प्रज्ञा को ‘पढ़ाने’ वाले कांग्रेस नेताओं की बदज़ुबानी भी पढ़िए ज़रा…

* भाजपा ने अपनी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के विरुद्ध कार्रवाई की

* कांग्रेस में तो सोनिया-राहुल-प्रियंका से लेकर बदज़ुबानों की भरमार, कार्रवाई की आशा कैसी ?

रिपोर्ट : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद 29 नवंबर, 2019 (युवाPRESS)। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी-BJP) की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त क्या कह दिया, भाजपा विरोधियों विशेषकर कांग्रेस नेताओं पर वज्राघात हो गया। कांग्रेस नेताओं ने संसद से लेकर सड़क तक प्रज्ञा के विरुद्ध हंगामा खड़ा किया, परंतु क्या कभी कांग्रेस ने अपने गिरहबाँ में झाँक कर देखा है कि उसके नेताओं ने तो विवादास्पद वक्तव्यों का पूरा पहाड़ खड़ा किया हुआ है। भाजपा ने तो विवादास्पद वक्तव्य देने वाली अपनी सांसद प्रज्ञा के विरुद्ध कार्रवाई भी की, परंतु कहीं भी-कभी भी यह समाचार पढ़ने-सुनने में आया कि कांग्रेस ने अपने विवादास्पद वक्तव्य वीरों के विरुद्ध कोई कार्रवाई की हो ?

नाथूराम गोडसे ने तो सत्य और अहिंसा के पुजारी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या की थी, परंतु भाजपा के साधारण कार्यकर्ता से जनता के बीच लोकप्रिय होकर और जनता की ओर से चुने गए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तो गांधीजी की हत्या करने जैसा कोई पाप नहीं किया है। इसके बावज़ूद कांग्रेसियों सहित सभी मोदी विरोधियों ने मोदी के विरुद्ध अपशब्दों की पराकाष्ठा कर दी और मर्यादा का यह उल्लंघन वर्ष 2002 से लेकर आज 2019 में झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 के प्रचार अभियान के दौरान भी जारी है। कांग्रेस संवैधानिक मूल्यों की रक्षा की बात करती है, परंतु एक चुने हुए प्रधानमंत्री के विरुद्ध प्रचार के दौरान उसके नेता अपशब्दों की मर्यादा लांघ जाते हैं, तब वह उन नेताओं के विरुद्ध कार्रवाई क्यों नहीं करती ?

आज हम आपको कांग्रेस नेताओं के ऐसे वक्तव्यों की ओर ले चलेंगे, जो विवादास्पद से कई कदम आगे और कई स्तरीय निम्न कोटि यानी अभद्रता की श्रेणी में आते हैं। कांग्रेस नेताओं ने गुजरात में वर्ष गोधरा कांड 2002 की प्रतिक्रिया के रूप में भड़के साम्प्रदायिक दंगों के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी पर गालियों की जो बौछार आरंभ की, वह राजनीतिक नहीं, अपितु सामाजिक मर्यादाओं की भी पराकाष्ठा को पार करने वाली थीं। 2002 से आरंभ हुए इस सिलसिले में शामिल नेताओं पर कांग्रेस पार्टी क्या कार्रवाई कर सकती है, जबकि उसके शीर्ष नेता सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी तक गाली देने वालों में शामिल हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते समय कांग्रेस नेता अपने पद, अपनी मर्यादा, अपने विवेक, देश के सबसे लोकप्रिय नेता की गरिमा सब कुछ भूल जाते हैं और यही कारण है कि कांग्रेस नेता 2002 से 27 नवंबर, 2019 तक नरेन्द्र मोदी के विरुद्ध कुल 63 अपशब्दों-गालियों का प्रयोग कर चुके हैं। कांग्रेसियों ने ऐसी-ऐसी गालियाँ बकी हैं, जो एक साधारण-अनपढ़ भारतीय नागरिक भी नहीं बोल सकता। आइए आप भी देखिए कांग्रेस नेताओं की बदज़ुबानी और स्वयं तय कीजिए कि कांग्रेस को प्रज्ञा सिंह ठाकुर के विवादास्पद वक्तव्य को लेकर हंगामा करने का कितना अधिकार है ?

सहाय ने मोदी को मदारी व मोतियाबिंद के मरीज़ कहा

27 नवंबर, 2019 : कांग्रेस की गंदकी वाली राजनीति से सबसे लेटेस्ट गाली नंबर 63 निकाली है सुबोधकांत सहाय ने। झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 के लिए प्रचार करने धनबाद पहुँचे कांग्रेस नेता सुबोधकांत सहाय देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मदारी और झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास को जमूरा कह कर संबोधित किया।

राहुल ने मोदी भोंपू और ज़ेबकतरा कहा

15 अक्टूबर, 2019 : पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 के लिए यवतमाल में आयोजित रैली में कहा, ‘मोदी अदाणी और अंबाणी के भोंपू हैं। एक ज़ेबकतरे की तरह, जो चोरी से पहले लोगों का ध्यान बँटाता है।’ यह मोदी को कांग्रेस नेता की गाली नंबर 62 थी।

अधीर ने मोदी को घोड़ा कहा

24 जुलाई, 2019 : कांग्रेस नेताओं ने मोदी को कोसने के मामले में लोकतंत्र के सर्वोच्च मंदिर संसद की गरिमा का भी भंग करने से परहेज़ नहीं किया। लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने गाली नं. 61 देते हुए मोदी को घोड़ा करार दिया। अधीर रंजन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के झूठे वक्तव्य पर मोदी से उत्तर की मांग करते हुए इतने अधीर हो गए कि वे संसदीय मर्यादा ही नहीं, अपितु यह भी भूल गए कि जिस मोदी को वे घोड़ा कह रहे हैं, वह मोदी उनका भी प्रधानमंत्री है।

अधीर ने मोदी की तुलना गंदी नाली से की

24 जून, 2019 : इससे पहले भी अधीर रंजन ने लोकसभा में ही संसदीय गरिमा पर वज्राघात करते हुए गाली नंबर 60 दी थी। लोकसभा में धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान अधीर ने इंदिर गांधी को माँ गंगा बताते हुए मोदी को गंदी नाली करार दिया।

सिद्धू ने मोदी को काला अंग्रेज कहा

10 मई, 2019 : कभी मोदी के गुणगान करते नहीं थकने वाले और आज कांग्रेसी होकर पंजाब में मंत्री पद भोग रहे नवजोत सिंह सिद्धू ने इंदौर में आयोजित जनसभा में गाली नंबर. 59 देते हुए कहा था, ‘कांग्रेस वह पार्टी है जिसने देश को आजादी दिलाई। यह मौलाना आजाद और महात्मा गांधी की पार्टी है। उन्होंने गोरों से आजादी दी थी और तुम इंदौर वालों अब काले अंग्रेजों से इस देश को निजात दिलाओगे।’

हार्दिक ने मोदी को यमराज बताया

10 मई, 2019 : गुजरात में पाटीदार नेता के रूप में सशक्त, परंतु कांग्रेस नेता के रूप में फिसड्डी सिद्ध हुए हार्दिक पटेल ने मध्य प्रदेश के झाबुआ में आयोजित जनसभा में गाली नंबर 58 देते हुए कहा कि दिल्ली में यमराज बैठा है। जनसभा के बाद मीडिया ने जब पूछा कि यमराज कौन है, तो हार्दिक ने कहा कि वो यमराज किसानों को मारने वाला नरेन्द्र मोदी है।

प्रियंका ने मोदी को कायर कहा

9 मई, 2019 : साध्वी प्रज्ञा को भर-भर कोसने वालीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में गाली नंबर. 57 देते हुए कहा, ‘इनसे बड़ा कायर और कमज़ोर प्रधानमंत्री मैंने ज़िंदगी में नहीं देखा।’

अशोक तँवर ने मोदी को रावण कहा

9 मई, 2019 : हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तँवर ने सिरसा में आयोजित राहुल की रैली में गाली नंबर 56 देते हुए मोदी की तुलना रावण से की।

निरुपम ने औरंगज़ेब का आधुनिक अवतार बताया

7 मई, 2019 : कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने मोदी को गाली नंबर 55 देते हुए कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी औरंगज़ेब के आधुनिक अवतार हैं, जिन्होंने बनारस में कॉरिडोर के नाम पर सैकड़ों मंदिरों को तुड़वाया गया। विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के नाम पर 550 रुपए की जो फीस लगाई गई है, वह इस बात का सबूत है कि जो काम औरंगज़ेब नहीं कर पाया, वह नरेन्द्र मोदी कर रहे हैं। मोदी को दुर्योधन कहना उचित है, बल्कि मैं तो उनको औरंगज़ेब कह रहा हूँ।’

प्रियंका ने मोदी की तुलना दुर्योधन से की

7 मई, 2019 : प्रियंका ने हरियाणा के अंबाला में आयोजित जनसभा में मोदी को गाली नंबर 54 देते हुए मोदी की तुलना दुर्योधन से की। गाली देने के लिए प्रियंका ने महान राष्ट्रकवि रामधारी सिंह ‘दिनकर’ की कविता का सहारा लिया।

सिद्धू ने मोदी को दर्शनीय घोड़ा कहा

6 मई, 2019 : नवजोत सिंह सिद्धू ने गाली नंबर 53 देते हुए मोदी को दर्शनीय घोड़ा कहा।

बैरवा ने मोदी को हिन्दू आतंकवादी कहा

5 मई, 2019 : कभी शिवसेना को हिन्दू आतंकवादी संगठन करने वाली कांग्रेस, जो अब शिवसेना के साथ महाराष्ट्र में सरकार बना चुकी है, के नेता दीन दयाल बैरवा ने एक वायरल वीडियो में मोदी को गाली नंबर 52 देते हुए लोगों से अपील की थी, ‘संविधान खतरे में है और एससी-एसटी को एकजुट होकर कांग्रेस के पक्ष में मतदान करना है और हिन्दू आतंकवादी मोदी जैसे शख्स को प्रधानमंत्री पद से हटाना है।’

मोढवाडिया ने मोदी को गधा कहा

9 अप्रैल, 2019 : गुजरात कांग्रेस के नेता अर्जुन मोढवाडिया ने बनासकांठा के डीसा में आयोजित रैली में 56 इंच के सीने पर कटाक्ष किया और मोदी को गाली नंबर 51 देते हुए कहा, ‘एक सेहतमंद व्यक्ति का सीना 36 इंच का होता है, बॉडी बिल्डर का सीना 42 इंच का हो सकता है, केवल गधों का सीना 56 इंच का होता है। बैलों का सीना 100 इंच का होता है।’

राव ने मोदी को नामर्द कहा

18 मार्च, 2019 : कर्नाटक कांग्रेस नेता व विधायक बी. नारायण राव ने गाली नंबर 50 देते हुए कहा, ‘जो लोग नामर्द हैं, वे शादी कर सकते हैं, लेकिन बच्चे नहीं कर सकते। प्रधानमंत्री मोदी शादी कर सकते हैं, लेकिन बच्च नहीं हो सकते। यह कोई पीएम नहीं है, जो काम करता है, लेकिन एक ऐसा पीएम है, जो झूठ बोलता है।’

खेडा ने मोदी पर की गालियों की बरसात

16 मार्च, 2019 : कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेडा ने टीवी बहस के दौरान गाली नंबर 49 देते हुए कहा, ‘MODI का मतलब है मसूद अज़हर, ओसामा, दाऊद और आईएसआई।’

विजयाशांति ने कहा, ‘मोदी आतंकी जैसे’

9 मार्च, 2019 : राहुल की उपस्थिति में तेलंगाना कांग्रेस अध्यक्ष विजयाशांति ने शम्सबाद जनसभा में कहा, ‘लोग प्रधानमंत्री मोदी से डरते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि पता नहीं कब वे बम फेंक दें। वे (पीएम मोदी) आतंकी जैसे दिखते हैं। लोगों को प्यार करने के बजाय उन्हें वे डराते हैं। किसी प्रधानमंत्री को ऐसा नहीं होना चाहिए।’

अल्वी ने माँ के नाम पर मोदी को कोसा

25 जनवरी, 2019 : कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने गाली नंबर 47 देते हुए कहा, ‘मोदी खुद बड़े-बड़े महलों में रहते हैं, लाखों के सूट पहनते हैं, लेकिन अपनी बुजुर्ग मां को छोटे से कमरे में रखते हैं।’

शिंदे ने हिटलर-तानाशाह कहा

10 जनवरी, 2019 : पूर्व गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने गाली नं. 46 देते हुए कहा, ‘मोदी एक तानाशाह की तरह बर्ताव कर रहे हैं।’

धीरज ने चोर-नटवरलाल कहा

25 दिसंबर, 2018 : बिहार कांग्रेस नेता श्यामसुंदर सिंह धीरज ने गाली नंबर 45 देते हुए कहा, ‘देश की सत्ता पर बैठे चौकीदार चोर हैं। चौकीदार नटवर लाल है और उस नटवर लाल के साथ देने वाले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी चोर हैं।’

सुरजेवाला ने तुग़लक कहा

7 दिसंबर, 2018 : कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में गाली नंबर 44 देते हुए कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बिल्कुल मोहम्मद बिन तुग़लक की तरह व्यवहार कर रहे हैं।’

मालवीय ने मोदी की माँ को कोसा

3 दिसम्बर, 2018 : राजस्थान कांग्रेस नेता महेन्द्रजीत सिंह मालवीय ने सभी हदें पार करते हुए गाली नंबर 43 दी। भाषण के दौरान मालवीय ने भाजपा के नारे ‘हर-हर मोदी, घर-घर मोदी’ को दो बार बोलने के बाद प्रधानमंत्री मोदी को गाली दी और उनकी मां के बारे में अपशब्दों का इस्तेमाल किया।

अंसारी ने साला मोदी कहा

26 नवंबर, 2018 : झारखंड कांग्रेस नेता इरफान अंसारी ने गाली नंबर 42 देते हुए मोदी को साला मोदी कहा।

मुत्तेमवार ने मोदी के पिता पर उठाए सवाल

25 नवंबर, 2018 : राजस्थान कांग्रेस नेता विलासराव मुत्तेमवार ने मोदी को उनके पिता के नाम पर गाली नंबर. 41 देते हुए कहा, ‘राहुल गांधी की चार पीढ़ियों को पूरा देश जानता है, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी का बाप कौन हैं इसके बारे में कोई नहीं जानता।’

बब्बर ने भी मोदी की माँ को कोसा

22 नवंबर, 2018 : कांग्रेस नेता राज बब्बर ने इंदौर की चुनावी सभा में गाली नंबर 38 देते हुए कहा, ‘आज डॉलर के सामने रुपया इतना गिर गया है कि पीएम मोदी की मां की उम्र के करीब पहुंचने लगा है।’

निरुपम ने कहा-मोदी से बुरा कोई नहीं

9 नवंबर, 2018 : संजय निरुपम ने गाली नं. 38 देते हुए कहा, ‘हर बुरे काम के लिए ये लोग कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हैं। नरेन्द्र मोदी से बुरा तो कुछ है ही नहीं।’

खडगे ने हिटलर कहा

4 नवंबर, 2018 : कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खडगे ने बांद्रा में आयोजित कार्यक्रम में गाली नंबर 27 देते हुए कहा, ‘मोदी भारत के साथ वही करना चाहते हैं जो एडोल्फ हिटलर ने जर्मनी के साथ किया था। संविधान ख़तरे में है।’

मेवाणी ने नमक हराम कहा

25 अक्टूबर, 2018 : गुजरात से निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी ने पाटण रैली में गाली नंबर 36 देते हुए अपने 9 मिनट के भाषण मोदी को 6 बार नमक हराम कह कर संबोधित किया।

राहुल ने ‘चौकीदार चोर है’ कहा

20 सितंबर, 2018 : राहुल गांधी ने डूंगरपुर रैली में गाली नंबर 35 देते हुए कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी जी ने कहा था मैं देश का प्रधानमंत्री नहीं बनना चाहता हूं, मैं देश का चौकीदार बनना चाहता हूँ… लेकिन आज देश के दिल में, राजस्थान की जनता के दिल में एक नयी आवाज़ उठ रही है… गली-गली में शोर है, हिंदुस्तान का चौकीदार चोर है।’

निरुपम ने अनपढ़-गँवार कहा

12 सितंबर, 2018 : निरुपम ने गाली नंबर 34 देते हुए कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी पर बनी फिल्म को बच्चों को दिखाने की कोशिश की जा रही है जो कि गलत है। बच्चों को राजनीति से दूर रखना चाहिए। मोदी जैसे अनपढ़ गंवार के बारे में जानकर उन्हें क्या मिलने वाला है।’

सुरजेवाला ने औरंगज़ेब से तुलना की

26 जून, 2018 : कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने गाली नंबर 33 देते हुए कहा, ‘दिल्ली सल्तनत के औरंगज़ेब से भी क्रूर तानाशाह नरेंद्र मोदी ने पूरे प्रजातंत्र को बंधक बना लिया है। औरंगज़ेब ने तो सिर्फ पिता को बंधक बनाया था, लेकिन आज के औरंगज़ेब ने पार्टी सहित पूरे प्रजातंत्र को बंधक बना लिया है।’

अल्पेश ने की भद्दी टिप्पणी

18 फरवरी, 2018 : तत्कालीन कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर ने गाली नंबर 32 देते हुए ट्वीट किया, ‘पुरानी कहावत है “अगर घर में चोरी हो और चौकीदारी कर रहा कुत्ता ना भौंके तो इसका मतलब है उसके आगे हड्डी डाल दी गयी है, बाकी आप सब ख़ुद समझदार हैं।’

दिव्य स्पंदन ने की अभद्र टिप्पणी

4 फरवरी, 2018 : कांग्रेस सोशल मीडिया प्रमुख दिव्य स्पंदन रम्या ने मोदी को गाली नंबर 31 देते हुए कहा, ‘क्या जब आप POT (नशे) में होते हैं तो ऐसा होता है ?’ दिव्य ने मोदी के TOP वाले बयान पर यह टिप्पणी की थी। वास्तव में मोदी ने बेंगलुरू में कहा था, ‘सब्जियां उगाने वाले किसान हमारी टॉप ‘TOP’ प्रॉयोरिटी में हैं। इसका मतलब- टोमैटो, ओनियन और पोटैटो है।’

मेवाणी ने मर्यादा लांघी

19 दिसम्बर, 2017 : मेवाणी ने टीवी बहस में गाली नंबर 30 देते हुए कहा, ‘मानसिक तौर पर बूढ़े हो चले हैं, उन्हें रिटायर हो जाना चाहिए, उन्हें हिमालय में जाकर हड्डियां गलानी चाहिए। बहुत बोरिंग आदमी हो गया है।’

निरुपम ने निकम्मा कहा

13 दिसंबर, 2017 : संजय निरुपम ने टीवी बहस के दौरान गाली नंबर 29 देते हुए मोदी को निकम्मा करार दिया।

निज़ामी ने खानदान पर टिप्पणी की

9 दिसंबर, 2017 : जम्मू-कश्मीर कांग्रेस नेता सलमान निज़ामी ने गाली नंबर 28 देते हुए ट्वीट किया, ‘राहुल गांधी राजीव गांधी का बेटा है, जिसने देश के लिए बलिदान दिया। राहुल गांधी इंदिरा गांधी का पोता है, जिसने देश के लिए बलिदान दिया। राहुल गांधी जवाहर लाल नेहरू का प्रपौत्र है, जिसने देश की आज़ादी के लिए लड़ाई लड़ी। Narendra Modi Son of …..? Narendra Modi Grand Son of ……?’

अय्यर ने मोदी को नीच आदमी कहा

7 दिसम्बर, 2017 : मणिशंकर अय्यर ने गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 के दौरान गाली नंबर 27 देते हुए कहा, ‘मुझको लगता है कि ये आदमी बहुत नीच किस्म का है, इसमें कोई सभ्यता नहीं है, और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति की क्या आवश्यकता है ?’

शर्मा ने मनोरोगी बताया

27 नवंबर, 2017 : आनंद शर्मा ने मीडिया से बातचीत के दौरान गाली नंबर 26 देते हुए कहा, ‘प्रधानमंत्री एक अस्वस्थ मानसिकता से गुजर रहे हैं, जो कि एक राष्ट्रीय मसला है। वे (मोदी) समझते हैं कि उनके आने से पहले गुजरात या देश में कुछ भी नहीं हुआ।’

यूथ कांग्रेस भी पीछे नहीं

21 नवंबर, 2017 : युवा कांग्रेस की ऑनलाइन मैगज़ीन ने गाली नंबर 25 देते हुए मोदी के चाय बेचने पर कटाक्ष किया।

तिवारी ने ‘_तिया’ कहा

17 सितंबर, 2017 : मनीष तिवारी ने मोदी को उनके जन्म दिन पर गाली नंबर 24 देते हुए ट्वीट किया, ‘इसे कहते हैं चू* को भक्त बनाना और भक्तों को पर्मानेंट चू* बनाना- जय हो। यहां तक कि महात्मा भी मोदी को देशभक्ति नहीं सिखा सकते।’

दिग्गी ने भी कसर निकाली

दिग्विजय सिंह ने भी इसी तरह का एक ट्वीट कर मोदी की तसवीर के साथ तीन पंक्तियाँ लिखीं, ‘मेरी 2 उपलब्धियाँ: 1- भक्तों को तिया बनाया, 2- तिया को भक्त बनाया।’

तिवारी ने तोड़ीं मर्यादाएँ

16 नवंबर, 2016 : प्रमोद तिवारी ने नोटबंदी का विरोध करते हुए मोदी को गाली नंबर 22 दी, जिसमें उन्होंने कहा, ‘दुनिया के किसी भी विकसित देश ने आज तक ऐसा फैसला नहीं लिया, जिन लोगों ने ऐसा किया उनमें गद्दाफी, मुसोलिनी और हिटलर हैं, चौथा नाम है नरेंद्र मोदी।’

राहुल ने ख़ून का दलाल कहा

6 अक्टूबर, 2016 : राहुल ने दिल्ली में किसान यात्रा के दौरान सर्जिकल स्ट्राइक पर घेरते हुए मोदी को गाली नंबर 21 दी, ‘मोदी जवानों के ख़ून की दलाली करते हैं।’

अल्वी ने स्टुपिड कहा

16 मई, 2016 : राशिद अल्वी ने टीवी बहस में गाली नंबर 20 देते हुए कहा, ‘गूगल में “most stupid Prime Minister” सर्च करने पर उनका (मोदी का) नाम आता है।’

मसूद ने दी टुकड़े-टुकड़े करने की धमकी

28 मार्च, 2014 : यूपी कांग्रेस नेता इमरान मसूद ने चुनावी रैली में मोदी को टुकड़े-टुकड़े करने की बात कहते हुए गाली नंबर 19 दी।

सोनिया ने ‘ज़हर की खेती’ कहा

1 फरवरी, 2014 : सोनिया गांधी ने कर्नाटक के गुलबर्ग में गाली नं. 18 देते हुए कहा, ‘मेरा पूरा भरोसा है कि आप ऐसे लोगों को मंजूर नहीं करेंगे जो जहर का बीज बोते हैं।’

मोदी मौत के सौदागर – सोनिया

गुजरात विधानसभा चुनाव 2007 के दौरान सोनिया ने एक चुनावी रैली में गाली नं. 17 देते हुए मोदी को मौत का सौदागर करार दिया।

अय्यर ने कीड़े-मकौड़ों से की तुलना

3 मार्च, 2013 : मणिशंकर अय्यर ने गाली नंबर 16 देते हुए कहा, ‘नरेन्द्र मोदी साँप, बिच्छू और गंदे आदमी हैं।’

दिग्गी ने रावण कहा

13 जून, 2012 : दिग्विजय सिंह ने गाली नं. 15 देते हुए मोदी की 3डी होलोग्राफिक रैली में एक साथ उपस्थित होने को रावण बताते हुए मोदी को राक्षसराज रावण बताया।

सोमा पटेल ने घाँची कहा

नवंबर-212 : कांग्रेस नेता सोमा गांडा पटेल ने गाली नंबर 13 देते हुए मोदी को घाँची कहा।

मोढवाडिया ने रैबिज़ पीड़ित कहा

अक्टूबर-2012 : अर्जुन मोढवाडिया ने चुनावी रैली में गाली नंबर 12 देते हुए कहा कि मोदी रैबिज़ से पीड़ित हैं।

दलवई ने चूहा कहा

गुजरात विधानसभा चुनाव 2012 के दौरान पालनपुर रैली में कांग्रेस नेता हुसैन दलवई ने गाली नंबर 11 देते हुए कहा, ‘सरदार पटेल के सामने मोदी केवल चूहे मात्र हैं।’

तिवारी ने दाउद बताया

मार्च-2012 : मनीष तिवारी ने मोदी की तुलना दाउद इब्राहिम से की।

मोढवाडिया ने असफल पति कहा

नवंबर-2012 : मोढवाडिया ने चुनावी रैली में आपा खोया और गाली नंबर 9 देते हुए उनके निजी जीवन पर हमला किया। मोढवाडिया ने मोदी को विफल पति करार दिया।

उस्मानी ने बदतमीज़ कहा

लोकसभा चुनाव 2009 के दौरान कांग्रेस नेता रिज़वान उस्मानी ने एक चुनावी रैली में गाली नंबर 8 दी। उस्मानी ने मोदी को बदतमीज, नालायक कहा और सवाल उठाया कि इसका बाप कौन हैं ? इसकी मां कौन है ?

शांताराम ने हिटलर से तुलना की

7 जून, 2013 : गोवा कांग्रेस नेता शांताराम नाइक ने गाली नंबर 7 देते हुए मोदी की तुलना हिटलर और तानाशाह पोल पोट से की।

चौधरी पर चढ़ा वायरस

7 जून, 2013 : रेणुका चौधरी ने गाली नंबर 6 देते हुए कहा, ‘मोदी न्यूमोनिया की तरह का वायरस है। इस वायरस का नाम नमोनिटिस है।’

खुर्शीद ने बंदर कहा

8 जून, 2013 : केन्द्रीय मंत्री होते हुए भी सलमान खुर्शीद ने मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी पर टिप्पणी करते हुए गाली नंबर 5 दी। खुर्शीद ने कहा, ‘मोदी इस तरह भीड़ को खिंचते हैं, जैसे लोग बंदर के करतब देखने जाते हैं।’

जयराम रमेश ने भस्मासुर कहा

13 जून, 2013 : केन्द्रीय मंत्री जयराम रमेश ने गाली नंबर 4 देते हुए मोदी को भस्मासुर कहा।

वर्मा ने पागल कुत्ता कहा

14 जुलाई, 2013 : केन्द्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा ने गाली नंबर 3 मोदी को पागल कुत्ता कहा।

आज़ाद ने गंगू तेली कहा

17 अगस्त, 2013 : केन्द्रीय मंत्री ग़ुलाम नबी आज़ाद ने गाली नं. 2 देते हुए मोदी को गंगू

हरिप्रसाद ने गंदी नाली का कीड़ा बताया

लोकसभा चुनाव 2009 के दौरान कांग्रेस नेता बी. के. हरिप्रसाद ने मोदी को गंदी नाली का कीड़ा कहा।

You may have missed