ब्लूमबर्ग मीडिया का दावाः 2019 ही नहीं, बल्की 2029 तक पीएम रहेंगे श्री नरेंद्र मोदी

Written by
Bloomberg Media

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश में हुए उपचुनाव से भाजपा को मिली हार को देखते हुए उसे हराने के लिए उसके सारे विरोधी एक जुट हो गए। जिससे यह अनुमान लगाया जा रहा है कि आगे होने वाले लोकसभा चुनावों में भाजपा के सारे विरोधी एक साथ होकर चुनाव लड़ेंगे, जिससे कि नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनने से रोका जाए। लेकिन भाजपा के लिए एक सुखद खबर आई है। जिसमें  Bloomberg Media की रिपोर्ट के अनुसार भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी केवल 2019 ही नहीं बल्कि 2029 तक प्रधानमंत्री बने रह सकते हैं।

Bloomberg Media ने कहा पीएम मोदी भारत देश में बहुत ज्यादा लोकप्रिय हैं:-

16 देशों के नताओं का गणना करने के बाद  Bloomberg Media ने अपने रिपोर्ट में कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत देश में बहुत ज्यादा लोकप्रिय हैं। उन्होंने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पसंद करने वाला एक 10 साल का बच्चा भी हैं, तो 90 साल के बुजुर्ग भी प्रधानमंत्री को उतना ही पसंद करते हैं।  Bloomberg Media ने कहा ये ही प्रधानमंत्री की ताकत है। भले ही भाजपा को लोग पसंद करे ना करें लेकिन भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लोग पसंद करते हैं और उनकी बातों पर भरोसा करते हैं। जिसके कारण लोग उन्हें देश के कल्याण के लिए एक और मौका दे सकते हैं। यदि अगर ऐसा हुआ तो 2019 में भी उनके नेतृत्व में राजग की सरकार बनेगी। रिपोर्ट के मुताबीक मोदी की 2029 तक पीएम बने रहने की प्रबल संभावना है। उनके समक्ष अभी देश में कोई दमदार नेता नहीं है, जिसका फायदा निश्चित तौर पर नरेंद्र मोदी को मिलेगा।

गोरतलब यह है कि  Bloomberg Media ने अपने रिपोर्ट में पीएम मोदी के अलावा उत्तर कोरिया के तानाशाह किंग किम जोंग, सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान, चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बार में भी कहा कि ये भी अपने देश की सत्ता लंबे वक्फे तक संभाल सकते हैं। लेकिन अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बारे में उन्होंने कहा कि ये जनता के बीच खास लोकप्रिय नहीं है, जिसके चलते हो सकता है, कि ये उनका पहला और आखिरी कार्यकाल हो। आशंका है कि वो अपना कार्यकाल भी पूरा ना कर पाए।

बताया जा रहा है कि रूस में राष्ट्रपति चुनाव में भारी बहुमत से जीत दर्ज करने वाले व्लादिमिर पुतिन को 2024 में पद त्यागना पड़ सकता है। जबकि नेतन्याहू के बारे में रिपोर्ट कहती है कि उनका नाम घोटलों में शामिल है। अगर वे इसमें दोषी पाए गए तो उनकी सत्ता हाथ से जा सकती है। तथा ब्लूमबर्ग मीडिया की रिपोर्ट का कहना है कि जापान के पीएम शिंजो आबे भी कई आरोपों से घिरे हुए हैं। इस परिस्थिति में उनका भी सत्ता में आना मुश्किल दिख रही है।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares