अंतरराष्ट्रीय हुआ हमारा ‘BHIM’ : यूएई और भूटान के बाद अब सिंगापुर में भी चलेगा ‘रुपे’ कार्ड

Written by

रिपोर्ट : विनीत दुबे

अहमदाबाद, 15 नवंबर, 2019 (युवाPRESS)। पीएम नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत दुनिया में एक के बाद एक नये आयाम सिद्ध कर रहा है। संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में पीएम मोदी ने इसी साल भारत के रुपे कार्ड को लॉन्च किया था। इसके बाद अगस्त में ही भूटान में भी रुपे कार्ड लॉन्च किया था, जबकि सिंगापुर में रुपे इंटरनेशनल मई-2018 में लॉन्च किया था। अब अगले साल फरवरी-2020 से सिंगापोर में भारत का भीम एप और रुपे कार्ड (घरेलू सहित) लॉन्च हो जाएगा। भारत का क्यूआर कोड आधारित भुगतान सेवा यानी BHIM UPI भी अब अंतर्राष्ट्रीय हो गया है। क्योंकि पहली बार सिंगापोर में इसका विश्वस्तरीय प्रदर्शन किया गया है। सिंगापुर फिनटेक फेस्टिवल में इसके माध्यम से एक मर्चेंट टर्मिनल पर भीम एप का प्रदर्शन किया गया। यह प्रदर्शन 13 से 15 नवंबर तक चला।

सिंगापुर फिनटेक फेस्टिवल में भीम एप का हुआ प्रदर्शन

सिंगापोर में भारतीय उच्चायुक्त जावेद अशरफ की ओर से जारी किये गये एक बयान के अनुसार यह पहला अवसर है जब भीम एप का अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शन हुआ है। इस एप से सिंगापोर में किसी भी नेट्स टर्मिनल पर एसजीक्यूआर कोड को स्केन करके भुगतान किया जा सकता है। इस व्यवस्था को नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इण्डिया (NPCI) तथा सिंगापोर के नेटवर्क फॉर इलेक्ट्रोनिक ट्रांसफर्स (नेट्स) ने संयुक्त रूप से विकसित किया है। आगामी फरवरी 2020 से इसे भी सिंगापोर में शुरू किया जा सकता है। जावेद अशरफ के अनुसार फरवरी-2020 तक सभी रुपे कार्ड (घरेलू सहित) सिंगापोर में स्वीकार किये जाएँगे। यह वित्तीय प्रोद्योगिकी के क्षेत्र में भारत और सिंगापोर के बीच सहयोग की एक और अनूठी उपलब्धि है। इससे पहले यहाँ मई 2018 में रुपे इंटरनेशनल कार्ड की लॉन्चिंग हुई थी। इसी साल अगस्त में पीएम मोदी ने यूएई के बाजार में रुपे कार्ड की पेशकश की है। इसी के साथ भारत खाड़ी देश यूएई में इलेक्ट्रोनिक भुगतान की भारतीय प्रणाली लागू करने वाला दक्षिण एशिया का पहला देश बन गया है। यूएई से पहले भारत सिंगापोर और भूटान में रुपे कार्ड की लॉन्चिंग कर चुका था। पीएम मोदी ने सिंगापोर में रुपे इंटरनेशनल कार्ड जारी किया था। जबकि मई 2018 में पीएम मोदी ने सिंगापोर में एसबीआई की यूपीआई आधारित धन स्थानांतरण प्रणाली शुरू की थी।

Article Categories:
News · World Business

Comments are closed.

Shares