उर्मिला के नामांकन पत्र से क्यों ग़ायब हुए ‘मियाँ मीर’ ? क्या बीवी ने राजनीति में आते ही सीख लिया चलाना राजनीतिक तीर ?

हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुईं फिल्म अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर ने उत्तर मुंबई लोकसभा सीट से नामांकन दाखिल किया है, परन्तु आश्चर्य की बात यह देखने को मिली कि तीन साल पहले ही शादी करने वाली इस अभिनेत्री ने नामांकन में अपने पति का नाम नहीं लिखा और मात्र स्पाउज़ लिखकर पान कार्ड का नंबर लिखा है। नामांकन में पति का नाम नहीं दर्शाने से सवाल खड़े हो रहे हैं कि आखिर उन्होंने ऐसा क्यों किया ?

इस सवाल का उर्मिला की ओर से तो कोई प्रत्युत्तर नहीं आया है, लेकिन ‘कुछ तो लोग कहेंगे, लोगों का काम है कहना ।’ इसलिये बॉलीवुड प्रॉड्युसर और सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले अशोक पंडित ने भी सवाल उठाया है कि शादी के बाद उर्मिला का सरनेम बदल गया है। हालाँकि यह उनका अपना अधिकार है कि वह अपना नाम क्या लिखें, परन्तु जब वह जनता का प्रतिनिधित्व करने जा रही हैं तो उन्हें जनता का कन्फ्युजन भी दूर करना चाहिये।

अशोक पंडित ही नहीं, बल्कि अनेक लोगों के लिए यह आश्चर्य की बात है कि उर्मिला ने नामांकन पत्र में अपने पति का नाम नहीं लिखा। आखिर क्या कारण है। उर्मिला मातोंडकर ने 2016 में कश्मीरी युवक मोहसिन अख्तर मीर के साथ गाज़े-बाज़े के साथ शादी की थी। मोहसिन मॉडलिंग करते हैं और इस समय मुंबई में रहते हैं। फिर क्या ऐसी मजबूरी थी कि उर्मिला को नामांकन पत्र में ‘उर्मिला मातोंडकर पुत्री श्रीकांत मातोंडकर’ लिखना पड़ा ?

क्या पति के मुस्लिम होने से उर्मिला को चुनावी नुकसान की आशंका है वास्तव में उस उत्तर मुंबई लोकसभा सीट पर वर्तमान भाजपा सांसद गोपाल शेट्टी के विरुद्ध कोई कांग्रेसी नेता चुनाव लड़ने के लिये तैयार ही नहीं था, इसलिये कांग्रेस ने उर्मिला को मोहरा बनाया है।

उर्मिला ने पिछले महीने जब कांग्रेस ज्वाइन की, तो उन्होंने किसी का नाम लिये बिना यह कहा था कि वर्तमान में हिन्दू धर्म की गलत छवि फैलाई जा रही है और उसे हिंसक दर्शाया जा रहा है, जबकि वह वसुधैव कुटुम्बकम् में विश्वास रखने वाले हिन्दू धर्म में मानती हैं। ऐसे में उर्मिला को लेकर उनके विरोधी यदि ये सवाल खड़े करें, तो ग़लत नहीं होगा, जैसे कि क्या वे कश्मीर को लेकर कांग्रेस के एजेण्डा से सहमत हैं। क्या वे नहीं चाहतीं की धारा 370, 35 ए हटे। क्या वे कश्मीर में सेना को निहत्था करने की कांग्रेस की नीति के साथ हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed