ईमानदार कर्जदारों के लिए बैंक ने खोले दरवाजा

Written by
Honest borrowers

नई दिल्ली। बजट से पहले 24 जनवरी को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर वित्तमंत्री अरुण जेटली ने ऐलान किया कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में जान फूकने के लिए 88100 करोड़ रुपए डाले जाएंगे। वित्त सचिव राजीव कुमार ने कहा कि 31 मार्च से पहले सार्वजनिक क्षेत्र के 20 बैंकों में 88100 करोड़ रुपए डाले जाएंगे। इसके अलावा भी बैंकिंग क्षेत्र में कई सुधार की घोषणाएं की गई। बड़े सुधार के तौर पर 250 करोड़ से ज्यादा के लोन पर सरकार की विशेष नजर होगी। सरकार का कहना है कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों पर जनता (Honest borrowers) का भरोसा है। सरकार किसी भी कीमत पर इस भरोसे को टूटने नहीं देगी।

CRISIL ने बैंकों की रेटिंग सुधारी

वित्त सचिव राजीव कुमार ने कहा कि मौजूदा सुधार के बाद ईमानदार कर्जदारों (Honest borrowers) के लिए बैंकों से कर्ज लेना आसान होगा। आगे उन्होंने कहा कि GST रिटर्न की वजह से भी नकदी का प्रवाह बढ़ेगा। जानकारी के लिए बता दें कि सरकार द्वारा पूंजी डालने की घोषणा के साथ ही अंतर्राष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी CRISIL ने पब्लिक सेक्टर के 18 बैंकों की रेटिंग सुधार दी है। CRISIL ने कहा कि Recapitalization की वजह से बैंकों के बैलेंस शीट में भी सुधार होगा।

किस बैंक को कितना मिलेगा ?

पिछले दिनों RBI ने कहा था कि सार्वजनिक क्षेत्र के 11 बैंकों को तुरंत मदद की जरूरत है। इन 11 बैंकों के लिए सरकार ने 52300 करोड़ रुपए जारी किया है। वित्तमंत्री ने साफ कहा कि किन बैंक को कितने पैस मिलेंगे इसका फैसला प्रदर्शन के आधार पर किया जाएगा। जानकारी के मुताबिक SBI को 8800 करोड़ रुपए, PNB को 5473 करोड़ रुपए, बैंक ऑफ बड़ौदा को 5375 करोड़ रुपए, कैनरा बैंक को 4865 करोड़ रुपए और यूनियन बैंक को 4524 करोड़ रुपए मिलेंगे।

इसके अलावा सिंडिकेट बैंक में 2839 करोड़, आंध्रा बैंक में 1890 करोड़ , पंजाब एंड सिंध बैंक में 785 करोड़, बैंक ऑफ इंडिया में 9232 करोड़ , यूको बैंक में 6507 करोड़ , सेंट्रल बैंक में 5158 करोड़ , IDBI बैंक में 10610 , इंडियन ओवरसीज बैंक में 4694 करोड़ , ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में 3571 करोड़ , देना बैंक में 3045 करोड़, बैंक ऑफ महाराष्ट्र में 3173 करोड़, यूनाइटेड बैंक में 2634 करोड़ , कॉरपोरेशन बैंक में 2187 करोड़ , इलाहाबाद बैंक में 1500 करोड़ और विजया बैंक में 1277 करोड़ रुपये की पूंजी डाली जाएगी।

Article Categories:
Indian Business · News · Startups & Business

Leave a Reply

Shares