VIDEOS : बिजली की गड़गड़ाहट से काँप उठा अहमदाबाद ! भरी दोपहरी में छाया अंधकार, जब बरसे मेघ मूसलाधार

* निचले क्षेत्रों में पानी भरा, यातायात प्रभावित

रिपोर्ट : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद 10 सितंबर, 2019 (युवाPRESS)। अहमदाबाद में मंगलवार सुबह के बाद दोपहर 3 बजे भी अंधकार छा गया। आसमान में घिर आए बादलों ने कुछ घण्टे चैन लेने के बाद फिर से महानगर को अपने घनघोर अंधियारे से अंधकार में डुबो दियो और मूसलाधार बरसात आरंभ हो गई। सुबह हुई बरसात ने जहाँ पीक-अवर्स में लोगों को परेशान किया। अहमदाबाद महानगर पालिका (AMC) अभी सुबह की बारिश हुए जलजमाव से पूरी तरह निपट पाती, उससे पहले ही दोपहर ढाई बजे पुन: एक बार मेघराजा ने धमाकेदार एंट्री की और ज़ोरों से बरस पड़े।

धन्यवाद है India Meteorological Department यानी IMD को, जिसने सोमवार को अगले 24/48/72 घण्टों में विशेष रूप से अहमदाबाद को लेकर भारी और मूसलाधार बरसात को लेकर कोई भविष्यवाणी नहीं की थी, क्योंकि जब-जब आईएमडी ऐसी कोई भविष्यवाणी करता है, तब-तब अहमदाबाद में सूरज सोलह कलाओं के साथ खिला हुआ दिखाई देता है। आईएमडी की सामान्य भविष्यवाणी तो थी कि गुजरात में अगले चार दिनों तक भारी वर्षा हो सकती है, परंतु विशेष रूप से अहमदाबादी आईएमडी की ऐसी भविष्यवाणी को अधिक गंभीरता से नहीं लेते।

अहमदाबाद की मंगलवार की सुबह मॉनसून 2019 की सबसे धारदार सुबह रही। आसमान में बादलों ने तो सोमवार रात से ही डेरा डाल रखा था और अलग-अलग क्षेत्रों में देर रात से ही तेज बारिश हो रही थी, परंतु मंगलवार सुबह घनघोर बादलों ने अपने पीछे सूरज की किरणों को इतना फीका कर दिया कि भर भोर में अहमदाबाद मानों देर सायंकाल जैसे अंधकार में डूब गया। विज़िबिलिटी डाउन हो गई। आसमान से बड़ी-बड़ी बूंदों के साथ मूसलाधार और भारी वर्षा आरंभ हो गई। सुबह 9 बजे तो आलम यह था कि सड़कों पर लोगों को अपने वाहनों की हैडलाइट्स ऑन कर देनी पड़ीं। दोपहर तीन बजे भी ज़ोरदार बारिश शुरू होने से अहमदाबाद महानगर फिर एक बार ठहर गया और कई इलाके जलमग्न हो गए।

पीक-अवर्स में भारी वर्षा से ठहर गया महानगर

अहमदाबाद देश के महत्वपूर्ण 10 महानगरों में शामिल है। गुजरात की इस आर्थिक राजधानी में भी अन्य महानगरों की तरह सुबह 9 से 11 बजे का समय पीक-अवर्स होता है, जब लोग नौकरी-धंधे के लिए घरों से निकलने की तैयारी कर रहे होते हैं, परंतु मंगलवार की सुबह 9 बजे आसमान में छाए घनघोर मेघों ने चहुँओर अंधकार फैला दिया और जम कर पानी बरसाना शुरू किया, तो भागता-दौड़ता अहमदाबाद कुछ घण्टों के लिए ठहर गया। लोग घरों से निकले अवश्य, परंतु सड़कों पर उन्हें जलजमाव के चलते भारी समस्याओं का सामना करना पड़ा। तेज बारिश के चलते महानगर के अनेक निचले इलाकों में विशेष रूप से सड़कों पर जलसैलाब का दृश्य बन गया और लोगों के लिए जलजमाव के बीच से गुज़रना बड़ी चुनौती बन गया।

सुबह 6 बजे से ही शुरू हो गया बरसात का सिलसिला

अहमदाबाद महानगर पिछले एक दशक में इतना विस्तृत हो गया है कि अक्सर एक क्षेत्र में बारिश होती है, तो दूसरे क्षेत्र में धूप खिली होती है, परंतु मंगलवार सुबह पूरा अहमदाबाद बादलों से घिरा हुआ था। महानगर के हर क्षेत्र में जोरदार बारिश का सिलसिला सुबह छह बजे से आरंभ हो गया और 9 बजे तो वर्षा ने ऐसा ज़ोर पकड़ा कि चारों तरफ अंधकार छा गया। अहमदाबाद ही नहीं, गुजरात के अन्य महानगरों राजकोट, सूरत और वडोदरा में भी भारी वर्षा से निचले इलाके जलमग्न हो गए।

अगले 48 घण्टों में भारी से अति भारी वर्षा का अलर्ट

इस बीच आईएमडी, अहमदाबाद ने सूरत सहित दक्षिण गुजरात, राजकोट सहित सौराष्ट्र, अहमदाबाद-वडोदरा सहित उत्तर-मध्य गुजरात में अगले 48 घण्टों में भारी से अति भारी वर्षा का अलर्ट जारी किया है। इस अलर्ट का अहमदाबाद में मंगलवार सुबह से ही असर दिखाई दिया। भारी वर्षा के चलते मोटेरा, नवरंगपुरा, सेटेलाइट, वाडज, पालडी, साबरमती, वस्त्रापुर, गोता, बापूनगर, वस्त्राल, साइंस सिटी, इसनपुर, घोडासर, मणिनगर, गोमतीपुर, सी. जी. रोड, एस. जी. हाईवे, शिवरंजनी, जीवराज पार्क आदि क्षेत्रों में कई जगह घुटनों तक पानी जमा हो गया।

देखिए TWITTER पर छाई अहमदाबाद की भारी वर्षा के नज़ारे :

You may have missed