‘6 महीनों में सहयोगियों ने 280 करोड़ लूटे, तो 5 साल में कांग्रेसी कितना लूटेंगे ?, राहुल की चुप्पी अपने आपमें उनकी हक़ीकत’, स्मृति ने अमेठी से पर्चा भरते हुए साधा निशान

केन्द्रीय मंत्री और भाजपा की फायर ब्रांड नेता स्मृति ईरानी ने आज अमेठी लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में अमेठी की सड़कों पर विशाल रोड शो निकाल कर स्मृति ईरानी ने अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल को दूसरी बार चुनौती देने के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया।

रोड शो के दौरान और पर्चा दाखिल करने के बाद स्मृति ईरानी ने मीडिया के साथ बातचीत करते हुए एक तरफ राहुल गांधी पर तेजतर्रार हमले किए, वहीं आयकर (IT) विभाग के छापों में मोटी रकम की बरामदगी पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ राहुल गांधी पर भी निशाना साधा। स्मृति ने कहा, ‘6 महीनों में (कमलनाथ के) सहयोगियों ने 280 करोड़ रुपए लूट लिए, तो 5 साल में कांग्रेसी कितना लूटेंगे ? मध्य प्रदेश में वो कौन से सज्जन हैं, जिसने तुग़लक रोड पर रहने वाले किस सज्जन तक पैसा पहुँचाया ? कमलनाथ के सहायक के घर से जो 280 करोड़ रुपए का ब्यौरा मिला है, जो नकदी मिली है और जानवरों की खाल मिली है, उसके संदर्भ में राहुल की चुप्पी अपने आपमें उनकी हक़कीत है।’

यह भी पढ़ें : स्मृति ईरानी यह ‘काम’ करके बन सकती हैं भारत के चुनावी इतिहास की पहली ‘सिंहनी’ ! CLICK करें और जानें क्या है वह ‘काम’ ?

उल्लेखनीय है कि अमेठी कांग्रेस और गांधी परिवार का गढ़ रहा है। 1977 में इंदिरा विरोधी लहर में केवल एक बार संजय गांधी को यहाँ से हार का सामना करना पड़ा था। संजय गांधी का यह पहला चुनाव था। उसके बाद गांधी परिवार के सोनिया-राजीव से लेकर राहुल गांधी तक को कोई पार्टी हरा नहीं सका है। राहुल 2004 से अमेठी से तीन बार चुनाव जीत चुके हैं। स्मृति ने 2014 में पहली बार अमेठी से चुनाव लड़ते हुए राहुल को कड़ी टक्कर दी थी और कांग्रेस के मत प्रतिशत में भारी गिरावट आई थी। स्मृति को आशा है कि पिछले पाँच वर्षों में अमेठी में राहुल-कांग्रेस की लोकप्रियता का ग्राफ और गिरा है और इसी कारण वे इस बार राहुल को पटखनी दे सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed