प्रोडक्ट बेचने के लिए अब आपके दिमाग में घुसेंगी कंपनियां !

Written by
E-Commerce Marketing

आज दुनिया में बाजारवाद इस कदर हावी हो चुका है कि कंपनियों के बीच अपना प्रोडक्ट बेचने के लिए जबरदस्त प्रतिस्पर्धा चल रही है। इसी का नतीजा है कि कंपनियां अपनी मार्केटिंग के लिए रोज नए-नए तरीके अपना रही है। अब चूंकि तकनीक का जमाना है तो अब मार्केटिंग में भी तकनीक हावी हो रही है। ताजा खबर आयी है कि कंपनियां अब तकनीक की मदद से ग्राहकों के दिमाग में उतरने की योजना बना रही हैं।

डायचे वेले की एक रिपोर्ट के अनुसार, बड़ी-बड़ी कंपनियां ऐसी तकनीक पर काम कर रही हैं, जिसमें सेंसर की मदद से लोगों की आंखों की हलचल, चेहरे पर आने वाले हाव-भाव को कैप्चर किया जाएगा। इसके बाद इस डाटा का अध्धयन कर इस बात का पता लगाया जाएगा कि ग्राहक को किस प्रोडक्ट में रुचि है। जिस तरह पहले विज्ञापन कंपनियां कंज्यूमर सर्वे के आधार पर यह पता लगाती थी कि कोई प्रोडक्ट कितना सफल है, अब यह काम तकनीक की मदद से तुरंत हो जाएगा। अब कंपनियां जान पाएंगी कि उनका कोई ब्रांड अपने प्रतिद्वंदी ब्रांड की तुलना में कितनी बढ़त बनाए हुए है।

E-Commerce Marketing

इस तकनीक पर रिसर्च करने वाले वैज्ञानिकों का कहना है कि कोई भी इंसान अपने विवेक और भावना के आधार पर यह फैसला करता है कि उसे कोई प्रोडक्ट खरीदना है या नहीं। नई तकनीक इसी आधार पर खरीददारी के दौरान आपके दिमाग में होने वाली हलचलों का पता लगाएगी। खासकर ई-कॉमर्स कंपनियां इस तकनीक को लेकर काफी रोमांचित हैं। जिस तरह E-Commerce कंपनियां ने लोगों की खरीदने की आदत को पूरी तरह से बदल दिया है। लॉजिस्टिक और ड्रोन तकनीक के बाद अब नई तकनीक ई-कॉमर्स के क्षेत्र में क्रांति ला सकती है। एक तरह से कह सकते हैं कि कंपनियां अब आपके दिमाग में घुसकर आपकी पसंद और नापसंद का पता लगाएगी !

Article Tags:
· ·
Article Categories:
News · Technology

Leave a Reply

Shares