बाबा रामदेव का खुलासा, “Patanjali ये काम कभी नहीं करेगी”

Written by
Baba Ramdev led Patanjali Ayurved goes online. Partnership with 8 E-Commerce companies. Hindustan Unilever Ltd(HUL), Amazon, Grofers

16 जनवरी 2018 को योगगुरु Baba Ramdev की अगुवाई वाली कंपनी Patanjali Ayurved ने Online market की दुनिया में कदम रखा। पतंजलि के प्रोडक्टस अब Amazon, Flipkart, Paytm Mall, Bigbasket, Grofers, ShopClues और Snapdeal पर मिल जाएंगे। 8 E-Commerce कंपनियों के साथ Partnership के बाद बाबा रामदेव ने मीडिया से कहा कि कंपनी का लक्ष्य इस साल 1000 करोड़ के Online sales का है।

 

जानें  2017 में कितना रहा था  Patanjali का टर्नओवर 

 

MRP पर बिकेंगे Patanjali के सभी प्रोडक्टस

E-Commerce कंपनियों से Partnership को लेकर बाबा रामदेव ने कहा कि Ayurvedic Products की डिमांड लगातार बढ़ती जा रही है। Online sales को बढ़ावा देने और ग्राहकों तक पहुंच को आसान बनाने के मकसद से हमने 8 E-Commerce कंपनियों के साथ Partnership किया है। बता दें कि Patanjali Products कंपनी की वेबसाइट patanjaliayurved.net पर पहले से उपलब्ध हैं। 2017 के दिसंबर में Patanjali की Online sales 10 करोड़ से ज्यादा थी। कंपनी की तरफ से ये भी कहा गया है कि सभी प्रोडक्ट MRP पर बिकेंगे।

HUL (Hindustan Unilever Limited) को पीछा करने का दावा

Online market में एंट्री लेने के बाद कंपनी की तरफ से दावा किया गया कि अगले साल तक कंपनी का कारोबार FMCG की दिग्गज कंपनी HUL(Hindustan Unilever) के कारोबार से भी ज्यादा हो जाएगा। Baba Ramdev ने कहा कि Patanjali  की Sales report में भारी बढ़ोतरी हुई है। वर्तमान में कंपनी की Sales capacity 50 हजार करोड़ से ज्यादा है। Financial Year 2016-17 की Sales report पर गौर करें तो Patanjali Ayurved का कारोबार 10561 करोड़ रुपए रहा था जबकि HUL(Hindustan Unilever) का कारोबार 34487 करोड़ रुपए रहा था। पतंजलि का कारोबार किस रफ्तार से फैल रहा है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि Financial year 2011-12 में कंपनी की Annual sales केवल 453 करोड़ रुपए थी।

Ayurvedic Products पर GST कम करने की मांग

1 फरवरी को वित्तमंत्री (Finance Minister) अरुण जेटली बजट पेश करेंगे। बजट से जुड़े सवालों को लेकर बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि Ayurvedic Products पर GST कम किए जाएंगे। आयुर्वेदिक दवाइयों और दूसरे प्रोडक्ट पर फिलहाल 12 फीसदी GST है। 1 जुलाई 2017 को जब GST लागू किया गया था तब Ayurvedic Products पर 5 फीसदी GST लगता था। उन्होंने Retail sectors में FDI का विरोध किया। आगे उन्होंने कहा कि अगले कुछ सालों में पतंजलि Apparel business में भी अपना पैर पसारेगी।

 

Patanjali की तरफ से बयान जारी कर कहा गया कि अगले कुछ महीने में कंपनी 20 हजार लोगों को काम पर रखेगी।

 

Not for profit organisation होगी पतंजलि

बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने कहा कि हमारा मकसद देश और जनता की सेवा करना है। बहुत जल्द Patanjali Ayurved, not for profit organisation बन जाएगी। कंपनी का मुनाफा समाज के विकास में खर्च किए जाएंगे। Not for profit organisation बनाने के लिए बाबा रामदेव ने charitable organisation, Patanjali Seva Trust की स्थापना की है। पतंजलि ग्रुप की सभी कंपनियों का मालिकाना हक Patanjali Seva Trust के पास होगा। बाबा रामदेव ने यह भी साफ किया कि आने वाले दिनों में हम ना तो किसी बड़ी कंपनी के साथ Partnership करने वाले हैं और ना ही कंपनी IPO (Initial Public Offering) जारी करने वाली है। हम कंपनी को Share market में लिस्ट नहीं कराना चाहते हैं।

Article Categories:
Indian Business · News · Startups & Business

Leave a Reply

Shares