अमेठी के अखाड़े में DEGREE WAR : कांग्रेस ने स्मृति को ‘क्योंकि मंत्री भी कभी GRADUATE थी’ कहा, तो जेटली ने राहुल से पूछा, ‘बिना MA कैसे पाई M.PHIL की डिग्री ?’

लोकसभा चुनाव के माहौल में आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति हो रही है। ऐसे में एक बार फिर डिग्री विवाद का जिन बोतल से बाहर निकला है। कांग्रेस की ओर से केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की ग्रैज्युएशन को लेकर सवाल उठाए जाने के बाद केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली ने पलटवार करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से ही उनकी डिग्री को लेकर सवाल कर दिया। जेटली ने पूछा कि राहुल बतायें कि एमए की पढ़ाई किये बिना उन्होंने एम.फिल की डिग्री कैसे हासिल की।

केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विरुद्ध फिर एक बार उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट से चुनाव लड़ रही हैं। 2014 में उन्होंने यहां राहुल गांधी को कड़ी टक्कर दी थी। अब 2019 में दोबारा चुनाव लड़ने के लिये जब पिछले दिनों उन्होंने यहां नामांकन पत्र भरा तो नामांकन पत्र के साथ प्रस्तुत किये शपथ पत्र में उन्होंने शिक्षा के कॉलम में अपनी शिक्षा 12वीं कक्षा उत्तीर्ण लिखी।

इस शपथ पत्र को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने एक बार फिर डिग्री विवाद को हवा दी। 2014 के शपथ पत्र में स्मृति ईरानी ने स्वयं को ग्रेज्युएट बताया था। इस हलफनामे में उन्होंने स्वयं को 12वीं कक्षा उत्तीर्ण बताया। इसलिये प्रियंका चतुर्वेदी ने उनकी लोकप्रिय टी.वी. सीरियल ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ की तर्ज पर उनकी डिग्री पर कटाक्ष किया, ‘क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रैजुएट थी’।

इसलिये केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली स्मृति ईरानी के समर्थन में सामने आये और सवाल उठाने वाली कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी की डिग्री पर ही सवाल खड़े कर दिये।

जेटली ने अपने ब्लॉग पर ‘इंडियाज़ अपॉज़िशन इज ऑन अॅ रेंट अॅ कॉज़ कैंपेन’ शीर्षक से ट्वीट किया कि ‘प्रत्याशियों (स्मृति ईरानी) की शैक्षणिक योग्यता पर बातें हो रही हैं, परंतु इस बीच राहुल गांधी की शैक्षणिक योग्यता को भुलाया जा रहा है। राहुल गांधी की शैक्षणिक योग्यता को लेकर ऐसे कई सवाल हैं, जिनका अब तक जवाब नहीं मिला है।’

जेटली ने लिखा कि राहुल गांधी ने बिना मास्टर डिग्री के एम.फिल की पढ़ाई पूरी की है ! राहुल गांधी कुछ महीने पहले स्वयं स्वीकार कर चुके हैं। इस बारे में कोई बात नहीं हो रही है। इतना ही नहीं,राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव 2004 और 2009 में बताया था कि उन्होंने ट्रिनिटी कॉलेज से डेवलपमेंट इकोनॉमिक्स में एम.फिल किया है, जबकि 2014 में कहा कि डेवलपमेंट स्टडीज़ में एम.फिल किया है। इसमें से सही क्या है ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed