‘गुजरातीनी बोलबाला’ : धनवानों की सूची में अंबाणी फिर नंबर 1, तो अदाणी लंबी छलांग के साथ बने नंबर 2

Written by

* ‘दान की सीढ़ी’ चढ़ने वाले अज़ीम प्रेमजी 15 पायदान लुढ़क कर 17वें स्थान पर

रिपोर्ट : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद 11 अक्टूबर, 2019 (युवाPRESS)। गुजराती गायिका किंजल दवे का एक गीत ‘‘अमे गुजराती ल’री लाला…’’ बहुत लोकप्रिय है। इस गीत की शुरुआत होती है इन शब्दों से, ‘हे काची केरी ने अंगुर काळा, अमे गुजराती लेरी लाला…’। इस गीत के आगे लिरिक्स में गुजरात के उन चर्चित लोगों के नाम आते हैं, जिन पर हर गुजराती को गर्व होता है। जैसे कि, ‘गांधीजी गुजराती, मोदीजी गुजराती…’, ‘अखंड भारतना घडवैया एवा, सरदार पटेल पण मारा गुजराती…’, और इसके बाद नाम आते हैं ‘अंबाणी गुजराती, अदाणी गुजराती…’। इसका अर्थ यह हुआ कि किंजल दवे के इस गीत में जिन-जिन गुजराती महानुभावों के नाम आते हैं, उनमें महात्मा गांधी व सरदार पटेल से लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, उद्योगपति मुकेश अंबाणी और गौतम अदाणी शामिल हैं।

गांधी और सरदार तो सदैव के लिए अमर हो चुके हैं, परंतु वर्तमान भारत में जहाँ एक ओर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पूरे विश्व में भारत का डंका बजा रहे हैं, वहीं उद्योग जगत में भी अंबाणी-अदाणी जैसे गुजरातियों का वास्तव में बोलबाला है और यह बात आज फिर एक बार सिद्ध हो गई, जब फोर्ब्स इंडिया मैगज़ीन ने वर्ष 2019 के भारतीय धनवानों की सूची जारी की। इस सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड (RIL) के अध्यक्ष मुकेश अंबाणी सहज रूप से ही नंबर 1 पर हैं, तो आश्चर्यजनक बात यह है कि अदाणी समूह के अध्यक्ष गौतम अदाणी 8 पायदान की लंबी छलांग के साथ अंबाणी के बाद नंबर 2 पर आ गए हैं।

फोर्ब्स इंडिया की इस सूची के अनुसार 51.4 अरब डॉलर की सम्पत्ति (नेटवर्थ) के साथ आरआईएल अध्यक्ष मुकेश अंबाणी भारत के सबसे धनवान व्यक्ति हैं, तो इन्फ्रास्ट्रक्चर टाइकून गौतम अदाणी 15.7 अरब डॉलर की सम्पत्ति के साथ चामत्कारिक रूप से दूसरे स्थान पर हैं। अदाणी 2018 की सूची में 10वें स्थान पर थे। अदाणी की इस लंबी छलांग का कारण है एयरपोर्ट से लेकर डेटा सेंटर तक के सभी प्रकार के कारोबारों में अभूतपूर्व सफलता।

‘दानवीर’ अज़ीम फिसले, 6 नए अरबपति बने

फोर्ब्स इंडिया की इस सूची में प्रतिष्ठित बिज़नेस टाइकून अज़ीम प्रेमजी 15 पायदान फिसल कर 17वें स्थान पर आ गए हैं। इसका कारण यह है कि उन्होंने मार्च-2019 में अपनी सम्पत्ति का बड़ा हिस्सा दान कर दिया। 2018 की सूची में अज़ीम प्रेमजी दूसरे स्थान पर थे। भारत के टॉप 10 धनवानों में अंबाणी और अदाणी के बाद अशोक लीलैण्ड के प्रमोटर हिन्दुजा ब्रदर्स 15.6 अरब डॉलर की सम्पत्ति के साथ तीसरे शापूरजी पालोनजी ग्रुप के पालोनजी मिस्त्री 15 अरब डॉलर के नेटवर्थ के साथ चौथे, कोटक महिंद्रा बैंक के उदय कोटक 14.8 अरब डॉलर के नेटवर्थ के साथ पांचवें और 14.4 अरब डॉलर के नेटवर्थ के साथ एचसीएल के शिव नडार इस सूची में छठे स्थान पर हैं। इनके अतिरिक्त 14.3 अरब डॉलर की सम्पत्ति के साथ राधाकृष्ण दामाणी 7वें, 12 अरब डॉलर की सम्पत्ति के साथ गोदरेज परिवार 8वें, 10.5 अरब डॉलर की सम्पत्ति के साथ लक्ष्मी मित्तल 9वें और 9.6 अरब डॉलर की सम्पत्ति के साथ कुमार बिड़ला 10वें स्थान पर हैं। दूसरी तरफ फोर्ब्स इंडिया की सची के अनुसार भारतीय धनवानों में छह नए अरबपतियों को जगह मिली है। इनमें 1.91 अरब डॉलर की संपत्त‍ि वाले बिजू रवींद्रन, 1.7 अरब डॉलर की संपत्त‍ि के साथ हल्दीराम ग्रुप के मनोहर लाल एवं मधुसूदन अग्रवाल और 1.5 अरब डॉलर के साथ जकुआर समूह के राजेश मेहरा शामिल हैं।

Article Categories:
Indian Business · News · World Business

Comments are closed.

Shares