11 वीं सीट के लिए होगा टक्करः- बिहार विधान परिषद चुनाव

Written by
Bihar Legislative Council

पटनाः Bihar Legislative Council के सदस्यों के चुनाव की तारीख सुनिश्चित कर दी गई है। क्योंकि बिहार विधान परिषद के 11 सदस्यों का कार्यकाल समाप्त होने वाला है। जिसमें से बिहार के वर्तमान मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी का कार्यकाल 6 मई को समाप्त होने वाला है। परिषद के 11 सीटों में से JDU के 6 सदस्य, BJP के 4 सदस्य और RJD के 1 सदस्य का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। बताया जा रहा है कि इनमें कुछ सदस्यों का जीतना तय है मगर 11 वें सीट पर पेंच फंसते दिख रहा है। इस बीच Bihar Legislative Council के सदस्यों के चुनाव को लेकर बिहार की सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी-अपनी रणनीति में जुट गई है।

गोरतलब यह है कि बिहार विधान परिषद सदस्य चुनने के लिए 22 मतों की जरूरत होती है। संख्या बल के लिहाज से 10 लोगों की सदस्यता जीतना तय है। इसमें RJD के 4, JDU के 3, BJP के 2 और काग्रेंस के 1 सदस्यों का जीतना तय है। लेकिन राजनीतिक पार्टियां 11वीं सीट के लिए अपनी रणनीति बनाने में लगे हैं।

अगर हम समीकरण की बात करें तो संख्या बल के हिसाब से 11वीं सीट BJP की झोली में जा रही है। क्यों की सहयोगी दलों और निर्दलीय विधायकों के सहयोग से बीजेपी जीत के करीब दिख रही है। हालांकि BJP के 2 सीट जीतने के बाद उसके पास 8 वोट बचेंगे। इसके अलावा JDU के 4,LJP के 2, और RLSP के 2 सदस्यों की मदद से संख्या 16 पहुंच जाएगी। इसमें अगर 3 निर्दलीय विधायकों के वोट जोड़ दिए जाएं तो यह संख्या करीब 22 पहुंच जाएगी। अगर चुनाव के पहले कोई बड़ा उलट-फेर नहीं हुआ तो यही समीकरण बना रह जाएगा।

हालांकि संख्या बल के हिसाब से इस चुनाव में RJD और कांग्रेस को फायदा होगा। जबकि BJP और JDU को नुकसान होगा। इस बीच चुनाव की रणनीति बनाने के लिए RJD 5 अप्रैल को पार्टी की बैठक बुलायी है। इस बैठक में पार्टी के उम्मीदवारों पर चर्चा भी की जाएगी। हालांकि यह भी देखना होगा कि Bihar Legislative Council में मतदान होगा या राज्यसभा चुनाव की तरह पार्टियों की सहमति बन जाती है।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares