मजीठिया के बाद मांगी नितिन गडकरी से माफ़ी – CM Arvind kejriwal

Written by

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के CM Arvind Kejriwal का अन्य नेताओं पर मानहानि के आरोप लगाने के बाद अब सभी नेताओ से माफ़ी मांगने का सिलसिला अभी भी जारी है। पंजाब के पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया से कुछ ही दिन पहले सीएम अरविंद केजरीवाल द्वारा माफ़ी मांगी गयी थी। जिसके बाद बीते सोमवार को CM Arvind kejriwal द्वारा कपिल सिब्बल के बेटे और वकील अमित सिब्बल सहित केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से माफ़ी मांगी गयी है।

वर्ष 2013 में CM द्वारा नेताओं पर लगाये गये आरोपों को सही साबित न हो पाने की वजह से अब CM ने माफीनामा लिखकर माफ़ी मांग ली है। सूत्रों को मुताबिक CM द्वारा पिछले वर्ष 2017 में नितिन गडकरी से अनोपचारिक (Informal) तरीके से माफ़ी मांगी थी, जबकि ओपचारिक (formal) तरीके से माफ़ी मांगने की बात पिछले चार महीने पहले ही शुरू हो गयी थी। लेकिन CM को माफ़ी मांगने में समय लग गया। पत्र अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल को सौंप दिया गया है। इस मामले में  शिकायतकर्ता अमित सिब्बल ने CM Arvind Kejriwal सहित मनीष सिसोदिया और आम आदमी पार्टी (AAP) के पूर्व मेम्बर प्रशांत भूषण और शाजिया इल्मी को भी आरोपी ठेराया गया था। मामले का निपटारा करने वाले आवदेन (माफीनामा) देखते हुए आदालत ने 6 अप्रैल 2018 को सुनवाई की तारीख दी है।

दिल्ली के CM Arvind Kejriwal ने भाजपा के नितिन गडकरी को लिखे हुए माफीनामा पत्र में खेद जताया है। उहोने कहा है ‘कि बिना सच के मैंने बयान दिए, जिनसे यह प्रतीत होता है कि आपको ठेस पहुची है, जिसकी वजह से अपने मेरे खिलाफ मानहानि का केस फाइल कर दिया, मुझे आपसे कोई निजी परेशानी नहीं है और में अपनी इस गलती पर खेद प्रकट करता हूँ।‘

CM Arvind Kejriwal ने कई नेताओं पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाये थे, जिसके कारण उन सभी नेताओ ने CM पर ही मानहानि का केस दर्ज कर दिया था इसके लिए अब वह अब  सभी नेताओ से माफ़ी मांग रहे है। CM द्वारा लगाये गये आरोपों में वित्त मंत्री अरुण जेटली व दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का भी नाम शामिल है। अन्य नेताओ कि तरह इनसे भी माफ़ी मांगे कि उम्मीद CM से लगाई जा सकती है।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares