सात वर्ष में डिजिटल लेन-देन 19 गुना बढ़ा-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Written by

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारतीय रिजर्व बैंक की उपभोक्‍ता केंद्रित पहल से देश में निवेश बढेगा और निवेशकों के लिए पूंजी बाजार तक पहुंच आसान और अधिक सुरक्षित होगी।प्रधानमंत्री मोदी ने कल रिजर्व बैंक की खुदरा प्रत्यक्ष योजना और रिजर्व बैंक-एकीकृत लोकपाल योजना का शुभारंभ किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि किसी भी लोकतंत्र की सबसे बडी ताकत उसकी शिकायत निवारण प्रणाली और सक्रियता है।

Integrated Amusement Ombudsman Scheme के Banking sector में ‘One Nation – One Emblemment’ यह सिस्‍टम ने आज साकार रूप लिया है। इससे Bank customers की हर शिकायत, हर समस्‍या का समाधान समय पर, बिना परेशानी के हो सकेगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि खुदरा प्रत्यक्ष योजना सरकारी प्रतिभूतियों में छोटे निवेशकों के लिए आसान और सुरक्षित पहुंच सुनिश्चित करेगी।

अर्थव्‍यवस्‍था में सभी की भागीदारी को प्रमोट करने की जो भावना है उसको ‘Retail Direct Scheme” नई उंचाई देने वाली है। देश के विकास में Government security market की अहम भूमिका से आम तौर पर लोग परिचित हैं, विशेष रूप से आज जब देश अपने physical and digital infrastructure को आधुनिक बनाने में जुटा है, अभूतपूर्व इन्‍वेस्‍टमेंट कर रहा है, तब छोटे से छोटे निवेशक का प्रयास और सहयोग, भागीदारी बहुत काम आने वाली है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकारी प्रतिभूतियों के लिए गारंटीकृत निपटान का प्रावधान नागरिकों को उनकी छोटी बचत का निवेश करने के लिए सुरक्षा का आश्वासन देता है। उन्होंने कहा कि छोटे निवेशक इससे अब सरकारी प्रतिभूतियों तक सीधे पहुंच सकेंगे और उन्‍हें बैंकों, बीमा कंपनियों या म्यूचुअल फंड जैसी अप्रत्यक्ष निवेश एजेंसियों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा।

आज फाइनेन्शियल इन्‍क्‍ल्‍यूज़न ही नहीं, बैंकिंग और फाइनेंशियल सेक्‍टर में ‘ईज़ ऑफ एक्‍सेस’ भारत की पहचान बन रही है। आज अलग-अलग पेंशन योजनाओं के तहत समाज का हर व्‍यक्ति साठ वर्ष की आयु के बाद मिलने वाली पेंशन की सुविधा से जुड़ सकता है। पीएम जीवन ज्‍योति बीमा योजना और पीएम सुरक्षा बीमा योजना के तहत लगभग 38 करोड़ कंट्रीमेन दो-दो लाख रूपये की बीमा सुरक्षा से जुड़े हुए हैं। देश के करीब-करीब हर गांव में पांच किलोमीटर के दायरे में बैंक ब्रांच या बैंकिंग कॉरसपॉन्‍डेंस की सुविधा पहुंच रही है।

प्रधानमंत्री ने बताया कि निवेशकों को केवल रिजर्व बैंक रिटेल डायरेक्ट की आधिकारिक वेबसाइट पर लॉग इन करके रिटेल डायरेक्ट गिल्‍ड खाता खोलने की जरूरत पड़ेगी। खाते के लिए किसी फंड मैनेजर की आवश्यकता नहीं होती है और निवेशक इसे अपने स्मार्टफोन से चला सकते हैं। इस खाते को निवेशक के बचत बैंक खाते से भी जोड़ा जा सकता है और इसे नि:शुल्‍क खोला जाएगा। उन्होंने कहा कि बैंकिंग और बीमा सुविधाएं जो अब तक किसानों, छोटे व्यापारियों, महिलाओं, समाज के वंचित और गरीब लोगों तक नहीं पहुंच पाती थीं उन्‍हें सभी के लिए सुलभ बनाया गया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले सात वर्षों में भारत का Digital लेनदेन 19 गुना बढ़ा है।

लास्‍ट माइल फाइनेंशियल इनक्‍लयूजन से जब डिजिटल एम्‍पॉवरमेंट जुड़ गया, तो उसने देश के लोगों को एक नई ताकत दी है। 31 करोड़ से अधिक रुपे कार्ड करीब 50 लाख पॉस-एम्‍पॉस मशीन्‍स ने आज देश के कोने-कोने में Digital Transaction को संभव बनाया है। यूपीआई ने तो बहुत ही कम समय में Digital transaction के मामले में भारत को दुनिया का अग्रणी देश बना दिया है। सिर्फ सात सालों में भारत ने Digital transaction के मामले में 19 गुना की छलांग लगाई है। आज 24 घंटे, सातों दिवस और 12 महीने देश में कभी भी, कहीं भी हमारा बैंकिंग सिस्‍टम चालू रहता है।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares