बोस की ‘बदहज़मी’ ग़लत : फाइव स्टार होटल में तो 2 केलों की कीमत 442 रुपये ही होती है !

Written by

अहमदाबाद, 31 जुलाई, 2019 (युवाPRESS)। चंडीगढ़ के एक पंच सितारा होटल में 2 केलों की कीमत 442 रुपये वसूले जाने से बॉलीवुड अभिनेता राहुल बोस को हुई बदहज़मी दूर करने के लिये होटल फेडरेशन ने उन्हें जवाब दिया है। होटल फेडरेशन ने इस मामले में न सिर्फ चंडीगढ़ के जे. डब्ल्यू मैरियट होटल का बचाव किया है, बल्कि यह भी कहा कि होटल ने जो कीमत वसूल की है, उसमें कुछ भी गलत नहीं है और सब कुछ कानून के दायरे में रहकर हुआ है।

लग्ज़री होटल में लगता है लग्ज़री चार्ज

फेडरेशन ऑफ होटल एण्ड रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया (FHRAI) ने एक बयान जारी किया है और कहा कि होटल खुद फल-सब्जियों की खरीद-बिक्री नहीं करते हैं, बल्कि कमरों की सर्विस देते हैं और साथ में रेस्टोरेंट की सर्विस देते हैं, जिसमें खाद्य और पेय पदार्थों की सप्लाई शामिल होती है। फेडरेशन ने कहा कि केलों पर 18 प्रतिशत गुड्स एण्ड सर्विस टैक्स (GST) भी वसूल करना गलत नहीं था, बल्कि यह कानूनी अनिवार्यता थी। फेडरेशन के अनुसार जे. डब्ल्यू मैरियट चेन के होटल कई शहरों में हैं और इस चेन के सभी होटलों में ‘स्टैण्डर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीज़र (SoP)’  अपनाया जाता है। फेडरेशन के उपाध्यक्ष गुरबक्शीश सिंह कोहली ने कहा कि रिटेल स्टोर्स में केले मार्केट प्राइस में खरीदे जा सकते हैं, परंतु होटल में सर्विस, क्वॉलिटी, प्लेट, कटलरी, साफ-सफाई, एंबियंस और लग्जरी भी मिलती है, केवल कॉमोडिटी नहीं मिलती है। इसीलिये सड़क के किनारे जो कॉफी 10 रुपये में मिलती है, वही लग्जरी होटल में 250 रुपये की हो जाती है।

सोशल मीडिया में छाया राहुल बोस का वीडियो

उल्लेखनीय है कि हाल ही में राहुल बोस ने उनसे 2 केलों की कीमत 442 रुपये वसूले जाने के बाद केलों की कीमत के बिल का वीडियो सोशल मीडिया में शेयर किया था। इसके बाद से उनका वीडियो काफी वायरल हो रहा है, जिसमें लोग उनके साथ अपने अनुभव भी शेयर कर रहे हैं। किसी ने सिनेमाघरों में पॉपकॉर्न और पेप्सी-कोला की ऊँची कीमतें वसूलने को लेकर कमेंट की है तो किसी ने फ्लाइटों में पानी की बोतलों की ऊँची कीमत वसूले जाने को लेकर अपने अनुभव शेयर किये हैं।

442 रुपये में सिर्फ 2 केले, कम से कम 3 तो देने चाहिये थे

हालाँकि ऐसा नहीं है कि सबने राहुल बोस का समर्थन ही किया है, कुछ यूज़र्स ने राहुल बोस का जमकर मजाक भी उड़ाया है और उन्हें अजीबो-गरीब मशविरे भी दिये हैं। एक यूज़र ने लिखा है कि आपको केले ही खाने थे तो किसी ठेले पर से लेकर खा लेते, उस गरीब का भी भला हो जाता और तुम्हें भी भारी कीमत नहीं चुकानी पड़ती।

एक यूज़र ने मज़े लेते हुए लिखा कि यह बनाना नहीं है, इसे उल्लू बनाना कहते हैं। एक यूज़र ने केलों की कीमत पर चुटकी लेते हुए लिखा कि इन दो केलों पर सोने की परत चढ़ी थी क्या ? वहीं एक अन्य यूज़र ने लिखा कि जितना जीएसटी चुकाया, उतने में तो एक दर्जन केले आ जाते। एक और यूज़र ने यह भी लिखा कि एक केले की कीमत आप क्या जानो राहुल बाबू, आपको ऑर्डर करने से पहले मेनु चेक कर लेना चाहिये था। बिल को दोबारा चेक कर लो कहीं बनाना शेक के भी पैसे तो नहीं लगा दिये।

एक यूज़र ने मजे लेते हुए लिखा कि 442 रुपये में सिर्फ दो केले, यह सही बात नहीं है, कम से कम तीन तो देने चाहिये थे।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares