छोटे कारोबारियों को दिए जाने वाले कर्ज पर ध्यान दे Public Sector Banks : वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण

Written by

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (PSB) के प्रबंध निदेशकों के साथ एक समीक्षा बैठक की और उनसे कहा कि जमानत मुक्त Emergency Credit Line Guarantee Scheme के तहत MSME को ऋण देते रहें।

सीतारमण ने एक Video conference में सरकारी ऋणदाताओं को यह भी निर्देश दिया कि वे अन्य कारोबारों की भी ऋण जरूरतें पूरी करने की कोशिश करें।

वित्तीय सेवा विभाग ने एक ट्वीट में कहा, वित्तमंत्री की समीक्षा : PSB पात्र MSME को लगातार ऋण देते रहें। अन्य कारोबारों की ऋण जरूरतें भी पूरी करने का लक्ष्य रखें।

यह निर्देश ऐसे समय में सामने आया है, जब एक दिन पहले वित्तमंत्री ने FICCI की राष्ट्रीय कार्यकारी समिति के सदस्यों को संबोधित करते हुए स्पष्ट किया था कि आत्मनिर्भर भारत पैकेज के हिस्से के रूप में घोषित Covid Emergency Credit Facility सिर्फ MSME के लिए नहीं, बल्कि सभी कंपनियों के लिए है।

उन्होंने जमानत मुक्त ऋण की मांग पर त्वरित प्रतिक्रिया और Emergency Credit Line Guarantee Scheme के तहत 20,000 करोड़ रुपये मंजूर करने के लिए बैंको की प्रशंसा भी की।

DFS की ओर से किए गए एक अन्य ट्वीट में कहा गया है कि सीतारमण ने बैंकों को सलाह दी कि शाखा स्तर पर सक्रिय पहुंच बनाए रखें और ECLGS (Emergency Credit Line Guarantee Scheme) के फॉर्म्स को सरल रखें और न्यूनतम औपचारिकताएं रखें।

यह योजना आत्मनिर्भर भारत आर्थिक पैकेज का हिस्सा है। सरकार के अनुसार, Coronavirus महामारी और Nationwide Lockdown के कारण पैदा हुए वित्तीय संकट से उबरने की कोशिश में बैंक पात्र MSME को तीन लाख करोड़ रुपये के जमानत मुक्त ऋण प्रदान करेंगे।

Article Tags:
· · ·
Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares