उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में अंबेडकर की मूर्ति तोड़े जाने से फैला तनाव

Written by
Dr. Bhimrao Ambedkar

इलाहाबादः उत्तर प्रदेश में स्थित इलाहाबाद शहर में कल संविधान निर्माता Dr. Bhimrao Ambedkar की मूर्ति तोरे जाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि इलाहाबाद शहर के झूंसी क्षेत्र में त्रिवेणीपुरम क्षेत्र में मूर्ति तोड़ने से तनाव फैल गया है। संविधान निर्माता डा. भीमराव अंबेडकर की मूर्ति त्रिवेणीपुरम क्षेत्र के एक पार्क में लगी हुई थी।

गोरतलब यह है कि इलाहाबाद शहर में स्थित झूंसी त्रिवेणीपूरम क्षेत्र में र्पाक में लगी Dr. Bhimrao Ambedkar की मूर्ति के उपरी भाग यानी सर वाला भाग को असामाजिक तत्वों ने बीती रात तोड़ दिया। जब वहां के लोगों ने उसे देखा तो वहां हंगामा मच गया। इस बीच इलाहाबाद के पुलिस अधीक्षक ने मीडिया से बात चीत करते हुए बताया कि इस हादसे को माहौल बिगड़ने की प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है। माहोल को सांत रखने के लिए वहां कड़ी सुरक्षा व्यवस्था कर तैनात कर दी गइै है। जबकि पुलिस ने अज्ञात लोगों के विरूध मामला भी दर्ज कर लिया है। इतना ही नहीं फूलपुर से सपा सांसद नागेंद्र पटेल ने हादसा को निंदनीय बाताते हुए सरकार से कड़ी कार्यवाही की उम्मीद की है।

राम नाम जोड़ जाने के तीसरे दिन मूर्ति खंडित

दो दिन पहले ही उत्तर प्रदेश में बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर के नाम में राम शब्द जोड़े गए हैं। जिसके दो दिन बाद ही इस तरह की हादसा होने से एक विवाद जन्म लेने की आशंका बढ़ गई है। इस हादसा को लेकर पूरे क्षेत्र में भीरी तनाव व्याप्त है। संविधान निर्माता Dr. Bhimrao Ambedkar की मूति का उपरी भाग को तोड़कर जमीन पर फेंक दिया गया था। इसी प्रकार अन्य हादसा में सिद्धार्थ नगर जिले से भी अंबेडकर की मूर्ति को तोड़ जाने की खबर सामने आया है। फिल्हाल पूलिस दो जगह की मामले की जांच कर रही है। इस दौरान गृह सचिव ने मीडिया से बात चीत करते हुए कहा कि किसी भी सुरत में दोशी लोगों को बख्षा नहीं जाएगा।

मूर्तियों को तोड़े जाने की सिलसिला अभी जारी

देखा जाए तो बीते दिनों त्रिपुरा में भाजपा के सत्ता में आने के बाद से देश में कई जगहों पर मुर्तियां टूटी है। गोरतलब यह है कि त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति तोड़े जाने के बाद तमिलनाडु, केरल तथा पष्चिम बंगाल में भी कई जगहों पर महापुरुषों की मूर्ति को तोड़ी गई है। बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में स्थित आजमगढ़ जिले के कप्तानगंज इलाके के करीब एक गांव में सविधान निर्माता Dr. Bhimrao Ambedkarकी मूर्ति कुछ दिन पहले ही तोड़ दी गई थी। जबकि इससे पहले उत्तर प्रदेष के मेरठ षहर में भी अंबेडकर प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया गया था।

बहरहाल गृह मंत्रालय ने पहले ही सारे राज्यों को मूर्तियों के मामले कर विशेष चैकसी बरतने का निर्देश दे दीये हैं। गुह मंत्रालय ने इस मामले शामिल सभी लोगों से सख्ती से निपटने की जरूरत पर बल दिया है। जबकि भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भी इस हादसा को लेकर नाराजगी जाहिर की है।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares