सीएम योगी सरकार के मंत्री ने दिया बयान, ये लोग 325 सीटों के नशे मे पागल होकर घूम रहे हैं

Written by
Cabinet minister OP Rajbhar

लखनऊः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ सरकार में शामिल भारतीय समाज पार्टी के Cabinet minister OP Rajbhar and Chief suldev ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए कड़ी प्रतिक्रिया दी है। कैबिनेट मंत्री ओपी राजभर का कहना है कि, ’’सरकार सिर्फ मंदिरों पर केंद्रित है, गरीबों के कल्याण पर नहीं। उन्होंने कहा कि ये वही गरीब हैं जिन्होंने सरकार को वोट देकर सत्ता तक पहुंचाया। कहने को बहुत सारी बातें हो रही है, लेकिन जमीन पर थोड़ा बदलाव हुआ है।’’ उन्होंने बीजेपी नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा है कि’’ मैंने अपनी चिंता कई बार जताई है लेकिन ये लोग 325 सीटें लेकर पागल होकर घूम रहे हैं।’’

बताया जा रहा है कि Cabinet minister OP Rajbhar का 24 घंटे में यह दूसरा हमला है। हांलांकि Cabinet minister OP Rajbhar ने रविवार को ही राज्यसभा चुनाव में बीजेपी के समर्थन के सवाल पर भी कई बड़ी बाते कही थीं। कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कई अवसरों पर सरकार के प्रति नाराजगी जता चुके हैं। उन्होंने कहा कि “ हम अभी भाजपा के साथ गठबंधन में हैं, मगर सवाल यह है कि क्या भाजपा ने राज्यसभा, गोरखपुर तथा फूलपुर लोकसभा सीटों के उपचुनाव के लिए अपने प्रत्याशी तय करने से पहले हमसे कोई सलाह ली थी?” आगे राजभर ने कहा कि भाजपा ने नगरीय निकाय चुनाव में अपने प्रत्याशी खड़े किए, लेकिन क्या तब उसने गठबंधन धर्म निभाया? यहां तक कि लोकसभा उपचुनाव में भी भाजपा ने अपने सहयोगी दलों से यह नहीं पूछा कि उपचुनाव में उनकी क्या भूमिका होगी?

गोरतलब यह है कि कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर के इस सवाल पर क्या उनकी पार्टी के विधायक क्रॉस वोटिंग करेंगे। उन्होंने कहा कि हम भाजपा के साथ गठबंधन में हैं और अगर वह गठबंधन धर्म नहीं निभाती है तो क्या हमें उसके साथ जाना चाहिए? कैबिनेट मंत्री राजभर ने कहा गोरखपुर में हाल में हुए लोकसभा उपचुनाव में उनकी पार्टी भाजपा को कम से कम 30,000 वोट दिलवा सकती थी, लेकिन ऐसा लगता है कि भाजपा की नजर में हमारी कोई उपयोगिता नहीं है।

बहरहाल लोक भवन में आयोजित भव्य कार्यक्रम की अध्यक्षता उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। सरकार ने इस एक वर्ष को प्रदेश के नवोत्कर्ष का समय बताया है। एक वर्ष की उपलब्धियों को ‘एक साल-नई मिसाल’ के रूप में पेश किया जाएगा।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares