ये रहा Bitcoin के धड़ाम होने का कारण

Written by
Bitcoin slumps by 30 percent

आसमान छू रही Cryptocurrency, Bitcoin की कीमत पिछले एक हफ्ते से लगातार लुढ़क रही है। 22 दिसंबर को इसकी कीमत 30 फीसदी गिरकर 20 हजार डॉलर से 13 हजार डॉलर पर पहुंच गई। इससे पहले 20 दिसंबर को भी इसकी कीमत में 20 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी। CME ग्रुप द्वारा Bitcoin Value Index लांच करने के साथ ही 17 दिसंबर को इसकी कीमत 20 हजार डॉलर के पार पहुंच गई थी। 17 दिसंबर के बाद से बिटकॉइन अब तक एक तिहाई मूल्य खो चुका है। इस हफ्ते एक बिटकॉइन की कीमत में करीब 4 लाख रुपए की गिरावट दर्ज की गई है। हालांकि दिसंबर के शुरुआती दो हफ्तों में Bitcoin ने निवेशकों को जबरदस्त फायदा पहुंचाया।

2013 के बाद अब तक सबसे बड़ी गिरावट

Bitcoin की कीमत में उतार-चढ़ाव नई बात नहीं है। नवंबर महीने में भी इसकी कीमत में 30 फीसदी गिरावट दर्ज की गई थी। नवंबर महीने में इसकी कीमत 7888 डॉलर से घटकर 5555 डॉलर तक पहुंच गई थी। उससे पहले सितंबर महीने में भी इसकी कीमत में 40 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी। हफ्ते के कारोबार के हिसाब से देखें तो 2013 के बाद से यह अब तक की सबसे बड़ी गिरावट है।

मुनाफा निकालने के चलते Bitcoin की कीमत में गिरावट

Bitcoin के निवेशक (Investors) कीमत में उतार-चढ़ाव से वाकिफ हैं। 2017 के शुरुआत में 1 बिटकॉइन की कीमत 1 हजार डॉलर के आस-पास थी। एक साल के दौरान इसकी कीमत 2000 फीसदी तक बढ़ी। कीमत में गिरावट को लेकर Market experts का कहना है कि इस साल Bitcoin की कीमत बहुत ऊपर गया इसलिए करेक्शन की संभावना निश्चित थी। केवल दिसंबर महीने में इसकी कीमत में 100 फीसदी उछाल देखने को मिला। शुरुआती दो हफ्ते में Investors को तो काफी फायदा पहुंचा लेकिन साल के अंत होने की वजह से Investors अपना मुनाफा निकालने लगे। Christmas और New year से पहले जैसे ही Investors ने मुनाफा निकालना शुरू किया इसकी कीमत गिरने लगी।

Bitcoin में इंवेस्टमेंट जुए खेलने जैसा

Market experts की माने तो इस साल के अंत तक इसकी कीमत में और गिरावट देखने को मिल सकती है। Investors के बढ़ते क्रेज के बावजूद Financial experts बिटकॉइन में Investment को जुआ खेलने जैसा मानते हैं। जो लोग Bitcoin में इंवेस्ट कर रहे हैं वे भी मानते हैं कि इसकी कीमत में उतार-चढ़ाव का कोई फिक्स पैटर्न नहीं है।

आखिर क्या है Bitcoin ?

Bitcoin कोई Fiat currency नहीं है बल्कि एक Digital currency है। कोई Regulatory Body इसकी निगरानी नहीं करता है। किसी भी वैश्विक संस्थान ने Bitcoin को अभी तक कानूनी मान्यता नहीं दी है हालांकि किसी देश और संस्था ने इसको गैर कानूनी भी नहीं माना है। वर्तमान में इसका संचालन विश्व के प्राइवेट प्लेयर द्वारा किया जा रहा है।

Article Tags:
·
Article Categories:
Indian Business · News · Startups & Business

Leave a Reply

Shares