लंदन में भारत की बात सबके साथ कार्यक्रम बोले पीएम, आतंकवाद बर्दाश्त नहीं करेगा भारत

Bharat Ki Baat Sabke Saath

लंदन: अपनी 6 दिनों की यूरोप यात्रा (Europe travel) में प्रधानमंत्री मोदी ब्रिटेन में है। वहां पर भारतीयों को संबोधित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सेंट्रल हॉल वेस्टमिंस्टर (Central Hall Westminster) में पहुंचे। ‘Bharat Ki Baat Sabke Saath‘ कार्यक्रम में पीएम मोदी ने Indian community को संबोधित किया। बता दें कि जिस हॉल से पीएम मोदी ने भारतीयों को संबोधित किया उसका अपना एक अलग और अनोखा इतिहास रहा है। वस्तुतः, यह हॉल पहले Methodist Central Hall के नाम से जाना जाता था। इसी हॉल में पहली बार 1946 को United Nations Conference का आयोजन किया गया था। इस हॉल में वर्ष 1931 में महात्मा गांधी ने संबोधन दिया था। इसके अलावा मार्टिन लूथर किंग और प्रिंसेस डाइना भी यहां लोगों को संबोधित कर चुके हैं।

‘भारत की बात सबके साथ’ कार्यक्रम में प्रसून जोशी ने एक कविता सुनाकर पीएम मोदी से बातचीत आरम्भ किया। गीतकार प्रसून जोशी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से Bharat Ki Baat Sabke Saath कार्यक्रम में सवाल जवाब किया। इससे पहले जैसे ही पीएम मोदी कार्यक्रम में पहुचे वहां पर भारत माता की जय के नारे लगने लगे और इसके साथ ही लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट के साथ उनका का स्वागत किया। इस कार्यक्रम में लगभग 2 हजार लोगों ने भाग लिया। बता दें कि इससे पहले पीएम मोदी ने स्वीडन में भी Indian community को संबोधित किया था।

Bharat Ki Baat Sabke Saath कार्यक्रम में प्रसून जोशी ने पीएम मोदी से Surgical strike के बारे में सवाल जवाब किया। इस पर पीएम मोदी ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक हमने इसलिए किया क्योंकि हमारे जवान टेंट में सोए हुए थे और कोई बुजदिल आकर उन पर गोलियां बरसाये क्या मैं इस पर चुप रहूं। इसलिए हमने सर्जिकल स्ट्राइक की योजना बनाई और उसके शत-प्रतिशत इंप्लीमेंट किया। हमारे जवान ने इसको अंजाम देकर सूर्योदय से पहले वापस आ गए। उसके बाद मैंने अपने ऑफिसर से कहा कि पाकिस्तान के फौज को फोन करके बता तो कि आज रात को हमने ऐसा किया और उनकी लाशे वहां पर पड़ी होंगी उन्हें ले जाओ। मैंन पाकिस्तान को सबसे पहले बताया। हमने पहले ही कहा है कि न हम किसी का एक इंच जमीन लेंगे और न ही किसी को लेने देंगे। हम किसी से न आंख दिखाकर बात करते हैं और न ही हमें कोई आंख दिखाकर बात करें। हम वो हैं जो आंख से आंख मिलाकर बात करना जानते हैं। आज भारत कमजोर नहीं है जो जिस तरह से बात करता है उसे उसी तरह से जवाब दिया जायेगा। मैं तो बस यही कहूंगा कि जो लोग सेना की आलोचना करते हैं उन्हें भगवान सद्बुद्धि दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *