वाहन चलाते समय Mobile का उपयोग करना, पड़ता है महंगा

Written by
Mobile Phone Accidents

नई दिल्ली: आज विज्ञान ने मानव को बहुत सारी सुविधाएं प्रदान की हैं जिसमें मोबाइल फोन भी एक ऐसी सुविधा है जिसके बिना आज लगभग जीना मुश्किल हो गया है। यह लोगों का बहुत ही जरुरी वस्तु बन गई है। आज हमारे देश में हरेक दूसरे व्यक्तियों के पास मोबाइल फोन है। इसको सेल फोन और स्मार्ट फोन भी कहा जाता है। आज के समय में बच्चे हो या जवान या फिर बुजुर्ग सभी के पास मोबाइल है। मोबाइल फोन रखने में तो कोई दिक्कत नहीं है पर उसे बेवक्त इस्तेमाल करना एक गंदी आदत है। इस आदत की वजह से रोड़ पर ऐक्सडन्ट (Mobile Phone Accidents) होने का खतरा बना रहता है।

वाहन चलाते समय मोबाइल का इस्तेमाल (Mobile Phone Accidents)

वैसे आपने बहुते सारे लोगों को सड़क पर वाहन चलाने के दौरान मोबाईल का उपयोग करते हुए देखा होगा। क्या यह सही है कि एक समय में दो कार्य किया जाये और वो भी वह कार्य जिसमें मृत्यु होने का डर हमेशा बना रहता हो। मृत्यु होने का डर हमने यह पर इसलिए जिक्र किया है क्योंकि इस साल एक रिपोर्ट आई है जिसके अनुसार टू-वीलर वाहन चलाते हुए मोबाईल फोन का इस्तेमाल करने से लगभग 2140 लोगों की जान इस साल जा चुकी है।

वाहन चलाते समय सावधानियां न बरतना

आज हमारे देश की सड़के विकास का प्रतीक मानी जा रही है लेकिन यही सड़के आज विनाश का पर्याय भी बनती जा रही, वो भी इसलिये क्योंकि सड़क पर गाड़ियों को चलाते समय लोग सावधानियां नहीं बरतते। आज देश का कोई भी भाग ऐसा नहीं गुजरता जिसमें देश के किसी भाग में सड़क हादसा न घटी हो और कई लोगों को जान से हाथ धोना न पड़ा हो। इन केसों में बहुत सारे केस तो ऐसे होते हैं जिनमें वाहन चालक की खुद की गलती होती है, वे गाड़ी चलाते समय मोबाइल फोन का उपयोग करते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल वाहन को चलाते समय मोबाइल फोन का उपयोग करने के कारण 4,976 सड़क हादसे (Mobile Phone Accidents) हुए थे जिनमें लगभग 2140 लोगों की जान चली गई थी। इस प्रकार के केस में उत्तर प्रदेश पहले नम्बर पर है तथा दूसरे नम्बर पर हरियाणा फिर इसके बाद महाराष्ट्र और अन्य राज्य।

WHO और Save Life Foundation का सर्वें

वहन चलाते समय मोबाइल फोन के इस्तेमाल से न केवल अपनी जान जा सकती है बल्कि दूसरे के जान का भी खतरा बना रहता है। WHO के एक रिपोर्ट के अनुसार वाहन चलाने के दौरान मोबाइल फोन पर बात करने से चार गुना वाहन टकराने का खतरा (Mobile Phone Accidents) अधिक बढ़ जाता है। सेव लाइफ फाउंडेशन के एक सर्वे के अनुसाार बहुत से ड्राइवरों का कहना है कि वे वाहन चलाने के दौरान मोबाईल फोन के इस्तेमाल से असुरक्षित महसूस करते हैं। लगभग 47 फीसदी वाहन चालकों ने कहा कि जब वह वाहन चलाते हैं तब मोबाइल फोन पर आने वाली कॉल्स पिक करते हैं।

आपने बहुत से नव जवानों और अन्य व्यक्तियों को देखा होगा कि वे वाहन चलाने के दौरान ही मोबाइल पर बाते करते रहते हैं और जिसके कारण उनका ऐक्सडन्ट हो जाता है या उनके द्वारा ऐसा करने से किसी अन्य व्यक्ति का ऐक्सडन्ट हो जाता है। इसलिये युवाप्रेस आपको आगह और सतर्क करता है कि कभी भी हमे वाहन चलाने के दौरान मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

Article Categories:
News · Yuva Exclusive

Leave a Reply

Shares