हिमाचल प्रदेश में स्कूल बस के खाई में गिरजाने से 23 बच्चों समेत 27 की मौत

Written by
Bus Accident

हिमाचल प्रदेशः- हिमाचल प्रदेश में स्थित कांगड़ा जिले के नूरपुर इलाके में एक स्कूल बस खाई में गिर गई, Bus Accident 27 लोगों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि मरने वालों में ज्यादातर बच्चे हैं। बस में करीब 60 बच्चे सवार थे। इस बीच जिले के एसपी संतोष पटियाल ने इस हादसा में 23 बच्चों की मौत की पुष्टि करते हुए कहा कि बस के ड्राइवर की भी मौत हो गई। हांलांकि अधिकारियों ने जानाकारी देते हुए बताया कि Bus Accident बिती कल यानी सोमवार की रोज सवा तीन बजे हुई। उन्होंने बताया कि बस मलकवाल गांव में गहरी खाई में गिर गई। जिसमें मरने वालों में एक ड्राइवर, दो टीचर बाकी बच्चे थे।

400 फुट गहरी खाई में गिरी बस

गोरतलब यह है कि Bus Accident की गंभीरता का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि खाई में गिरी बस को सड़क से देख पाना मुश्किल था। क्योंकि इसकी गहराई 400 फुट थी। इस बीच कांगड़ा के डिप्टी कमिश्नर संदीप कुमार ने बीबीसी पंजाबी के संवाददाता सरबजीत धालीवाल को जानकारी देते हुए बताया कि छह घायलों को पठानकोट सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने कहा कि इस Bus Accident में वजीर राम सिंह मेमोरियल पब्लिक हाई स्कूल के चार से 12 साल की उम्र के 23 बच्चों की मौत हुई है। हांलांकि इस हादसे में बस के ड्राइवर और दो अध्यापकों के अलावा एक महिला की भी मौत हुई है।

बता दें कि इस हादसे में मरने वाले बच्चों में 13 लड़के थे और 10 लड़कियां चार घायल बच्चों को सिविल हॉस्पिटल नूरपुर में भर्ती करवाया गया है जबकि सात का इलाज पंजाब के पठानकोट के अमनदीप हॉस्पिटल में चल रहा है। दरअसल स्कूली बस जिस खाई में गिरी है, वह 400 फुट गहरी है जिसके वजह से ज्यादातर मौतें मौके पर ही हो गईं। इस दौरान उपायुक्त संदीप कुमार ने कहा कि स्थानीय लोगों ने घायलों और मृतकों को बस से निकालने में अहम भूमिका निभाई।

हादसे की कारण का पता नहीं

बहरहाल यह हादसा बिती कल यानी सोमवार की रोज सवा तीन बजे उस समय हुआ, जब स्कूल से छुट्टी होने के बाद बच्चों को उनके घर छोड़ा जा रहा था। यह हादसा कैसे हुआ, इसके सही कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है। कांगड़ा के उपायुक्त ने बताया कि घटना के जांच के आदेश दे दिए गए हैं और कांगड़ा के एडीएम छानबीन करेंगे। पुलिस ने मामला दर्ज लिया है और मृतकों के परिजनों को पांच लाख रुपये की राहत राशि दी जाएगी।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares