Local to Global Theme के साथ शुरू होगा “Hunar Haat”

Written by

Coronavirus की चुनौतियों के चलते लगभग 5 महीनों के बाद Artisans and Craftsmen का “Empowerment Exchange”, “Hunar Haat” सितम्बर 2020 से ” Local to Global” थीम एवं पहले से ज्यादा दस्तकारों की भागीदारी के साथ पुनः शुरू होने जा रहा है। Mukhtar Abbas Naqvi ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी के कारण हुनर हाट पिछले पांच माह से बंद हैं और इन्हें 25 सितंबर से फिर से खोला जायेगा।

Union Minister for Minority Affairs Mukhtar Abbas Naqvi ने आज बताया कि पिछले पांच वर्षों में 5 लाख से ज्यादा भारतीय दस्तकारों और शिल्पकारों को रोजगार अवसर प्रदान करने वाले ” Hunar Haat” के हाथ से बनाये स्वदेशी सामान लोगों में काफी लोकप्रिय हुए हैं। देश के दूर-दराज के क्षेत्रों के दस्तकारों, शिल्पकारों, कारीगरों, हुनर के उस्तादों को मौका-मार्किट देने वाला “Hunar Haat” स्वदेशी हस्तनिर्मित उत्पादनों का “प्रामाणिक ब्रांड” बन गया है।

Mukhtar Abbas Naqvi ने बताया कि “Hunar Haat” में सोशल डिस्टेंसिंग, साफ-सफाई, सैनिटाईज़ेशन, मास्क आदि की विशेष व्यवस्था की जाएगी, साथ ही “जान भी जहान भी” पवेलियन होगा जहाँ लोगो को “पैनिक नहीं प्रीकॉशन” की थीम पर जागरूकता पैदा करने वाली जानकारी भी दी जायेगी।

The Minority Affairs Ministry द्वारा अभी तक देश के विभिन्न भागों में दो दर्जन से अधिक “Hunar Haat” का आयोजन किया जा चुका है, जिसमें लाखों दस्तकारों, शिल्पकारों, कारीगरों को रोजगार-रोजगार के अवसर मिले हैं। आने वाले दिनों में Chandigarh, Delhi, Prayagraj, Bhopal, Jaipur, Hyderabad, Mumbai, Gurugram, Bengaluru, Chennai, Kolkata, Dehradun, Patna, Nagpur, Raipur, Puducherry, Amritsar, Jammu, Shimla, Goa, Kochi, Guwahati, Bhubneshwar, Ajmer, Ahmedabad, Indore, Ranchi, Lucknow आदि स्थानों पर “Hunar Haat” का आयोजन किया जायेगा।

Mukhtar Abbas Naqvi ने बताया कि इस बार के “Hunar Haat” का डिजिटल और ऑनलाइन प्रदर्शन भी होगा। साथ ही लोगों को “Hunar Haat” में प्रदर्शित सामान को Online खरीदने की भी सुविधा दी जा रही है। “Hunar Haat” के दस्तकारों और उनके स्वदेशी हस्तनिर्मित उत्पादों को “GeM” (Government e Marketplace) में रजिस्टर करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसके अलावा विभिन्न Export Promotion Councils दस्तकारों, शिल्पकारों के स्वदेशी उत्पादों को International Market मुहैया कराने हेतु रूचि दिखा रही हैं, जिससे इन दस्तकारों, शिल्पकारों के स्वदेशी उत्पादों को बड़े पैमाने पर International Market मिल सकेगा।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares