गलवान में करीब 2 किलोमीटर पीछे हटा चीन

Written by

भारत और चीन के बीच LAC  को लेकर तनातनी के बीच सोमवार को चीन की सेना गलवान घाटी के कुछ हिस्सों से तंबू हटाते और पीछे हटती दिखी। इस क्षेत्र में सैनिकों के पीछे हटने का यह पहला संकेत है। दोनों पक्षों के Commando के बीच हुए समझौते के तहत चीनी सैनिकों ने पीछे हटना शुरू किया है।

गलवान में करीब 2Km पीछे हटा चीन-

उन्होंने कहा कि चीनी सेना गश्त बिंदु 14 पर लगाए गए तंबू एवं अन्य ढांचे हटाते हुए देखी गई है। गोगरा हॉट स्प्रिंग इलाके में भी चीनी सैनिकों के वाहनों की इसी तरह की गतिविधि देखी गई है।

इसी बीच, चीन के ‘Global Times’ ने विदेश मंत्री Spox Zhao Lijian के हवाले से कहा कि हमने और भारत ने 30 जून को दोनों देशों की सेनाओं के बीच हुई तीसरी कमांडर स्तर की बातचीत के बाद प्रभावी कदम उठाते हुए सरहद से पीछे हटना शुरू कर दिया है।  वहीं, National Security Advisor (NSA) Ajit Doval  ने चीनी के विदेश मंत्री और स्टेट काउंसलर से रविवार को Video Conferencing पर बातचीत की। सूत्रों के हवाले से समाचार एजेंसी ने बताया कि यह बातचीत सौहार्दपूर्ण तरीके से और आगे बढ़ने की दिशा को ध्यान में रखते हुए हुई। बता दें कि भारतीय और चीनी सेना के बीच पिछले सात हफ्तों से पूर्वी लद्दाख के कई इलाकों में गतिरोध जारी है। गलवान में 15 जून को हुई हिंसक झड़प के बाद तनाव कई गुणा बढ़ गया था जिसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे। चीन के सैनिक भी इस झड़प में हताहत हुए थे लेकिन उसने अब तक इसके ब्योरे उपलब्ध नहीं कराए हैं।

भारत क्षेत्र में शांति बनाए रखने के लिए पूर्वी लद्दाख के सभी इलाकों में पूर्व यथास्थिति बहाल करने पर जोर देता आया है। क्षेत्र में तनाव को कम करने के लिए भारत और चीन के बीच कई चरणों की कूटनीतिक एवं सैन्य वार्ताएं हुई हैं। हालांकि, दोनों पक्षों के क्षेत्र से बलों को पीछे हटाने की प्रक्रिया शुरू करने पर सहमत होने के बावजूद गतिरोध समाप्त होने के कोई संकेत नजर नहीं आ रहे थे।

Article Tags:
Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares