भारत की 2018 बाघ गणना Guinness Book of World Records में शामिल

Written by

कैमरे से दुनिया का सबसे बड़ा वन्‍य जीव सर्वेक्षण होने के कारण अखिल भारतीय बाघ अनुमान 2018 के चौथे चक्र को Guinness Book of World Records में शामिल हो गया है। पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने इस उपलब्धि को महत्‍वपूर्ण बताया है। उन्‍होंने टवीट् कर कहा कि यह आत्‍मनिर्भर भारत का शानदार उदाहरण है जिसे संकल्‍प से सिद्धि के जरिए प्राप्‍त किया गया है। उन्होंने कहा कि भारत ने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में बाघों की संख्‍या दोगुना करने का लक्ष्‍य, निर्धारित समय से चार वर्ष पहले ही हासिल कर लिया है। ताजा गणना के अनुसार देश में इस समय 2967 बाघ होने का अनुमान है। इस तरह दुनिया में बाघों की कुल आबादी का 75 प्रतिशत भारत में है।

Guinness Book of World Records की वेबसाइट में कहा गया है कि 2018-19 में किए गए सर्वेक्षण में 141 भागों में 26838 जगहों पर कैमरे लगाए गए थे और 121337 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र का सर्वेक्षण किया गया।

Guinness Book of World Records की वेबसाइट पर कहा गया है कि ‘‘2018-19 में आयोजित सर्वेक्षण का चौथा चक्र संसाधन और संकलित आंकड़े, दोनों के संदर्भ में अब तक का सबसे व्यापक सर्वेक्षण था।”

गिनीज की वेबसाइट के मुताबिक, ‘‘कुल मिलाकर, कैमरा ने वन्य जीवों की 3,48,58,623 तस्वीरें लीं, जिनमें 76,651 बाघों की तस्वीरें थीं और 51,777 तेंदुओं की तस्वीरें थीं। बाकी अन्य जीवों की तस्वीरें थीं। इन तस्वीरों से Strip-Pattern पहचान सॉफ्टवेयर का उपयोग करके 2,461 (शावकों को छोड़कर) अलग-अलग बाघों की पहचान की गई।”

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares