को सुनकर रो पड़ा आसाराम, ताजिंदगी उम्रकैद भुगतनी होगी

Written by
Asaram Case Verdict

युवाप्रेस :- आसाराम रेप केस (Asaram Case Verdict) में फैसला आ चुका है जिसको सुनते ही आसाराम रो पड़ा। ऐसा बताया जा रहा है कि उसके सीने में दर्द की शिकायत है। इस केस के फैसले को सुनकर लोगों का कानून के प्रति विश्वस जाज्ञा है। ऐसा पहले से ही कहा जा रहा था कि आसाराम को दोषी ही कारार किया जायेगा और ऐसा ही हुआ। बता दें कि पंकूला की घटना से सबक लेते हुए राजस्थान पुलिस ने जोधपुर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर रखी है और पूरे जोधपुर में धारा 144 लागू किया गया है। ऐसा लग रहा है कि शहर को पूरी छावनी में बदल दी गई है।

वैसे जब आसाराम दोषी सिद्ध हो गया तो हमे यह कहने में कतई गलत नहीं होगा कि इन जैसे लोगों के कारण ही धार्म बदनाम होता है। ऐसे लोग जो धर्म को चोला ओड़ लेते हैं और ऐसे गुनाह करते रहते हैं उनको भगवान भी कभी माफ नहीं करता। हर गुनागार का पाप का घड़ा एक दिन भर ही जाता है जैसा आसाराम के साथ हुआ। ऐसे लोगों का अंत भी ऐसे ही होता है। बता दें कि कोर्ट के फैसले (Asaram Case Verdict) में आसाराम को जोधपुर आदालत ने नाबालिग लड़की के साथ दोषी करार दिया और उसके इस गुनाह में साथ देने वाले अन्य दो आरोपियों को भी दोषी ठहराया तथा दो आरोपी बरी हो गये। आसाराम को सजा के तौर पर ताजिंदगी उम्रकैद की सजा मिली तथा दोनों दोषियों को 20-20 साल की कैद की सजा सुनाई गई। सजा होने के बाद आसाराम के कुछ समर्थक ये कह रहे हैं कि आसाराम के साथ नाइंसाफी हुई है और वे हाईकोर्ट में सजा के खिलाफ अपीद दर्ज करेंगे।

आसाराम केस में फैसला (Asaram Case Verdict) आने के बाद आपात स्थिति से निपटने के लिए जोधपुर के दो स्टेडियमों को अस्थायी जेल में बदल दिया गया है। इसके अलावा गृह मंत्रालय ने राजस्थान सरकार को सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रखने का आदेश भी दिया है। इसके अलावा गुजरात और हरियाणा में भी सुरक्षा व्यवस्था का कड़ा प्रबंध किया गया है। ऐसा सरकार ने इसलिए किया क्योंकि इन तीनों राज्यों में आसाराम के हजारों समर्थक मौजूद हैं। वैसे अभी तक कहीं से भी हिंसा की कोई खबर नहीं मिली है।

31 अगस्त 2013 को इंदौर के खंड़वा रोड के एक आश्रम से आसाराम को गिरफ्तार किया गया था और पांच साल तक आसाराम को जेल में ही रहना पड़ा। इसके बाद आसाराम को कोर्ट ने दोषी करार दिया और सजा सुनाई। इससे पहले आसाराम के आश्रम की ओर से एक प्रेस रिलीज जारी करके समर्थकों को शांति बनायें रखने की अपील की गई थी। कुछ सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि आसाराम के पास लगभग 2 हजार करोड़ की संपत्ति है और अभी भी पूरे देश में 2 से 4 करोड़ तक आसाराम के भक्तों की संख्या हो सकती है। इसके भक्तों की संख्या को देखते हुए ही सरकार को सुरक्षा के इंतेजाम कड़े करने पड़े। ऐसा लग रहा था कि कही आसाराम के समर्थक दंगा न फैलाये और कोई अनहोनी को अंजाम न दे। इसलिए सरकार इन सब चिजों से निपटने के लिए कड़ी सुरक्षा कर रखी है।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares